होम -> सियासत

बड़ा आर्टिकल  |  
Updated: 28 अगस्त, 2019 04:07 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

दिल्ली में सरकार आम आदमी पार्टी की है.पार्टी के मुखिया केजरीवाल हैं जिन्होंने 2020 में होने वाले चुनावों के लिए अपनी कमर कस ली है. दौर जब तुष्टिकरण की पॉलिटिक्स का हो तो नेता की मज़बूरी होती है अपने वोटर को रिझाना. केजरीवाल समझदार आदमी हैं, इस बात को बेहतर ढंग से समझते हैं. कुछ चीजें इंसान शौक में करता है तो वहीं कुछ चीजें उससे मज़बूरी में होती हैं. केजरीवाल ने दिल्ली वालों का पानी फ्री करने की घोषणा की है. अब उनका ये फैसला शौक है या फिर मजबूरी इसका जवाब भविष्य की गर्त में छुपा है. मगर केजरीवाल के रुख और जिस तरह की घोषणाएं वो कर रहे हैं उससे इतना तो साफ़ है कि ये सब चुनावों के लिए और उस चुनाव को जीतने के लिए है.चुनाव से ठीक 6 या 7 महीना पहले अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वासियों को पुनः बड़ा तोहफा दिया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने एक नई स्कीम की घोषणा की.

अरविंद केजरीवाल, दिल्ली, योजना, पानी, फ्री, Arvind Kejriwal  चुनाव से पहले दिल्ली के लोगों का पानी का बिल माफ़ करके एक बार फिर अरविंद केजरीवाल आलोचना का शिकार हुए हैं

इस स्कीम के अंतर्गत दिल्ली सरकार ने पानी के बकाया बिलों को माफ कर दिया है. इस स्कीम का लाभ उन्हें मिलेगा, जिनके घरों में फंक्शनल मीटर हैं.

बताया जा रहा है कि जिन उपभोक्ताओं ने 30 नवंबर से पहले मीटर लगवाएं हैं उन्हें ही इस योजना से लाभ दिया जएगा. साथ ही जिन उपभोक्ताओं के घर में फंक्शनल मीटर हैं उन सभी की लेट फीस भी माफ कर दी जाएगी.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जो घोषणा की है यदि उसका अवलोकन किया जाए तो मिलता है कि इस योजना के तहत 31 मार्च तक दिल्ली में E, F, G, H कैटेगरी के लोगों के 100% बिल माफ़ होंगे तो वहीं  A, B कैटेगरी का 25% बिल माफ होगा. बात अगर C कैटेगरी के लोगों की हो तो इनका 50% बिल माफ होगा. दिल्ली सरकार की बातों पर यदि यकीन किया जाए तो मिलता है कि E, F, G, H कैटेगरी के तहत साढ़े 10 लाख लोगों को फायदा होगा.

मीडिया से मुखातिब हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने प्लान के बारे में भी संवाददाताओं को बताया. केजरीवाल के अनुसार इस योजना से सरकार को 600 करोड़ की आमदनी होगी. उपभोक्ता अपनी मर्जी के मीटर लगवा सकते हैं. इसकी जानकारी पास के जल बोर्ड में देनी होगी. मीटर लगवाने के लिए डोर स्टेप डिलीवरी की मदद भी ली जा सकती है.

इस कदम के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री की आलोचना होना लाजमी था. विपक्ष के अलावा आम लोगों की भी एक बड़ी संख्या है जो ये मान रही है कि केजरीवाल ने जो भी किया है वो वोट बैंक की राजनीति के तहत चुनाव जीतने के लिए किया है.

सोशल मीडिया पर ऐसे तमाम यूजर्स है जिन्हें इन दिनों केजरीवाल द्वारा की जा रही घोषणाएं चुनावी हथकंडा लग रही हैं. बाकी बात बिजली का बिल माफ़ करने की घोषणा से शुरू हुई है तो आइये एक नजर डाल लें उन घोषणाओं पर जो हलिया दिनों  में केजरीवाल ने की और उन्हें आलोचना का शिकार होना पड़ा.

दिल्ली को 200 यूनिट मुफ्त बिजली

बात जुलाई 2019 की है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की कि अब दिल्ली के लोगों को 200 यूनिट तक बिजली खर्च करने पर कोई बिल नहीं देना होगा. वहीं उन्होंने ये भी बताया था कि अगर 200 से ऊपर एक भी यूनिट बिजली खर्च हुई तो चार्ज वही रहेगा जो मौजूदा टैरिफ में है. अपनी उपलब्धि पर बात करते हुए केजरीवाल ने 2013 का हवाला दिया था और कहा था कि 2013 से पहले 200 यूनिट के लिए 900 रुपए देने पड़ते थे, अब 200 यूनिट के लिए कोई पैसे नहीं देने होंगे. तब केजरीवाल के इस कदम की भी खूब आलोचना हुई थी और कहा यहां तक गया था कि अपने और अपनी पार्टी के निजी फायदे के लिए केजरीवाल सत्ता और अपने पद का दुरूपयोग किया है.

डीटीसी में मुफ्त यात्रा कर पाएंगी महिलाएं , केजरीवाल ने किया ऐलान

जून 2019 को उस वक़्त केजरीवाल ने लोगों को हैरत में डाल दिया जब उन्होंने डीटीसी बसों में महिलाओं की मुफ्त यात्रा की बात की. केजरीवाल का कहना था कि ये  फैसला सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के मद्देनजर लिया है. आपको बताते चलें कि दिल्ली में महिलाएं 9 अक्टूबर यानि भैया दूज से महिलाएं डीटीसी और क्लस्टर बसों में फ्री की सवारी कर पाएंगी.

महिलाओं के लिए मुफ्त मेट्रो यात्रा

बसों के अलावा केजरीवाल ने महिलाओं के लिए मेट्रो में मुफ्त यात्रा की भी बात की थी. ध्यान रहे कि इस दिशा में दिल्ली सरकार काम कर रही है और माना यही जा रहा है कि अक्टूबर तक इसे भी अमली जामा पहना दिया जाएगा. दिलचस्प बात ये है कि इस बारे में केजरीवाल ने कोई जानकारी नहीं दी है कि इसके लिए बजट कहां से आएगा.

दिल्ली के सीबीएसई स्टूडेंट्स की एग्जाम फीस माफ़

तमाम मुद्दों पर केजरीवाल की लाख आलोचना हो मगर इस बात को खारिज नहीं किया जा सकता कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के स्कूलों के लिए खूब काम किया है. कुछ दिनों पहले की ही बात है केजरीवाल सरकार ने सीबीएसई स्टूडेंट्स की एग्जाम फीस माफ़ की थी. आपको बताते चलें कि सामान्य केटेगरी के छात्रों के लिए ये फीस 1500 रुपए  थी जबकि एसटी / एससी के लिए ये फीस 50 रुपए थी.

फ्री वाई फाई

आज भले ही व्यक्ति को रोजगार नहीं मिल रहा हो मगर इंटरनेट के बिना उसका जीवन अधूरा है. केजरीवाल ने लोगों की इस मज़बूरी को पकड़ लिया है और इसी के लिए उन्होंने दिल्ली की जनता को फ्री वाई फाई देने की घोषणा की है. बताया जा रहा है कि दिल्ली सरकार जगह जगह राउटर लगा रही है ताकि लोगों को मुफ्त में हाई स्पीड डाटा मिल सके.

सुरक्षा के नाम पर CCTV कैमरे पूर्व में ऐसे तमाम मौके आए हैं जब मुख्यमंत्री ने सुरक्षा की बातें की है और इसी को अमली जामा पहनाने के लिए दिल्ली सरकार अपने 70 विधान सभा क्षेत्रों में तकरीबन 4000 cctv कैमरे लगवा रही है.

जय भीम मुख्यमंत्री योजना

इस योजना की भी घोषणा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अभी कुछ दिन पहले ही की थी. बताया जा रहा है कि अपनी इस योजना के जरिये मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्ली के बच्चों को आईआईटी, आईआईएम और पीएमटी जैसे एग्जाम में बैठने के लिए फ्री की कोचिंग करवा रहे हैं.

केजरीवाल की उपरोक्त सभी योजनाओं का यदि अवलोकन किया जाए तो मिलता है कि भले ही व्यक्ति कितनी भी आलोचना क्यों न करे मगर ये सभी योजनाएं आम आदमियों से जुड़ी हुई हैं जो निश्चित तौर पर चुनावों में आम आदमी पार्टी के लिए फायदेमंद होंगी. कह सकते हैं कि केजरीवाल इस बात को भली प्रकार जानते हैं कि एक बार जब लोगों को मुफ्त की लत लग जाती है तो फिर उसे छुड़ाना बहुत ज्यादा मुश्किल होता है.

अब क्योंकि ये आदत केजरीवाल ने लोगों को डाल दी है तो ये उनके या फिर जनता के लिए कितना फायदेमंद होंगी इसका फैसला आने वाला वक्त करेगा मगर जो कयास लग रहे हैं वो यही बता रहे हैं केजरीवाल ने एक अच्छा दाव खेला है और बहुत ही सोच समझ कर खेला है.

ये भी पढ़ें -

मंदी पर केजरीवाल का सरकार को समर्थन नवीन पटनायक बनने का पहला कदम है!

IAS Kannan Gopinathan का इस्तीफा 8 ब्यूरोक्रेट के रास्‍ते पर है

सपना चौधरी और निरहुआ में संघ और बीजेपी नेता फर्क क्यों करने लगे?

Arvind Kejriwal, Delhi, Delhi Assembly Election

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय