होम -> सियासत

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 16 अप्रिल, 2019 04:50 PM
पारुल चंद्रा
पारुल चंद्रा
  @parulchandraa
  • Total Shares

राजनीति में जब मुद्दे खत्म हो जाते हैं तो अश्लीलता शुरू हो जाती है. और आजकल प्रचार के आखिरी समय यही सब चल रहा है. आजम खान ने जयाप्रदा पर जो शर्मनाक टिप्पणी की है उसपर चुनाव आयोग ने भले ही उनकी बोलती तीन दिनों के लिए बंद कर दी है लेकिन सोशल मीडिया पर लोग अपना गुस्सा बेहद अलग तरह से ही निकाल रहे हैं.

राजनेताओं को गुस्सा आता है तो उनके बोल बिगड़ते हैं, उनके बिगड़े बोल सुनकर जनता को गुस्सा आता है तो जनता के बोल भी बिगड़ जाते हैं. कुछ लोग आवेग में कुछ भी बोल देते हैं तो कुछ गुस्से की प्रतिक्रिया बड़ी सोच समझकर देते हैं. आश्चर्य होते है कि सोशल मीडिया पर लोगों ने जो प्रतिक्रियाएं दीं वो आजम खान के बयान से ज्यादा नहीं तो कम भी नहीं थीं. सबक सिखाने की नियत से दी गईं ये प्रतिक्रियाएं देखकर हैरानी होती है.

आजम खान पर ईनाम रखना कोई नई बात नहीं

आजम खान के बयान को सुनते ही कुछ लोग इतने नाराज दिखे कि उन्होंने सोशल मीडिया पर ऐलान कर दिया कि आजम खान का पैजामा उतारकर जो उनके अंडरवियर का कलर बताएगा उसे एक लाख का ईनाम दिया जाएगा.

आजम खान जब भी इस तरह की बयानबाजी करते हैं तो उसपर कोई न कोई ईनाम रख देता है. कुछ साल पहले भी शाहजहांपुर में विश्व हिंदू परिषद के एक नेता ने आजम खान की जुबान काटने पर 50 लाख रुपए का ईनाम रखा था. उन्हें पता था कि काम अगर बहुत मुश्किल हो तो ईनाम कितना भी भारी भरकम रखा जा सकता है. यही काम विश्व सनातन संघ के राष्ट्रीय प्रचारक उपदेश राणा ने भी किया. उपदेश को भी पता है कि ये काम कोई नहीं कर पाएगा और उनके एक लाख भी सुरक्षित रहेंगे. लेकिन इस मेसेज को दूर दूर तक फैलाने की अपील कर रहा ये शख्स एक तीर से कई निशाने साध रहा है.

जया प्रदा के अपमान का बदला क्या दूसरी महिलाओं के अपमान से लिया जाएगा

अब एक और प्रतिक्रिया देखिए. जो एक महिला की तरफ से आई है, लेकिन इसे देखकर किसी भी महिला को ये अच्छा नहीं लगा. मोहतरमा ने आजम खान को सबक सिखाने के लिए एक खाकी अंडरवियर अखिलेश यादव के पते पर भेज दिया है. बाकायदा ऑनलाइन बुकिंग की तस्वीरें भी शेयर की हैं. साथ ही उसकी कीमत भी बताई है कि उन्होंने इसके लिए पूरे 159₹ खर्च किए हैं. और लिखा है कि ये अखिलेश की धर्मपत्नी डिंपल या उनकी बिटिया के काम आ जाएगी. ये सभी महिलाओं से अनुरोध भी कर रही हैं कि वो भी ऐसा ही करें वो कह रही हैं कि महिलाएं ही इसका माकूल जवाब देंगी तो ही इन्हें समझ आएगा. आखिर में किसी अजय सिंह को धन्यवाद भी दे रही हैं जिन्होंने इन्हें ये करने की प्रेरणा दी है.

fb post

एक महिला होकर इनकी ये प्रतिक्रिया देखकर आंखें खुली की खुली रह गईं. इन्होंने जयाप्रदा की इज्जत को इज्जत समझा और अखिलेश यादव की पत्नी और बेटी की इज्जत तार-तार करने में इन्होंने भी कोई कसर नहीं छोड़ी. इन्होंने पोस्ट के अंत में एक पुरुष को धन्यवाद देकर ये भी बता दिया कि इनका खुद का दिमाग कितना चलता है. ये किसी के भी बहकावे में कुछ भी कर सकती हैं.

online shopping

इस पोस्ट पर लाइक्स शेयर और कमेंट की जोरदार बरसात हो रही है. ऐसा करके इन्होंने भी वो पा लिया जिसकी चाहत में आजकल सोशल मीडिया पर महिलाएं कुछ भी आएं-बाएं पोस्ट कर रही हैं. महिला सम्मान पर इतना ही गुस्सा था तो बीजेपी के नेता सतपाल सिंह सत्ती के लिए कुछ नहीं कहा जिन्होंने ऐसे ही एक मंच से राहुल गांधी को मां की गाली देकर सोनिया गांधी का अपमान किया.

गुस्सा एक सामान्य प्रतिक्रिया है, जो सभी को आता है. लेकिन गुस्से में इंसान जो प्रतिक्रिया देता है उससे उसके पूरे व्यक्तित्व का आकलन किया जा सकता है. आजम खान किस तरह के इंसान हैं वो उनके बयान बता ही देते हैं. बुलंदशहर गैंगरेप को भी आजम खान ने विपक्ष की साजिश कहा था. आज कह रहे हैं कि कलेक्टर से अपने जूते साफ करवाउंगा अगर अल्लाह ने चाहा तो. जया प्रदा पर की गई टिप्पणी भी उनकी मानसिकता की ही परिचायक थी. लेकिन लोग इस तरह की प्रतिक्रियाएं देखर खुद को आजम खान की श्रेणी में ही रख रहे हैं.

चुनावी मौसम में इस तरह की बातों का जवाब एक वोट से दिया जा सकता है. दिखाइए अपने वोट की ताकत. इस तरह की बातें प्रचारित करना और लोगों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करना वाकई में एक वाहियात आइडिया है. आजम खान की बातों की तरह.

ये भी पढ़ें-

औरत व दलित-विरोध का दूसरा नाम आजम खान

आजम खान ने जयाप्रदा के बारे में जो कहा, वह चौंकाता क्‍यों नहीं है?

मायावती के गेस्ट हाउस कांड की तरह है जयाप्रदा का रामपुर-कांड

 

लेखक

पारुल चंद्रा पारुल चंद्रा @parulchandraa

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय