charcha me| 

होम -> ह्यूमर

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 11 अक्टूबर, 2018 08:52 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

11 अक्टूबर 2018 - स्थान : दिल्ली - आईबीएम और एक मीडिया संस्थान के साझा प्रयास से दिल्ली के ताज पैलेज में मल्टी नेशनल कंपनियों में काम कर रहे सीनियर एक्जीक्यूटिव्स के लिए कॉन्फ्रेस पार्टी आयोजित की गई. पार्टी में सब कुछ ठीक चल रहा था कि तभी वहां  देव्यानी जैन नाम की महिला ने हडकंप मचा दिया. महिला का आरोप था कि उनके हैंडबैग से किसी ने 10 हजार रुपए चोरी कर लिए. मामला सीरियस था तो पुलिस की मदद ली गई. पुलिस ने होटल परिसर में मौजूद सीसीटीवी कैमरे की मदद से पार्टी में आए लोगों की फुटेज की जांच की और 24 वर्षीय गर्वित साहनी को गिरफ्तार किया.

गर्वित हरियाणा के अंबाला का रहने वाला है और पेशे से इंजीनियर है और 'गूगल' में काम करता है. पुलिस को प्राप्त जानकारी के अनुसार गर्वित आर्थिक तंगी से परेशान था और अपनी गर्लफ्रेंड के खर्चों को पूरा नहीं कर पा रहा था. इसी के चलते उसने पैसे चोरी किए थे. पुलिस ने उसके पास से चोरी किए गए रुपयों में से 3000 रुपए प्राप्त किए हैं.

गिरफ्तार, दिल्ली, चोरी, गर्ल फ्रेंड, गूगल, इंजीनियर गर्ल फ्रेंड के खर्च के लिए गूगल के इंजीनियर द्वारा चोरी की वारदात ने लोगों को हैरत में डाल दिया है

9 अक्टूबर 2018 - स्थान : वाराणसी, उत्तर प्रदेश - वाहन चोरों के एक गिरोह को पकड़ने में पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की. पुलिस के अनुसार, प्रेमिका के महंगे शौक पूरे करने और खुद की मौजमस्‍ती और बढ़ते खर्चों के कारणवश वाराणसी के यूपी कॉलेज में पढ़ने वाले इंटर और बीएससी के स्टूडेंट्स वाहन चोर बने. चोर किस कद्र शातिर थे इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने 4 -5 बाइकें नहीं बल्कि 110 बाइकोण पर अपना हाथ साफ किया. गिरफ्तार छात्रों की पहचान पुलिस ने जौनपुर के शिवम सिंह गाजीपुर के अखिलेश यादव, करन सिंह और चंदौली के सुजीत कुमार के रूप में की.

पकड़े गए छात्रों की निशानदेही पर पुलिस ने चोरी की 19 बाइक बरामद की हैं. पूछताछ में अभियुक्तों ने पुलिस को बताया कि परिजनों से जेब खर्च के लिए हर महीने 10,000 रुपया मिलता था, लेकिन गर्लफ्रेंड को फ्लाइट से दिल्‍ली और मुंबई ले जाने और महंगे होटलों में रुककर मौज मस्‍ती के लिए ये लोग बाइक चुरा कर बेचते थे.

2 अक्टूबर 2018 - स्थान : झुंझुनूं - अभी कुछ दिन पहले ही राजस्थान के झुंझुनूं में एक विवाहिता की हत्या का मामला प्रकाश में आया था. मामले पर पुलिस ने जो रिपोर्ट पेश की है यदि उसपर यकीन करें तो विवाहिता की हत्या उसके सगे भतीजे ने की थी जिसने हत्या के कुछ दिन पहले ही अपने सगे ताऊ के घर चोरी की थी.  इस मामले में भी अभियुक्त ने विवाहिता की हत्या क्यों की इसके पीछे की वजह गर्ल फ्रेंड ही थी. युवक अपनी गर्ल फ्रेंड के महंगे शौक पूरे करने के लिए लगातार अलग-अलग वारदातों को अंजाम दे रहा था. युवक ने हत्या से पहले अपने ताऊ के घर पर चोरी की थी और चोरी के 90,000 रुपयों से अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ जयपुर में अय्याशी की थी.

14 सितंबर 2018 - स्थान : दिल्ली - दिल्ली पुलिस की टीम ने सेंधमारी के मामले में तीन शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार आरोपियों की पहचान नीरज उर्फ जुड़ी, राजू और आसिफ अली के रूप में हुई. पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन तीनों ने चोरी की कई वारदातों को सिर्फ इसलिए अंजाम दिया ताकि ये अपनी गर्लफ्रेंड्स के साथ महंगे फ्लैट्स में लिव-इन में रह सकें.

अपनी तमाम जरूरतों को पूरा करने के लिए ये लोग घरों में सेंधमारी करके चोरी करने लगे. पुलिस के अनुसार आरोपी दिन में ई-रिक्शा चलाते थे.दिन में रिक्शा चलाते हुए ये लोग उन घरों की रेकी भी करते थे जहां रात में इन्हें वारदात को अंजाम देना होता था. इनकी निगाह उन घरों पर ज्यादा रहती थी जहां कम लोग रहते हों.

गिरफ्तार, दिल्ली, चोरी, गर्ल फ्रेंड, गूगल, इंजीनियर हम ऐसे तमाम मामले देख चुके हैं जहां गर्ल फ्रेंड के महंगे शौक के लिए लोग अपराध कर रहे हैं

उपरोक्त चारों मामलों में पहला मामला सबसे ताजा है और इसमें आरोपी गूगल का एक इंजीनियर है. जबकि अन्य तीन मामलों में गिरफ्तार लोग छात्र हैं, या फिर रिक्शा चलाने वाले. अब अगर उपरोक्त मामलों को ध्यान से देखें तो इनमें एक चीज कॉमन है. चारों ही मामलों में ये बात निकल कर सामने आ रही है अभियुक्त प्रेम प्रसंग की गिरफ्त में थे. साथ ही या तो वो उनके साथ अय्याशी कर रहे थे. या फिर उनके खर्च पूरे नहीं कर पा रहे थे.

चारों ही मामले देखकर हमारे लिए ये कहना गलत नहीं है कि क्या चिरकुट क्या इंजीनियर बात जब गर्ल फ्रेंड और उसके खर्चों की आती है तो गर्ल फ्रेंड के सामने सब बराबर हैं. चूंकि बात शुरू होने का सबसे प्रमुख कारण एक फाइव स्टार होटल में चोरी की वारदात में गूगल जैसी प्रतिष्ठित कंपनी में काम करने वाले इंजीनियर का नाम आना है. तो कहना गलत नहीं है किअच्छा हुआ गूगल का ये इंजीनियर समय रहते पकड़ लिया गया और इसकी उस गर्ल फ्रेंड से शादी नहीं हुई.

हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि जो सफाई, गिरफ्तार अभियुक्त ने पुलिस में सामने पेश की है उससे साफ पता चलता है कि उसकी गर्ल फ्रेंड शौकीन मिजाज थी. ऐसे में अगर अभियुक्त इंजीनियर की शादी, महिला जोकि उसकी गर्ल फ्रेंड थी, के साथ हो जाती तो उसे न सिर्फ आटे, दाल, ब्रेड, चाय की पत्ती, चीनी और दूध के पैकेट का दाम पता चलते बल्कि उसे लिपस्टिक, लिप बाम, मस्कारा, एंटी एजिंग क्रीम, डियो और परफ्यूम की भी कीमत मालूम हो जाती. अब इस महंगाई के दौर में उन खर्चों को पूरा करने के लिए या तो इंजीनियर और बड़ी वारदात को अंजाम देता या फिर ये सारे खर्चे उसे खुद-ब-खुद आत्महत्या करने के लिए विवश कर देते.

ये भी पढ़ें -

बेरोजगारी-महंगे शौक! अच्छा भला इंजीनियर वाहन चोरों का बॉस बन गया

लाखों अयोग्य इंजीनियरों की फौज खड़ी करने के लिए कौन हैं जिम्मेदार?

दिल्ली की लड़कियां नशे में गाड़ी नहीं चलातीं या पकड़ी नहीं जातीं?

    

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय