होम -> संस्कृति

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 16 दिसम्बर, 2017 12:03 PM
शुभम गुप्ता
शुभम गुप्ता
  @shubham.gupta.5667
  • Total Shares

जब भी आप कोई टीवी चैनल देखते हैं फिर चाहे वो कोई न्यूज़ चैनल ही क्यों न हो या फिर कोई एंटरटेनमेंट चैनल. कंडोम के विज्ञापन आपको कहीं भी दिखाई देंगे. वैसे बॉलीवुड अभिनेत्री और एक्ट्रेस सनी लेओनी के आने के बाद तो ऐसे विज्ञापन आपको खूब दिखाई देते होंगे. कुछ विज्ञापन तो ऐसे भी बनाये गए हैं जिन्हें टीवी पर पूरा नहीं दिखाया जा सकता. इसलिए कंपनी एड ख़त्म होने पर लिखती हैं, आगे क्या हुआ ये जानने के लिए यूट्यूब पर देखें. लोग यूट्यूब पर भी जाकर आखिर उस विज्ञापन को देखते ही है. चलिए खैर ये लोगों की आज़ादी का मसला है. वो जो चाहे देखें.

Condom, Banविज्ञाुपन तो बैन कर देंगे, इंटरनेट को कैसे रोकेंगे?

मगर हमारी सरकार ने कंडोम के विज्ञापनों पर दिन में रोक लगा दी है. सरकार का कहना है कि, 'कंडोम के ऐसे विज्ञापन जो एक खास आयु वर्ग के लोगों के लिए ही हैं और जो बच्चों के देखने लायक नहीं हैं, उनका प्रसारण न किया जाए.' सरकार ने कहा कि यह फैसला उन नियमों पर आधारित है जिनके मुताबिक, 'कोई विज्ञापन जो बच्चों की सुरक्षा को खतरे में डालता हो और गलत बातों में उनकी रुचि पैदा करता हो' उसे इजाजत नहीं मिलनी चाहिए. इस पर वह नियम भी लागू है, जिसके तहत "अशिष्ट, अश्लील, विचारोत्तेजक, घृणित या आक्रामक विषयों" को प्रतिबंधित किया जा सकता है.

 जो बच्चे हैं वो ये विज्ञापन देखकर कोई गलत सीख न लें, इसलिए ऐसे विज्ञापनों पर आईबी मिनिस्ट्री ने रोक लगा दी है. वैसे ये फैसला सनी लेओनी का जो ऐड आया था और उस पर काफी विवाद हुआ था, उसके बाद ही लिया गया है. ये एड नवरात्री के समय आया था और गुजरात में इसका पोस्टर लगाया गया था. पोस्टर में लिखा गया था- 'नवरात्री मनाइये मगर प्रेम से, इस्तेमाल कीजिये ये कंडोम'. जिसके बाद इस विज्ञापन को लेकर काफी विवाद हुआ.

विज्ञापन या अश्लीलता ?

वैसे सरकार का ये फैसला सही भी हो सकता है. कई बार ऐसा होता है कि आप अपने परिवार के साथ कोई न्यूज़ चैनल देख रहे हों और अचानक से सनी लेओनी का एड आ जाये. कई परिवार ऐसे हैं जो शर्मिंदा हो जाते हैं. कंडोम के एड में कोई दिक्कत नहीं है. ये अच्छी बात है कि ज़्यादा से ज़्यादा लोग एड्स, अनचाहे गर्भ या संक्रमण से बचने के लिए कंडोम का इस्तेमाल करें. इसके लिए विज्ञापन ज़रूरी है. मगर यहां तो ऐसा लगता है जैसे अश्लीलता फैलाई जा रही हो.

सनी लेओनी का एड तो आपको याद ही होगा. एक बार उस एड की कुछ लाइन्स लिख देता हूं- ".......चलिए छोड़िये आप एक दफा और   देख ही लीजिये . वैसे इस विज्ञापन को एक करोड़ 11 लाख लोग देख चुके है .

 

 

इसमें कोई दो राय नहीं की इन विज्ञापनों में अश्लीलता है. जिससे बच्चों पर बुरा असर पड़ सकता है.

टीवी पर बैन मगर इंटरनेट का क्या?

सरकार ने टीवी पर दिन में तो विज्ञापन बैन लगा दिया. अब से रात के 10 से लेकर सुबह के 6 बजे तक ही ये विज्ञापन टीवी पर दिखाई देंगे. मगर आज का युग तो इंटरनेट का युग है. सोशल मीडिया पर क्या सरकार ने कुछ सोचा है? सनी लेओनी के कंडोम के ऐड से सरकार को लगता है बच्ची पर इसका बुरा असर पड़ेगा. मगर इंटरनेट पर तो सनी लेओनी का ऐड क्या बल्कि पोर्न फिल्म अपलोड है. वैसे ही जब से देश में जियो ने इंटरनेट फ्री किया है, तब से इंटरनेट चलाने वाले लोगों की तादाद बढ़ गयी है. सरकार उसे लेकर क्या कभी कोई फैसला लेगी? देखते हैं.

ये भी पढ़ें-

कंडोम बेचने से पहले नवरात्रि क्‍या है ये समझ लो...

यूं ही नहीं कोई सनी लियोनी बन जाती है!

सनी से ना जीत पाए तो लोग उनकी बच्ची के पीछे पड़ गए...

Condom, Sunny Leone, Central Government

लेखक

शुभम गुप्ता शुभम गुप्ता @shubham.gupta.5667

लेखक आज तक में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय