charcha me| 

सियासत

 |  5-मिनट में पढ़ें  |   07-12-2018
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

हमारे देश में नेता वोट मांगने के बदले जनता को बिजली, पानी, सड़क, घर और स्वास्थ्य सुविधाएं देने का वादा करते हैं. ये बाद की बात है कि वादा पूरा करें या ना करें. ऐसे में अक्सर लोगों के दिमाग में ये बात आती है कि जिस देश में ये सब पहले से ही होता है, वहां पर नेता किस आधार पर वोट मांगते होंगे? अमेरिका को ही ले लीजिए. एक विकसति देश. जहां बिजली, पानी, सड़क, घर, स्वास्थ्य सेवाएं सब कुछ है. तो यहां पर किन तरीकों से लोगों को अपनी ओर खींचा जाता होगा?

ट्रंप का डेटिंग ऐप और वेबसाइट आपके इन सवालों का एकदम सटीक जवाब देने के लिए काफी है. जहां मूलभूत सुविधाएं पहले से ही हैं, वहां कुछ एडवांस देकर लोगों को अपनी ओर खींचा जाता है, लेकिन डेटिंग ऐप के जरिए ऐसा करने का कारनामा तो डोनाल्ड ट्रंप ही कर सकते हैं. क्योंकि वही समझते हैं डेटिंग में कितना मजा है और उन्हें पसंद करने वाले युवाओं को इसकी कितनी जरूरत है, वरना बाकी नेता तो यहां-वहां की नीतियां बनाने में ही उलझे रहते हैं. क्या ट्रंप इसी तरह से अमेरिका को फिर से ग्रेट बनाएंगे (Make America Great Again). हालांकि, अभी तक ये ऐप और साइट लॉन्च नहीं हुए हैं, लेकिन जल्द ही लॉन्च होने वाले हैं.

डेटिंग, डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकाट्रंप समर्थकों के लिए एक डेटिंग ऐप लॉन्च होने वाला है, जो पार्टनर ढूंढ़ने में मदद करेगा.

लिबरल ज्वाइन हुए तो केस होगा

एक ऐप का नाम है राइटर (Righter). नाम से ही साफ होता है कि ये सिर्फ राइट विंग वालों के लिए है, ना कि लेफ्ट विंग के लिए. यानी सिर्फ रिपब्लिकन ही इस ऐप को इस्तेमाल कर सकते हैं. अगर किसी लिबरल ने इससे जुड़ने की कोशिश की, तो उनसे निपटने के लिए एक पूरी लीगल टीम तक तैयार की गई है. ये टीम उन पर केस करेगी. यह ऐप सिर्फ ट्रंप समर्थकों के लिए है, क्योंकि उन्हें गर्लफ्रेंड-ब्वायफ्रेंड ढूंढ़े नहीं मिल रहे हैं. ऐप लॉन्च करने के बारे में सोच भी इसी दिक्कत की वजह से आई. उम्मीद है कि अब ट्रंप समर्थकों को पार्टनर ढूंढ़ने में मुश्किल नहीं होगी और जो पार्टनर मिलेगा वो भी ट्रंप के गुणगान गाता होगा.

क्यों लॉन्च हो रहा है ये ऐप?

इस ऐप को Christy Edwards Lawton ने डिजाइन किया है, जो एक पूर्व बैंकर हैं. वह Wyoming के Jackson Hole में रहती हैं. क्रिस्टी डोनाल्ड ट्रंप की बहुत बड़ी फैन हैं. पिछले साल वह मैनहैटन में एक पार्टी में थीं, जहां पर उन्होंने एक खूबसूरत महिला को देखा. जब उन्होंने महिला से बात की तो पता चला कि बेहद खूबसूरत होने के बावजूद अभी तक उसका कोई ब्वायफ्रेंड नहीं है. महिला ने क्रिस्टी को धीरे से बताया कि वह रिपब्लिकन हैं, इसलिए न्यूयॉर्क में उन्हें कोई पसंद नहीं करता है. इसके बाद क्रिस्टी को एक ऐसा डेटिंग ऐप बनाने की सूझी, जो ट्रंप समर्थकों के लिए हो. इस ऐप के जरिए मिलिट्री के लोगों को प्रीमियम सर्विस देने की भी योजना है.

इस डेटिंग ऐप के नियम भी कमाल के हैं

क्रिस्टी ने साफ किया है कि यह कोई सेक्स ऐप नहीं है. इसका मकसद सिर्फ लोगों को एक दूसरे से मिलाना है. हर ऐप के कुछ नियम होते हैं और इस ऐप के भी हैं, लेकिन और ऐप्स से बिल्कुल अलग.

- अगर आप ट्रंप समर्थक नहीं हैं यानी रिलबरल हैं तो आप ऐप ज्वाइन नहीं कर सकते, वरना आप पर केस हो जाएगा.

- ऐप में फोटोशॉप की गई तस्वीरें नहीं लगाई जा सकती हैं. क्रिस्टी कहती हैं कि महिलाएं अक्सर सुंदर, दुबली-पतली दिखना चाहती हैं, लेकिन ये सब यहां नहीं चलेगा. यानी जो जैसा है, उसे वैसी ही तस्वीर लगानी होगी. कोई भी राइटर यूजर अपनी उम्र नहीं छुपा सकता है. अगर फोटोशॉप की गई तस्वीर लगाकर किसी को गुमराह करने की कोशिश की तो उसके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है. उसका राइटर अकाउंट भी डिलीट किया जा सकता है.

- अगर पहली डेट पर लड़का रेस्टोरेस्ट या होटल का बिल भरने से मना करता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जा सकती है.

पुरुषवादी सोच रखता है ये ऐप

अब कोई ऐप ट्रंप के नाम का हो, या ट्रंप समर्थकों के लिए हो और उसमें पुरुषवादी सोच ना दिखे, ये भला कैसे हो सकता है. राइटर ऐप के इंस्टाग्राम के पेज पर एक पोस्ट शेयर की गई है, जिसमें विरोधी डेटिंग ऐप Bumble से तुलना दिखाई गई है. पोस्ट में दिखाया है कि Bumble पर चैट की शुरुआत लड़की करती है, जबकि राइटर पर लिखा है कि यहां लड़के चैट की शुरुआत करते हैं, जबकि लड़कियां उन्हें जवाब देती हैं.

डेटिंग, डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकाइस ऐप पर लड़के चैट की शुरुआत करते हैं, जबकि लड़कियां उन्हें जवाब देती हैं.

ट्रंप का डेटिंग ऐप उनके समर्थकों को पार्टनर दिलाएगा और लिबरल आए तो उन पर केस होगा. लेकिन सवाल ये है कि आखिर इसका पता कैसे चलेगा कि कोई लिबरल है या फिर रिपब्लिकन? अगर कोई खुद नहीं बताए तो ये कैसे बताया जा सकता है कि किसने किसको वोट दिया है? हो सकता है कोई खुद को रिपब्लिकन कहता हो और वह दिल से लिबरल हो और उसका वोट भी डेमोक्रेटिक पार्टी को जाता हो. क्रिस्टी कहती हैं कि तुरंत इस बात का पता नहीं लगाया जा सकता है कि कोई लिबरल है या फिर रिपब्लिकन, लेकिन अगर किसी ने ट्रंप की आलोचना वाली कोई बात कही तो उनसे वकील ही निपटेंगे. कई मामलों पर आलोचनाओं का शिकार होने वाले ट्रंप को इस डेटिंप ऐप से कितना राजनीतिक फायदा होता है, ये देखना दिलचस्प होगा, क्योंकि राइटर को टक्कर देने के लिए और भी कई सारे ऐप बाजार में पहले से ही हैं.

ये भी पढ़ें-

कतर के OPEC देशों से अलग होने का भारत पर क्या असर होगा

आखिर कैसे जूते के तल्ले ने खोल के रख दी अमेरिका की पोल

7 साल के बच्चे की सालाना कमाई 155 करोड़, आप क्‍या कर रहे थे रेयान की उम्र में?

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय