होम -> सियासत

 |  2-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 13 फरवरी, 2019 05:32 PM
नवेद शिकोह
नवेद शिकोह
  @naved.shikoh
  • Total Shares

कल लखनऊ में प्रियंका गांधी अपने रोड शो में एक शब्द भी नहीं बोलीं. कांग्रेस के सूत्र बताते हैं कि प्रियंका अगले शो में सिर्फ एक लाइन बोलेंगी- "पत्रकार भाइयों, आपके अखबारों को मैं विज्ञापन दिलवाती रहूंगी." अक्सर ऐसा होता है कि जब किसी राजनीतिक दल का कोई बड़ा कार्यक्रम होता है तो वो दल या उसके नेता अखबारों को विज्ञापन देते हैं. लेकिन लखनऊ में इसके विपरीत उल्टी गंगा बही. लखनऊ में रोड शो प्रियंका का था और इस अवसर पर विज्ञापन मिला योगी सरकार से.

अखबार वाले भी बड़े एहसानफरामोश होते हैं, विज्ञापन योगी सरकार ने दिया और इसका श्रेय प्रियंका गांधी को दे रहे हैं. दुआ कर रहे हैं- काश रोज़ प्रियंका का रोड शो हो और इसके डर से भाजपा सरकार हमारे अखबारों को फुल पेज विज्ञापन देती रहे. एक विज्ञापन ने डर के आगे जीत बताया था लेकिन भाजपा सरकार का विज्ञापन बताता है कि डर के आगे विज्ञापन है.

प्रियंका गांधी, योगी आदित्यनाथ, विज्ञापन, भाजपा, कांग्रेस   मीडिया में प्रियंका की रैली की चमक फीकी पड़ सके इसलिए योगी सरकार ने अख़बारों को फ्रंट पेज विज्ञापन दिया

इधर कुछ दिनों से भाजपा के अच्छे दिन नहीं चल रहे हैं. अच्छी बात का भी बुरा प्रभाव पड़ रहा है. कल उत्तर प्रदेश के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग ने अखबारों के लिए फुल पेज विज्ञापन जारी किया. शर्त ये रखी कि ये विज्ञापन पेज वन पर लगाया जाये. इस विज्ञापन का रिलीज आर्डर जारी होने के बाद ही हल्ला होने लगा. ये बातें वायरल होने लगीं कि लखनऊ में प्रियंका गांधी की कवरेज को दबाने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने पेज वन के लिए विज्ञापन जारी कर दिया. लोग इस विज्ञापन को प्रियंका का डर और घबराहट बताने लगे.

छोटे अखबार के पब्लिशर कह रहे हैं कि प्रियंका की पहली एंट्री की खबर पेज वन से गायब करने के लिए बड़े अखबारों को पेज वन के लिए विज्ञापन दे दिया गया. तब जबकि पूरे रोड शो में प्रियंका गांधी वाड्रा एक शब्द भी नहीं बोलीं. यदि आगे उनके धुआंधार रोडशो /जनसभाये होती हैं और प्रियंका उसमें भाषण भी देती हैं तो ये मानिये कि तब योगी सरकार की तरफ से मझोले और छोटे अखबारों को भी पेज वन के लिए विज्ञापन मिलेगा.

ये भी पढ़ें -

प्रियंका-ज्योतिरादित्य को ज्ञान देना कहीं राहुल के अन्दर छुपा डर तो नहीं ?

...तो कांग्रेस से ज्‍यादा रॉबर्ट वाड्रा को बचाने के लिए राजनीति में उतरीं प्रियंका गांधी!

तैयारियां तो ऐसी हैं मानो लखनऊ से ही चुनाव लड़ेंगी प्रियंका गांधी

Priyanka Gandhi, Congress, Campaign

लेखक

नवेद शिकोह नवेद शिकोह @naved.shikoh

लेखक पत्रकार हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय