होम -> सियासत

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 04 नवम्बर, 2018 12:19 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

व्यक्ति की जिंदगी में बुरा वक़्त कभी भी आ सकता है. यदि इस बात को समझना हो तो हम आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव का रुख कर सकते हैं. चारा घोटाले के चलते सजा काट रहे हैं लालू की जिंदगी से सुकून चला गया है. न तो स्वास्थ्य उनका साथ दे रहा है और न ही बेटे उन्हें चैन से जीने दे रहे हैं. ताजा मामला तेज प्रताप का है. खबर है कि अभी 6 महीने पहले ही ऐश्वर्या राय संग शादी के बंधन में बंधे तेज प्रताप ने पटना सिविल कोर्ट में तलाक की अर्जी दी है.

तेज प्रताप यादव, शादी, तलाक, ऐश्वर्या राय शादी के 6 महीने के अन्दर तलाक की अर्जी डालकर तेज प्रताप ने लोगों को चौंका दिया है

बताया जा रहा है कि तेज प्रताप को ऐश्वर्या के साथ शादी करनी ही नहीं थी और वो इस शादी से खुश नहीं थे. मगर परिवार ने उनपर दबाव डाला और उन्होंने मजबूरी में ऐश्वर्या से शादी की. पटना के वेटरनरी कॉलेज मैदान में आयोजित इस हाई प्रोफाइल शादी की सबसे खास बात ये थी कि जहां एक तरफ इसमें शिरकत के लिए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पत्नी डिंपल यादव के साथ पटना पहुंचे थे. तो वहीं बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी लालू और राबड़ी की बहू को आशीर्वाद देने समारोह में आये थे.

बात अगर लालू की हो तो शादी के अवसर पर उन्हें भी परोल पर जमानत मिली थी. उन्होंने बहू ऐश्वर्या राय को अपने और परिवार के लिए भाग्यशाली बताया था. इस गंभीर मामले पर यदि परिवार के करीबियों की मानें तो ऐश्वर्या राय के बहू बन कर घर आने के दस दिन बाद ही दंपत्ति में कलह शुरू हो गई थी. ध्यान रहे कि तेज प्रताप की बीवी ऐश्वर्या, सारण की परसा सीट से आरजेडी विधायक चंद्रिका राय की बेटी हैं.

तेज प्रताप यादव, शादी, तलाक, ऐश्वर्या राय ऐश्वर्या से तेज प्रताप की शादी को बिहार का एक हाई प्रोफाइल इवेंट माना गया था

अपने भाई तेजस्वी से रिश्तों में बड़ी खटास के बाद अब 13 (1) (1a) हिन्‍दू मैरेज एक्‍ट के तहत तलाक की अर्जी डालने वाले तेज प्रताप को देखकर ये कहना कहीं से भी गलत नहीं है कि न सिर्फ इन्होंने खुद को परेशानी में डाला है बल्कि पिता लालू प्रसाद यादव और पार्टी आरजेडी की मुसीबतें बढ़ाई हैं.

इस पूरे मामले को देखकर ये बताना बेहद जरूरी है कि ऐश्वर्या संग तलाक की अर्जी डालने वाले तेज प्रताप ने शादी के फौरन बाद अपने वैवाहिक जीवन में सुख, शांति और समृद्धि के लिए लगातार 3 दिनों तक 'कृष्णवतार' का करवाया था. तेज प्रताप के इस कदम के बाद सोशल मीडिया पर चर्चा का दौर तेज हो गया है. तेज प्रताप के इस फैसले को देखकर लोग यहां तक कह रहे हैं कि जो आदमी अपनी निजी जिंदगी नहीं संभाल सकता वो भला बिहार जैसा राज्य कैसे संभालेगा.

बहरहाल, तेज प्रताप के इस कृत्य को देखकर बस इतना ही कहा जा सकता है कि ये न सिर्फ उनका और पिता का नाम का नाम खराब करेगा. बल्कि इससे आम देशवासियों के सामने पार्टी की भी छवि धूमिल हुई है. अपनी मनमौजी जीवन शैली के लिए अक्सर ही लोगों के बीच चर्चा में रहने वाले तेज प्रताप की शादी देखकर, लोगों को विश्वास था कि इसके बाद उनमें सुधर होगा. मगर जिस तरह शादी के 6 महीने के अन्दर तेज प्रताप ने पत्नी ऐश्वर्या संग तलाक का मुद्दा उठाया है उसने साफ बता दिया है कि अभी इन्हें परिपक्व होने में एक लम्बा वक़्त लगेगा.

ऐश्वर्या से तेज प्रताप को तलाक मिलता है या नहीं मिलता है ये हमें आने वाला वक़्त बताएगा. मगर जो वर्तमान है उसने साफ बता दिया है कि इससे न सिर्फ परिवार की खूब किरकिरी होगी बल्कि ये बात परिवार की राजनीति को भी काफी हद तक प्रभावित करेगी.  

ये भी पढ़ें -

इतनी जल्दी राजनीति से बेहतर था, बरसात देखते हुए तेज प्रताप संग पकौड़ी खाती ऐश्वर्या!

कहानी लालू के घर की - 'सास, बहू और सियासत'

तेज प्रताप भले ही अवतार बन रहे हैं, लेकिन भगवान तो ये हैं

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय