होम -> सिनेमा

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 28 सितम्बर, 2019 04:16 PM
पारुल चंद्रा
पारुल चंद्रा
  @parulchandraa
  • Total Shares

हिंदी सिनेमा के इतिहास में कुछ ही फिल्में ऐसी हैं जिन्हें कभी भुलाया नहीं जा सकता. बाहुबली उनमें से एक है. बहुबली 1 और बाहुबली 2 जैसी फिल्में इतनी सफल रहीं कि कुछ लोग अभी तक इसके प्रभाव से बाहर नहीं आ सके हैं. 'कटप्पा ने बहुबली को क्यों मारा' ये कहना दर्शकों ने तो छोड़ दिया है लेकिन कुछ फिल्म मेकर्स ऐसे हैं जो आज भी वहीं अटके हैं.

पहेलियां न बुझाते हुए साफ-साफ बता देते हैं कि Housefull 4 का ट्रेलर आ गया है और उसे देखकर ये लग ही नहीं रहा कि आप Housefull सीरीज की कोई फिल्म देख रहे हैं. यूं लग रहा है जैसे बाहुबली चल रही है. फिल्म में भले ही अक्षय कुमार, रितेश देशमुख और बॉबी देओल हों. लेकिन ट्रेलर में हमें कटप्पा, भल्लाल देव और देवसेना भी नजर आए. फिल्म में कृति सेनन, पूजा हेगड़े और कीर्ति खरबंदा भी हैं. अक्षय इसमें गंजे दिख रहे हैं, रितेश नचनिया बने हुए हैं और बॉबी देओल कुछ भी पहनें एक जैसे ही लगते हैं.

ट्रेलर का काफी समय से इंतजार हो रहा था. लेकिन ट्रेलर आने के बाद लोगों के मुंह उतर गए. कहने को तो ये फिल्म अपनी कहानी की वजह से इंटरटेनिंग दिख रही है लेकिन जिस तरह से इसका फिल्मांकन किया गया है वो सिवाए बाहुबली की नकल के कुछ नहीं लग रहा.

housefull4housefull4 दिवाली पर रिलीज हो रही है

ट्रेलर ने सारी कहानी बता दी है फिर फिल्म में क्या देखेंगे

जी हां, ट्रेलर सिर्फ फिल्म की झलकी होता है और अक्सर ट्रेलर में एक सस्पेंस छोड़ा जाता है जिससे फिल्म देखने का क्रेज रहे. लेकिन हाउसफुल का 3.36 मिनट का ट्रेलर देखकर आपको पूरी फिल्म की कहानी पता चल जाती है.

1419 में सितमगढ़ नाम की सलतनत में तीन राजकुमारी और तीन राजकुमार, यानी 6 प्रेमी किसी साजिश के तहत अलग हो गए थे. लेकिन 2019 में उन्होंने कहीं और जन्म लिया लेकिन इस बार अलग-अलग प्रेमिकाओं के साथ. इनमें से एक अक्षय कुमार जिसे भगवान सदियों पुराने जन्म के बारे में अचानक से बता देते हैं. वो सबको बताता है कि वो पिछले जन्म में कौन था और किस लड़की के साथ था. हालांकि जिस तरह समझाया जा रहा है उसे confusing होने का दावा किया जा रहा है लेकिन सब कुछ साफ साफ है.

सोशल मीडिया पर तो रिजेक्ट कर दी गई है हाउसफुल 4

कहानी में कॉमेडी उसी स्तर की है जैसी हाउसफुल फिल्मों में होती आई है. हंसी कम फूहड़ता ज्यादा. और इसपर भी साजिद खान का 'अयययय...' भी है, कसम से बड़ा वाहियात लगता है. जिसे रंजीत बार-बार बोलते नजर आते हैं.

housefull4इन किरदारों के जरिए दिलचस्पी बढ़ाने की कोशिश की गई है

फिल्म में जॉनी लीवर का महिला का किरदार निभाना, चंकी पांडे और रितेश देशमुख का नचनिया वाला किरदार और नवाजुद्दीन सिद्दीकी का 'अपुन को लगता है अपुन इच भगवान है' वाला लुक जरूर कुछ लोगों को अच्छा लग सकता है. कुल मिलाकर कहें तो इस फिल्म को पसंद करने के लिए आपको इसके एक्टर्स का फैन होना जरूरी है. बाकी फैसला तो सोशल मीडिया पर सुनाया ही जा चुका है.

फिल्म के ट्रेलर पर ढेरों मीम बनाए जा रहे हैं.

क्यों लगा कि बाहुबली देख रहे हैं

बाहुबली जैसी फिल्म में दिखाया गया हर एक फ्रेम ऐसा था जैसे किसी चित्रकार ने बड़ी मेहनत से उसे रचा हो. एक एक सीन में कला झलकती थी. लेकिन इस फिल्म से हाउसफुल के निर्देशक इतने ज्यादा प्रभावित हो गए कि हाउसफुल को भी बाहुबली की कॉपी बनाने लगे. कैरेक्टर का लुक हो या कोई खास सीन, हर चीज में नकल की गई है. और इसे हम तो प्रेरणा नहीं कह सकते.

युद्ध के दृश्य हूबहू बाहुबली जैसे. यूं लगा जैसे निर्देशक को कुछ करना ही नहीं पड़ा हो. सिर्फ कॉपी पेस्ट.

housefull4युद्ध जैसा बाहुबली में दिखाया गया थासेट भी उसी तरह बनाए गए हैं जैसे बाहुबली में थे. इन्हें देखकर क्या आपको बाहुबली की याद नहीं आती?

housefull4भव्य सेट और बड़े बड़े हाथी बाहुबली में भी दिखाई दिए थे

कटप्पा का लुक अक्षय कुमार को दिया गया है जो बाला देव सिंह का किरदार निभा रहे हैं. यहां तक कि उन्हें तलवार लेकर भागते देखकर आपको कैसे कटप्पा की याद नहीं आएगी.

housefull4कटप्पा से इतनी प्रेरणा

देवसेना ने दिस तरह एक धनुष से चार-चार तीर एक साथ चलाए थे उसी तरह से कृति सेनन भी तीरंदाजी करती दिख रही हैं. अब इसे नकल कहें कि नहीं?

housefull4चार तीर एकसाथ चलाना कैसे भुलाया जा सकता है

बाहुबली में भल्लाल देव का करिदार राना दग्गुबत्ती ने निभाया था. लेकिन यहां उनकी नकल नहीं बल्कि उन्हीं को लाया गया है. राना दग्गुबत्ती का लुक भी भल्लाल देव जैसा ही लगता है.

housefull4राना दग्गुबत्ती भल्लाल देव के गेटअप में लेकिन थोड़े ज्यादा खतरनाकनिर्देशन में एक निर्देशक की कला दिखाई देती है, लेकिन इस फिल्म में नकल करने की ही कला दिखाई दी है. पहले साजिद ही इस फिल्म को डायरेक्ट कर रहे थे लेकिन मीटू की वजह से उन्हें फिल्म से बाहर कर दिया गया. लेकिन इसमें साजिद खान न होते हुए भी दिखाई दे रहे हैं. इसलिए फरहद सामजी का निर्देशन सिवाए खानापूर्ति के कुछ नहीं लगा. सिर्फ एक ही चीज उन्होंने अच्छी की है, और वो है नकल. बाकी तो फिल्म में वही है जैसा हाउसफुल की पिछली फिल्मों में था.

ये भी पढ़ें-

The Family Man ने पेश किया भारत के खुफिया तंत्र और सिक्‍योरिटी का कड़वा सच

जयललिता बनने के लिए कंगना का चैलेंज सुपर-30 वाले हृतिक रोशन जैसा

दादा साहब फालके और अमिताभ बच्‍चन: पुरस्कार और कलाकार की गोल्डन जुबली का संयोग!

Housefull4 Trailer, Housefull4 Trailer Release, Akshay Kumar

लेखक

पारुल चंद्रा पारुल चंद्रा @parulchandraa

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय