होम -> सिनेमा

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 03 जनवरी, 2016 03:27 PM
नरेंद्र सैनी
नरेंद्र सैनी
  @narender.saini
  • Total Shares

चाणक्य के जरिये घर-घर में जाना-पहचाना नाम बने चंद्रप्रकाश द्विवेदी बॉलीवुड में बतौर डायरेक्टर एक बड़ा नाम हैं. उनकी फिल्म पिंजर को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय ख्याति मिली. अब उनकी फिल्म मोहल्ला अस्सी आ रही है. लेकिन उसके आने से पहले यूट्यूब पर फिल्म का ट्रेलर आ गया है. कहा जा रहा है किसी ने लीक कर दिया. गालियों से भरे 2.43 मिनट के इस ट्रेलर ने हंगामा खड़ा कर दिया है. फिल्म के डायरेक्टर चंद्र प्रकाश द्विवेदी ट्रेलर लीक मामले में अपनी राय रखते हैं:

मोहल्ला अस्सी को जिस प्रकार से दुष्प्रचारित किया जा रहा है वह फिल्म को रिलीज़ होने से रोकने का प्रयास है.

जो कुछ अनधिकृत फुटेज में दिखाया जा रहा है– वह दर्शकों को दिग्भ्रमित करने, उत्तेजना और विरोध का वातावरण तैयार करने का एक विकृत प्रयास है. यह अनधिकृत फुटेज मैंने भी आम दर्शकों की तरह एक सम्बन्धी के द्वारा भेजे जाने पर देखा.

फिल्म मोहल्ला अस्सी भारत के प्रसिद्ध लेखक और साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित काशीनाथ सिंह के बहुचर्चित उपन्यास – काशी का अस्सी के “ पांडे कौन कुमति तोहें लागी” पर आधारित है.

कथा का मुख्य चरित्र धर्मनाथ पांडे एक संस्कृत शिक्षक है जो वेदांत पढ़ाता है और सुबह घाट पर बैठकर तीर्थ यात्रियों को गंगा जल देकर संकल्प करवाता है. धर्मनाथ पांडे बनारस में हो रहे सांस्कृतिक प्रदूषण का विरोध कर रहा है. संस्कृत, संस्कृति और संस्कृति की सुरक्षा उसकी चिंताएं है. देश में हो रहे बड़े बदलाव और पांडे के व्यक्तिगत जीवन में आत्म संघर्ष मोहल्ला अस्सी का एक सूत्र है.

फिल्म का एक पात्र एक बहुरुपिया भी है. यह बहुरुपिया शिवजी का रूप बना कर पर्यटकों के साथ फोटो खिंचवाता है और अपनी रोज़ी रोटी कमाता है. घाट पर बैठने वाले धर्मनाथ पांडे से उसकी इसी बात के लिए बार बार तकरार भी होती है. धर्मनाथ पांडे और इस बहुरूपिये में कैसे सामंजस्य होता है – उसके रोचक सूत्र हैं इस कथा – मोहल्ला अस्सी में.

जिसे शिवजी के रूप में देखकर लोग प्रतिक्रिया कर रहे हैं वह महादेव का रूप बनाकर घाट घाट रोजी रोटी के लिए घूम रहा बहुरुपिया है.

फिल्म एक सवाल खड़ा करती है कि जब बनारस और देश में शिव और शिवत्व नहीं रहेगा, तो क्या भारत रहेगा ?

हमारे घरों और जीवन से “शिव” के हो रहे विस्थापन और उसे बचाए रखने के जद्दोजहद की कहानी है – मोहल्ला अस्सी, जिसे कुछ विकृत लोग गलत तरीके से प्रचारित कर रहे हैं

लेकिन, वह ट्रेलर का वीडियो किसने बनाया...चंद्रप्रकाश द्विवेदी दावा कर रहे हैं कि किसी ने फिल्म की छवि खराब करने के लिए ट्रेलर लीक किया है. यह मान भी लिया जाए, लेकिन द्वि‍वेदी जी यह नहीं बता रहे हैं कि ट्रेलर का वीडियो किसने बनाया. द्विवेदीजी के मुताबिक उन्हें नहीं मालूम कि इस ट्रेलर वीडियो को किसने बनाया और रिलीज किया है. जिसमें हर किरदार गाली दे रहा है. प्रमुख किरदार धर्मनाथ पांडे, उसकी पत्नी और शि‍व भी (बहरूपिया ही सही), सभी गाली दे रहे हैं. कौन मानेगा कि इसे किसी ने फिल्म की रिलीज रोकने के लिए षड्यंत्रपूर्वक लीक किया गया है. हां, किसी फिल्म की पब्लि‍सिटी के लिए निर्माताओं को ऐसा करते देखा गया है. हालांकि, द्वि‍वेदी इस फिल्म के निर्देशक हैं और शूटिंग का काम वे 2011 में ही पूरा कर चुके हैं.

लेखक

नरेंद्र सैनी नरेंद्र सैनी @narender.saini

लेखक इंडिया टुडे ग्रुप में सहायक संपादक हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय