होम -> ह्यूमर

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 22 फरवरी, 2021 09:08 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

जो बंद है वो खुलता ज़रूर है. बंद दिमाग, बंद ताला, बंद दरवाज़ा, बंद अलमारी, बंद दुकानें. ज़िंदा रहने के लिए खुलना बहुत ज़रूरी है. कहा भी यही गया है कि व्यक्ति के लिए बेहतर है कि वो बंद नहीं खोलने पर ग़ौर ओ फ़िक़्र करे. लेकिन क्या हर बार खोलना फायदेमंद होता है? श्वेता को ही देख लीजिए. उसका माइक खुला था. खुले माइक पर ही उसने पंडित के विषय में ऐसा बहुत कुछ कह दिया कि पंडित की प्राइवेसी और उस भरोसे की लंका लग गयी जो उसने श्वेता पर किया था. श्वेता खुले माइक को बंद करना कुछ यूं भूली कि उसके साथियों तक को कहना पड़ा स्टॉप, स्टॉप #Shweta Your Mic Is On. हर बार खुलना सही नहीं है. बहुत ज़रूरी है कि कुछ चीजें बंद ही रहें वरना आदमी का सोना दूभर हो जाता है और वो जो बंद करने वाली चीज को खोल कर अपने काम में व्यस्त हुआ वो हंसी ठिठोली का पात्र मौलवी साहब की तरह बन जाता है जो कि #ShwetaYourMicIsOn वाले इस दौर में इंटरनेट के नए सेंसेशन या ये कहें कि टॉक ऑफ़ द टाउन हैं. बताते चलें कि मौलवी साहब की गलती भी श्वेता जैसी है. श्वेता को तो फिर भी 111 लोगों ने ज़ूम पर सुना था मौलवी साहब को सुनने वालों की तादाद हजारों में थी.

 Cleric, Mosque, Azaan, Loudspeaker, Twitter,  Shweta, Shweta Your Mic Is On, Shweta Pandit Zoom Callमौलवी साहब मस्जिद का माइक ऑन कर खुद तो सो गए फिर पूरा मुहल्ला न सो पाया 

असल में हुआ कुछ यूं है कि एक मौलवी साहब का वीडियो सोशल मीडिया पर बड़ी ही तेजी के साथ वायरल हुआ है. मौलवी साहब मस्जिद गए थे फज्र की अज़ान देने, मगर नींद पर उनका जोर नहीं चला और अज़ान के बाद वो खुले माइक के बीच सो गए. फिर क्या था. मौलवी साहब थे. उनकी नींद थी. खुला माइक था जो कि लाउड स्पीकर से कनेक्ट था और उनके खर्राटे थे. जिन्हें अगर कोई सुने तो महसूस यही होगा कि भैंस रंभा रही है.

इंटरनेट पर इस वीडियो को शेयर किया है ट्विटर यूजर @dapakiguy92 ने. वीडियो को शेयर करते हुए यूजर ने कैप्शन दिया है कि 'मौलवी साहब माइक ऑन करके सो गए इसके बाद उन्होंने स्माइली लगाए हैं.

इंटरनेट पर जंगल की आग की तरह वायरल हो रहे इस वीडियो को देखे तो पता चलता है कि जिस जगह का ये वीडियो है वो कोई रेजिडेंशियल कॉलोनी है. घरों की तादाद बता रही है कि वहां हजारों लोग रहते हैं. वीडियो में मौलवी साहब के खर्राटे कुछ ऐसे हैं जो उदास चेहरों पर हंसी बिखेर दे. वायरल हुए इस वीडियो में तरह तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं जो अपने में खासी दिलचस्प हैं.

श्वेता क्योंकि ट्रेंड में है इसलिए इस मामले में भी उसी का जिक्र हो रहा है.

मामला चूंकि वायरल है इसलिए जिसको जो समझ में आ रहा है वो मौलवी साहब और उनके खर्राटों को लेकर वैसी बातें कर रहा है.

लोग भी यही बात पूछ रहे हैं कि इतने खर्राटों के बीच लोगों को मुहल्ले में नींद कैसे आई होगी?

अब जबकि ये वीडियो पूरे सोशल मीडिया पर गदर काट ही चुका है तो हम बस मौलवी साहब से ये पूछते हुए अपनी बातों को विराम देंगे कि भइया ऐसी कौन सी नींद कि लाउड स्पीकर पर बज रहे खर्राटे ही न सुनाई दें. कहीं मौलवी साहब ये तो नहीं सिद्ध कर रहे कि कितने भी तेज हों आदमी को अपने खर्राटे सुनाई नहीं देते. बाकी सही जवाब क्या होगा या तो मौलवी साहब बेहतर जानते हैं या तो उनका खुदा.

ये भी पढ़ें -

#ShwetaYourMicIsOn:​ बोल पंडित बोल, के लब आजाद हैं तेरे...

#ShwetaYourMicIsOn:​ श्वेता ने फेमिनिस्टों की सारी मेहनत पर पानी फेर दिया!

हंगामा है क्यों बरपा? पेट्रोल की थोड़ी सी कीमत ही तो बढ़ी है...

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय