होम -> सोशल मीडिया

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 16 नवम्बर, 2016 05:50 PM
संतोष चौबे
संतोष चौबे
  @SantoshChaubeyy
  • Total Shares

क्या आपने सुना? आपको हंसी आयी? अमेरिका के अगले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पाकिस्तान में पैदा हुए थे. वो डोनाल्ड ट्रम्प जिन्होंने इंडिया की ओर झुकाव दिखाया है और पाकिस्तान की काफी आलोचना की है और जिनके जीतने से पाकिस्तान सशंकित है. पाकिस्तान के न्यूज़ चैनल नीओ ने ट्रम्प के चुनाव जीतने के पहले, ये क्लिप प्रसारित की थी जो अब ट्रम्प के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव जीत जाने के बाद से फिर से वायरल हो रही है.

trump-pakistan650_111616050729.jpg
डोनाल्ड ट्रंप पाकिस्तान में पैदा हुए

क्लिप के अनुसार निओ न्यूज़ एंकर कहती है कि डोनाल्ड ट्रम्प तो पाकिस्तानी निकले और सोशल मीडिया पर रिपब्लिकन उम्मीदवार के बारे में एक और इज़ाफ़ा हो गया. फिर वॉइस-ओवर हमें ज्ञान देता है कि रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका में नहीं पाकिस्तान में पैदा हुए थे. 14 जून 1946 को वज़ीरिस्तान में पैदा होने वाले ट्रम्प का असल नाम दाउद इब्राहिम खान है, ट्रम्प ने शुरुआती तालीम मदरसे में ली थी.

ये भी पढ़ें- डोनाल्ड ट्रम्प के चयन से बेचैन पाकिस्तान

वीडियो के अनुसार ट्रम्प के वालिदों की 1954 में सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गयी जिसके बाद ब्रिटिश इंडियन आर्मी के एक कप्तान उन्हें लन्दन ले गए और ट्रम्प फैमिली ने 1955 में उन्हें गोद ले लिया. और इस तरह नार्थ वज़ीरिस्तान का दाउद इब्राहिम न्यूयॉर्क के इलाके क्वीन्स का डोनाल्ड ट्रम्प बन गया. वॉइस-ओवर आगे कहता है कि ये सब हम (नीओ न्यूज़ वाले) नहीं कह रहे हैं बल्कि ये तो वो बातें हैं जो सोशल मीडिया पर चर्चित जो रही हैं. नीओ न्यूज़ की खबर के अनुसार ढूंढने वाले तो ट्रम्प की बचपन की तस्वीरें, उनके डीएनए टेस्ट और बर्थ सर्टिफिकेट भी ढूंढ लाये.

देखिए वीडियो- 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे किसी क्लिप पर स्टोरीज बनना सामान्य बात है लेकिन यहां असामान्य ये है कि एक न्यूज़ ब्रॉडकास्टर ने बिना सोचे-समझे ऐसे मूर्खतापूर्ण कंटेंट को उठाया. ये किसी पैरोडी या लाफ्टर शो का हिस्सा हो तो एक बारगी समझ में आ भी सकता था. लेकिन पाकिस्तान की मीडिया का क्या कहें जिसका ज्यादातर हिस्सा इंडिया-विरोधी प्रोपेगंडा पर ही चलता है.

अभी हाल ही में जब इंडिया ने सर्जिकल स्ट्राइक किया था तो पूरी पाकिस्तानी मीडिया वहां की सरकार और मिलिट्री का भोंपू बन गयी थी दुनिया को ये बताने में कि कैसे इंडिया का सर्जिकल स्ट्राइक का दावा झूठा है और कैसे पाकिस्तान कि मिसाइलें इंडिया को तबाह करनी ही वाली हैं. ऐसी-ऐसी खबरें पाकिस्तानी प्राइम-टाइम पर चलीं थीं कि उनपर हंसा ही जा सकता है- जैसे कि ये खबर कि युद्ध जैसे हालात में पाकिस्तानी सेना से डरकर 40,000 भारतीय सैनिकों ने बीमारी की छुट्टी के लिए आवेदन किया था.  

ये भी पढ़ें- ट्रंप के जीतने बाद भी क्या आत्ममंथन नहीं करेगा मुस्लिम समुदाय ?

वैसे आपको ये बता दें कि अमेरिकी कानून के मुताबिक कोई भी व्यक्ति जो अमेरिका में पैदा नहीं हुआ है वो वहां का राष्ट्रपति नहीं बन सकता. डोनाल्ड ट्रम्प ने बराक ओबामा के चुनाव के समय इस तरह  की कांस्पीरेसी थेओरीएस को हवा दिया था कि चूंकि ओबामा अमेरिका में नहीं पैदा हुए थे इसलिए वो वहां के राष्ट्रपति बनने के अयोग्य थे जिनके बाद ओबामा को अपना बर्थ-सर्टफिकेट दिखाना पड़ा था.  

लेखक

संतोष चौबे संतोष चौबे @santoshchaubeyy

लेखक इंडिया टुडे टीवी में पत्रकार हैं।

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय