होम -> सिनेमा

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 12 फरवरी, 2019 05:46 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

अमिताभ बच्चन और तापसी पन्नू की फिल्म बदला का ट्रेलर आ गया है. Red Chillies के बैनर तले बनी इस फिल्म में एक बार फिर अमिताभ और तापसी की हिट जोड़ी पर्दे पर आ रही है. एक बार फिर बदला फिल्म में अमिताभ वकील बने हैं और तापसी पर कोर्ट केस चल रहा है. पर ये फिल्म पिंक से कुछ अलग है. बदला के ट्रेलर को देखकर ये बात समझ आती है कि इस फिल्म में एक बेहतरीन सस्पेंस स्टोरी मिलने वाली है.

अमिताभ का कैरेक्टर भले ही वकील का हो, लेकिन इस बार कुछ अलग है और ये किरदार किसी से डरने वाला नहीं है.

अमिताभ सहमा हुआ वकील नहीं है-

फिल्म पिंक में अमिताभ का कैरेक्टर था एक रिटायरमेंट के करीब खड़े वकील दीपक का. 'बदला' फिल्म में अमिताभ का कैरेक्टर एक सफल वकील बादल गुप्ता का है जो 40 साल के अपने करियर में कोई केस नहीं हारा. अब वो तापसी का केस उसी शिद्दत के साथ लड़ रहा है और जीतने के लिए वो वकीलों की दुनिया का जेम्स बॉन्ड भी बन सकता है.

बदला ट्रेलर, बदला फिल्म, अमिताभ बच्चन, तापसी पन्नूतापसी पन्नू और अमिताभ बच्चन की फिल्म देसी जेम्स बॉन्ड जैसी है

तापसी का रोल पिंक नहीं ग्रे है-

तापसी इस फिल्म में पूरी तरह से निर्दोश नहीं दिखाई देतीं. जैसे पिंक में दिखाई दी थीं. वो इस फिल्म में अलग रोल निभा रही हैं. वो एक कमरे में पाई जाती हैं जहां उनके एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर वाले ब्वॉयफ्रेंड का कत्ल हुआ है और पैसों से भरा एक बैग भी वहां मौजूद है. तापसी के हाथ खून से सने हुए हैं, उन्हें कोई फंसाने की कोशिश कर रहा है या वाकई तापसी खुद खूनी हैं, या कोई और राज़ है इसका पता तो फिल्म देखने के बाद ही चलेगा.

सीधे-सीधे फेमिनिज्‍म नहीं, कुछ सस्‍पेंस थ्रिलर है-

पिंक में फेमिनिज्म अहम मुद्दा था और ये कि महिलाएं इंडिपेंडेंट भी हो सकती हैं और सही भी, लेकिन बदला में किसी तरह के फेमिनिज्म की बात नहीं दिख रही है. बदला फिल्म में तो अमिताभ बच्चन और तापसी किसी मर्डर मिस्ट्री का हल निकाल रहे हैं. तापसी पन्नू अपने फेमिनिज्म के लिए नहीं बल्कि अपने आप को बेगुनाह साबित करने के लिए लड़ रही हैं.

सुजॉय घोष की कहानी एक बार फिर-

सुजॉय घोष एक ऐसे डायरेक्टर हैं जो थ्रिलर फिल्में बेहतर तरीके से बना सकते हैं. सुजॉय घोष की फिल्म कहानी एक ऐसी थ्रिलर थी जिसके अंत तक उसकी असलियत नहीं जाए पाए थे हम. इसके अलावा, शॉर्ट फिल्में अनुकूल, अहिल्या भी अवॉर्ड विनिंग थ्रिलर थीं. सुजॉय घोष इस बार भी ऐसी ही अनोखी फिल्म लेकर आ रहे हैं.

बदला फिल्म में बेहद रोचक अंदाज में एक मर्डर मिस्ट्री बुनी गई है. ट्रेलर के खत्म होते-होते ऐसा लग रहा था कि काश इसके बारे में पता चल जाए कि आखिर खूनी कौन है और कौन तापसी को फंसाने की कोशिश कर रहा है. लेकिन ऐसा भी हो सकता है कि तापसी खुद ही खूनी हों और खुद को बचाने की कोशिश कर रही हों.

बात जो भी हो, लेकिन बदला फिल्म एक बेहद अनोखी थ्रिलर होने वाली है. कम से कम ट्रेलर और सुजॉय घोष के पुराने रिकॉर्ड को देखकर तो यही लगता है. 8 मार्च को इस फिल्म के रिलीज होने का इंतजार जरूरी किया जाएगा.

ये भी पढ़ें-

आलिया भट्ट भले ही 'निर्दोष' हैं, लेकिन कंगना भी दोषी नहीं हैं

राहुल गांधी पर बायोपिक बनाने गए 'My name is RaGa', बन गई 'बेचारा RaGa'

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय