होम -> सियासत

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 09 नवम्बर, 2018 08:08 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

जिस वक़्त देश छत्तीस किस्म की समस्याओं से जूझ रहा हो लालू के पुत्र तेज प्रताप देश भी एक बड़ी समस्या बनकर खबरों में हैं. अपनी नई नवेली बीवी से नाखुश तेज प्रताप, पटना फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी डालने के बाद से ही भागे भागे फिर रहे थे. अपनी 'गुमशुदगी' पर चुप्पी तोड़ते हुए तेज प्रताप ने खुद इस बात को स्वीकार किया है कि वो दिल्ली में हैं. बताया जा रहा है कि तेज प्रताप, छोटे भाई तेजस्वी को उनके बर्थडे पर आशीर्वाद देने के सिलसिले में दिल्ली आए हैं.

ज्ञात हो कि 9 नवम्बर को बिहार को पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का जन्मदिन है. तेज प्रताप दिल्ली हैं और किसी भी पल तेजस्वी से मुलाकात कर तमाम पुराने गिले शिकवे दूर कर सकते हैं. साथ ही परिवार भी इनको मनाने के लिए प्रोग्राम में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकता है.

तेज प्रताप यादव, तेजस्वी यदाव, दिल्ली, जन्मदिनतेजस्वी को  पिछले जन्‍मदिन पर आशीर्वाद दे रहे बड़े भाई तेजप्रताप के लिए सालभर में बहुत कुछ बदल गया है.

तेज प्रताप के घर से भागने के बाद तरह तरह की बातें हो रही थीं. मीडिया से बात करते हुए तेज प्रताप ने अपने ऊपर लगे तमाम तरह के आरोपों का खंडन किया है. तेज प्रताप ने कहा है कि वो लगातार अपने परिवार के संपर्क में हैं और सिर्फ मीडिया ही उनके गायब रहने की खबरें चला रहा है. हालांकि जब बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री से परिवार के विषय में ज्यादा बात की गई तो उन्होंने चुप्पी साधना ही बेहतर समझा और परिवार के मुद्दे पर कन्नी काटते हुए नजर आए.

आपको बताते चलें कि तेजप्रताप अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक की अर्जी देने के बाद अपने पिता लालू प्रसाद से मिलने रांची के रिम्स अस्पताल गए थे. रांची से वापसी के दौरान वो गया में ठहरे. फिर वहां से बिना अपने सुरक्षाकर्मियों को कुछ बताए वृंदावन चले गए. तेज प्रताप परिवार से कितना नाराज हैं इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वो दिवाली के मौके पर त्योहार मनाने घर भी नहीं आये थे जबकि परिवार उनकी प्रतीक्षा में था. मीडिया में कुछ रिपोर्ट्स ऐसी भी थीं जिनके अनुसार, परिवार की सुख शांति बरकरार रहे इसके लिए तेजप्रताप ने विंध्याचल में उन्होंने एक यज्ञ भी करवाया था.

तेज प्रताप यादव, तेजस्वी यदाव, दिल्ली, जन्मदिनपरिवार से मतभेद के कारण तेज प्रताप कई दिनों से घर से लापता थे

तेज प्रताप का यूं अचानक छोटे भाई तेजस्वी यादव से मिलने दिल्ली आना अपने में कई प्रश्न लिए हुए हैं. गौरतलब है कि तेजस्वी और तेजप्रताप दोनों के ही बीच लम्बे समय से कुछ सही नहीं चल रहा है और दोनों में एक गहरा मतभेद है. तेजस्वी परिवार के लाडले हैं साथ ही पार्टी में भी अहम भूमिका रखते हैं. वहीं इसके विपरीत तेज प्रताप का राजनीतिक भविष्य गर्त के अंधेरों में हैं.

तेज प्रताप लगातार यही प्रयास कर रहे हैं कि कि वो कुछ ऐसा कर लें जिससे परिवार में उनकी भी पूछ बढ़ जाए. जिस तरह तेज प्रताप ने अपनी ऐश्वर्या राय को तलाक दिया है उससे भी माना जा रहा है कि अब वो पूरी तरह से बगावत पर उतर आए हैं.

बहरहाल तेज प्रताप की तेजस्वी से इस मुलाकात के बाद, लालू कुनबे का सत्ता संघर्ष खत्म हो पाएगा या नहीं इसका फैसला आने वाला वक़्त करेगा. मगर जो वर्तमान हालात हैं, वो इस बात की तस्दीख खुद कर रहे हैं कि तेज प्रताप जो भी कर रहे हैं वो न तो परिवार के हित में हैं और न ही उससे पार्टी को कोई फायदा मिलेगा.

ये भी पढ़ें -

तेजप्रताप-ऐश्वर्या का गठबंधन टूटना: कितना निजी, कितना सियासी

कहानी लालू के घर की - 'सास, बहू और सियासत'

तेज और तेजस्वी की लड़ाई UP के समाजवादी झगड़े से भी खतरनाक है!

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय