होम -> ह्यूमर

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 10 जून, 2021 03:22 PM
सर्वेश त्रिपाठी
सर्वेश त्रिपाठी
  @advsarveshtripathi
  • Total Shares

ये कत्तई आजकल हर किसी को शाहरुख खान बनने का भूत सवार है. राज और सिमरन की जोड़ी हिट क्या हुई जिसे देखो वही राज बनकर सिमरन को पटाने में जुटा पड़ा है. ताज़ा मसला उस मोटी मछली का है जिसे अभी कुछ दिन पहले कैरेबियाई द्वीप समूह जिसे हम सब वेस्टइंडीज के नाम से जानते हैं के देश डोमेनिका में घूमते फिरते पकड़ा गया. नहीं समझे आप? अरे भाई, पीएनबी घोटाले वाला मेहुल चौकसी, वही नीरव मोदी का मामा जो पिछले दिनों डोमिनिका पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किया गया है न.

सुनने में आया है कि चौकसी वहां चौकस हीरोगिरी कर रहा था और 'राज' बना डोमेनिका के बीच पर 'उला ला ला होले लू' कर रहा था. इससे पहले यह कैरिबियाई द्वीप में एंटीगुआ में कथित रूप से छिपा था. एंटीगुआ से डोमिनिका तक उसके पहुंचने के पीछे कई कहानी कई राज़ है. असल में क्या हुआ यह तो उसके भारत आने पर सही से पता चलेगा. लेकिन इस घटना ने हम सब की दिलचस्पी एक बार फिर मेहुल चौकसी की तरफ़ ज़रूर बढ़ गई है. फिलहाल अभी ताज़ी ख़बर यह है कि मेहुल चौकसी ने एंटीगुआ सरकार के पास यह शिकायत दर्ज कराई है कि उसका अपहरण करके डोमिनिका ले जाया गया. जिसमें उसकी हाल के दिनों में कथित दोस्त 'बारबरा जराबिका' ने हनी ट्रैप का काम किया. जबकि बारबरा के बयान कुछ और राज़ से पर्दा हटा रहे हैं.

Mehul Choksi, Arrest, Barbara Jarabica, Scam, Nirav Modi, Girlfriend, Relationshipबारबरा से राज बन मिलने वाले चौकसी ने तो छिछोरेपन की इंतेहा कर दी है

खबरें ऐसी आ रही है कि बारबरा जबारिका एंटीगुआ में रह रही थी और कुछ समय पहले सैर के दौरान मेहुल चोकसी से उस महिला की मुलाकात हुई थी. वो महिला बेहद आकर्षक और सुंदर है. लिहाजा मेहुल ने उससे दोस्ती कर ली. बाद में 23 मई को उस महिला ने मेहुल को मिलने के लिए एक अपार्टमेंट में बुलाया. लेकिन जब चोकसी अपार्टमेंट में पहुंचा तो वहां कई लोग मौजूद थे. जिन्होंने जिन्होंने कथित तौर पर उसका अपहरण कर लिया और उसे डोमिनिका ले गए. जहां उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

चोकसी ने अपनी शिकायत में बारबरा के बारे में लिखा है, 'मैं बारबरा को एक दोस्त के तौर पर जानता था. वो पहले जॉली हार्बर में मेरे घर के सामने रहती थी. लेकिन बाद में कोको बे होटल में शिफ़्ट हो गई थी. मेरे स्टाफ़ के साथ उसके दोस्ताना रिश्ते थे. हम नियमित अंतराल पर मिलते थे और अक्सर शाम को वॉक पर जाते थे. जब उसके घर में मुझे पीटा जा रहा था, तो उसने कुछ नहीं किया.

वो चुपचाप सब कुछ देखती रही और उसने बाहर से किसी को बुलाने की भी कोशिश नहीं की. वो जो कुछ कर रही थी, उससे साफ़ पता चलता है कि वो इस प्लान का अहम हिस्सा थी.' मतलब की साहब मसला वही हो गया कि जो मशहूर शायर नख्शब जार्चवि साहब ने बहुत पहले फ़रमाया है कि,

कोई किस तरह राज़-ए-उल्फ़त छुपाए,

निगाहें मिलीं और क़दम डगमगाए.

आप सोच रहे होंगे कि मोटे भीमकाय मेहुल चौकसी का राज और सिमरन की कहानी से क्या लेना देना? तो भईया लेना देना यह है कि बारबरा ने इस वाकए में अपनी सफाई यह दी है और उसने जो बताया वह और भी रोमांचक किस्सा है. उसके अनुसार मेहुल चौकसी ने उसे अपना नाम 'राज' बताकर बारबरा से दोस्ती गांठी.

बारबरा ने यह भी बताया कि मेहुल चौकसी ने उसे इंप्रेस करने के लिए डायमंड के ब्रेसलेट और नेकलेस दिए बाद में पता चला कि वो तो नकली हीरो के थे. मतलब कि बंदा बिल्कुल परम टाइप का फ्रॉड है. फ़िलहाल बारबरा जी से हम सब को आपसे 'भौत भौत' सहानुभूति है. वैसे आपको अब पता चल ही गया होगा कि इसका भांजा नीरव मोदी तो घटिया और नकली हीरो का बकायदा व्यापारी है और वह तो अक्सर ऐसे कांड करता रहता है.

बारबरा घबराओ नहीं तुम्हारे राज ने तो पूरे भारत के साथ फ्रॉड किया है. बाकी अगर बाद में पता चलता है कि चौकसी का सूजा हुआ मुंह तुम्हारे शुभ हाथों का कमाल है तो फिर ऐसे सौ नेकलेस अपने लखनऊ अमीनाबाद के गड़बड़झाला बाज़ार से नकद खरीदकर मैं खुद भिजवा दूंगा. ससुरा 'राज' बन रहा था सांड कहीं का.

आप सब सोच रहे होंगे कि मैं ओवर रिएक्ट कर रहा हूं तो एक बार बारबरा जी की तस्वीर पर निगाह डाल लीजिएगा. मतलब एक तो खुद की शक्ल देखी नही और सुंदर सुशील कन्या के साथ इत्ता बड़ा धोखा. अबे उसका दिल इतना तुम्हारे बारे में जानकर नही टूटा होगा जितना ज़ौहरी के मुंह से यह सुनकर छिला होगा कि...'बहिन जी ये शीशे के टुकड़े कहां से उठा लाई'.

फ़िलहाल आप सब की जानकारी के लिए बता दूं कि मेहुल चौकसी अभी डोमेनिका में ही हिरासत में है. डोमिनिका में उसके ऊपर अवैध रूप से घुसने का आरोप लगा है. यह पूरा मसला दिन ब दिन दिलचस्प और रहस्यमय होता जा रहा है कि मेहुल चौकसी एंटीगुआ से डोमेनिका कैसे और क्यों पहुंचा. वैसे जैसे भी आया उसमें बारबरा की भूमिका संदेहास्पद तो है ही.

सूत्रों के अनुसार वहां से उसका क्यूबा भागने का प्लान था. जबकि कुछ खबरे ऐसी भी आ रही है कि किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मिलने के लिए उसका अपहरण कर एंटीगुआ से डोमेनिका लाया गया. इन सब तथ्यों पर बाकी भारतीय सरकार और सुरक्षा एजेंसियां नज़र बनाए हुए है. 13500 करोड़ घोटाले का यह आरोपी और इसका भांजा नीरव मोदी को तो हर हाल में जेल की सलाखों के पीछे होना चाहिए.

हालांकि पिछले दिनों उसे सलाखों के पीछे देखने का हर भारतीय का सपना ज़रूर पूरा हुआ लेकिन आधा ही. जब तक कि मेहुल चौकसी को भारत लाकर उसे एक एक पाई की वसूली नहीं हो जाती तब तक बाय गॉड की कसम हर भारतीय के कलेजे को ठंडक न मिलेगी.

ये भी पढ़ें -

पहले योगी चालीसा फिर खून से खत...योगी आदित्यनाथ का फैन तो भक्तों में सूरमा निकला!

जूही चावला की 'गलती' को जनता माफ नही करेगी!

पीएम ने CBSE-ISC board exam रद्द की, हमारे ज़माने में शिक्षा इतनी 'लिबरल' नहीं थी 

लेखक

सर्वेश त्रिपाठी सर्वेश त्रिपाठी @advsarveshtripathi

लेखक वकील हैं जिन्हें सामाजिक/ राजनीतिक मुद्दों पर लिखना पसंद है.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय