होम -> ह्यूमर

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 08 जुलाई, 2016 04:18 PM
सुशांत झा
सुशांत झा
  @jha.sushant
  • Total Shares

मेरा मानना है कि भिंडी दुनिया की सबसे बेहतरीन सब्जी है और जिसे भिंडी पसंद नहीं- वो ईश्वरीय कृपा से जरूर वंचित है. हाल में मैंने अपने दोस्तों से भिंडी के बारे में घंटा-घंटा भर बात की है और उनका कहना था कि इतनी हसीन सब्जी पर कुछ न कुछ जरूर लिखा जाना चाहिए. कई बार तो ऐसा हुआ कि किसी मित्र या सखी का हालचाल पूछने की वजाय मैंने SMS ठोक दिया-" आज भिंडी बनी है क्या?" वो समझ जाते हैं कि आज मैं प्रसन्न हूं!

bhindi_original_070816025011.jpg
भिंडी को राष्ट्रीय सब्जी घोषित कर देना चाहिए

भिंडी से प्यार करना मेरी दादी ने मुझे सिखाया था जो भिंडी की भुजिया, सरसों वाली भिंडी, पूरा भिंडी, भिंडी का भरुआ और पता नहीं क्या-क्या बनाती थी. हाल में जब मैं JNU में 24.7 में भिंडी मसाला खा रहा था तो वो मजा नहीं आया जो सरसो वाली भिंडी में आता था. मैने इस पर अपने एक मित्र से 20 मिनट तक गहन चर्चा की थी. कुल मिलाकर भिंडी को हमारे घर में वहीं दर्जा हासिल था तो कम्यूनिस्टों के घर में लेनिन या मार्क्स का होता है. भिंडी से मेरे प्यार को आप यूं समझिए कि नाश्ते में अगर कोई मुझे एक पूरा प्लेट भिंडी फ्राई करके खिला दे तो मैं उसके लिए व्यापम टाइप घोटाले का प्लान कर सकता हूं(हत्याओं का नहीं!).

मेरे हाईस्कूल में एक चौधरीजी शिक्षक थे जिन्हें आलू बहुत पसंद था. उस समय मुझे उन पर हंसी आती थी. चौधरीजी कहते थे कि आलू जब आयरलैंड से भारत आया तो भारत के ब्राह्मणों को शक हुआ था कि कहीं अंडा तो नहीं है! जबकि आयरलैंड में अगर आप एक प्लेट खाना मांगते तो आपको पूरा प्लेट आलू उबालकर दे देते! मैं समझता था कि ये पागलों की बाते हैं, अब लगता है कि चौधरीजी का आलू प्रेम कितना आध्यात्मिक रहा होगा.

हमारे गांव में भिंडी को तरह-तरह के नाम से पुकारते थे. कोई उसे राम-तोरई कहता, तो कोई उसे रामझिमनी या रामझिंगुनी. मेरे नानीगांव में उसे कुछ और ही बोलते थे. गर्मी के महीने में हरी-हरी भिंडी आंखों को सुकून देती. भिंडी मुझे किसी सुकन्या के हरे दुपट्टे से कतई कम नहीं लगती. हमारे यहां गांव में 5 किलोमीटर दूर से सिर पर टोकड़ी लिए 'कुजरनी'(मुसलमानों की एक अ. पिछड़ी जाति जो सब्जी उगाने का काम करती थी/ है) तरकारी बेचने आती थी, तो हम उससे भिंडी के बारे में जरूर पूछते. कुजरनी मुस्कुरा देती. जब थोड़ा बड़ा हुआ तो गांव के हाट पर मैं सबसे पहले भिंडी ही खरीदता.

वैसे हमारे घर की 'बाड़ी'(घर के पास की जमीन या आज के जमाने में कैम्पस कहिए) में भी भिंडी के पौधे होते. मैं जब घर जाता हूं तो इस मौसम में मेरे लिए बिला-नागा भिंडी जरूर बनती है. मां को मालूम है कि मुझे भिंडी में कितना नमक पसंद है. मैं इस मौसम में मां से भिंडी के बारे में जरूर बात करता हूं. मैंने अपनी बहन से भी पूछा था कि क्या अमेरिका में भिंडी मिलती है? उसका जवाब सुनके संतोष हुआ. हो सकता है कि मैं कभी अमेरिका जाने पर भी विचार करुं. सोच रहा हूं कि प्रधानमंत्री को एक पत्र लिख दूं कि भिंडी को राष्ट्रीय सब्जी घोषित कर दिया जाए. कुल मिलाकर मामला ये है कि भिंडी न होती, दुनिया जाने कैसी होती! गांधी न होते तो जाने किस राह आजादी मिलती! अब इतने लंबे पोस्ट से ये तो साबित हो ही गया होगा कि भिंडी दुनिया की सबसे बेहतरीन और खूबसूरत सब्जी है.

Ladyfinger, National Vegetable, Bhindi

लेखक

सुशांत झा सुशांत झा @jha.sushant

लेखक टीवी टुडे नेटवर्क में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय