होम -> टेक्नोलॉजी

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 30 अप्रिल, 2017 02:25 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

एक वॉट्सएप मैसेज कितना खतरनाक साबित हो सकता है ये आप कश्मीर में तैनात जवानों से पूछिए. वहां स्टोन पेल्टर्स (पत्थर फेंकने वाले) के लिए 300 से ऊपर वॉट्सएप ग्रुप बनाए गए थे जिनकी मदद से ऐसी वारदातों को अंजाम दिया जाता था. एक वॉट्सएप मैसेज कितना खतरनाक हो सकता है ये सीरिया वालों से पूछिए जहां ISIS के बाशिंदे वॉट्सएप का इस्तेमाल करके आतंक फैला रहे हैं.

वॉट्सएप पर वायरल हुआ एक मैसेज कितना खतरनाक हो सकता है इसके बारे में आपको शायद अंदाजा भी ना हो. सोशल मीडिया पर अक्सर दुनिया भर के मैसेज वायरल होते रहते हैं. वॉट्सएप मैसेज को खतरनाक मानकर ही कुछ दिन पहले वाराणसी के कमिशनर ने ऑर्डर दिया था कि वॉट्सएप ग्रुप पर कोई भी मैसेज जाता है तो उसके लिए ग्रुप एडमिन जिम्मेदार होगा. हालांकि, इसका फैसला करना बहुत मुश्किल है कि कौन वॉट्सएप पर वायरल हो रहे कंटेट के लिए जिम्मेदार है, लेकिन फिर भी वॉट्सएप पर अंजाने में भी अगर आप ऐसे किसी भी विवादित मैसेज का हिस्सा बन जाते हैं तो आपके लिए खतरा हो सकता है.

वॉट्सएपवॉट्सएप ग्रुप पर भेजे गए मैसेज से तो खास तौर पर सावधान रहना चाहिए

जाने माने साइबर क्राइम एड्वोकेट पवन दुग्गल के अनुसार इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट की धारा 66A के अनुसार ऐसे कई कारण हैं जो सोशल मीडिया पर अनजाने में किए जाते हैं फिर भी आपको जेल की हवा खिलाने के लिए काफी हैं. इनमें वॉट्सएप मैसेज भी शामिल हैं.

क्या करना है खतरनाक-

1. वॉट्सएप या फेसबुक पर कम्युनल मैसेज फॉर्वर्ड करना जिससे किसी को खतरा हो या किसी भी धर्म या जाति की भावनाओं को ठेस पहुंचे. या कोई दंगा भड़क जाए.

2. अगर आप कसम खाते हैं या किसी के नाम पर गाली देते हैं तो उसे भी मानहानी के तहत माना जाएगा. सोशल मीडिया पर किसी को ऐसा कुछ कहा है जो आपके कैरेक्टर पर सवाल उठाता है तो आप आईटीएक्ट 2000 के सेक्शन 66A के सबसेक्शन a के तहत उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकते हैं.

3. कुछ भी ऐसी बात या मैसेज जिससे किसी इंसान की मानहानी होती है, रेप्युटेशन को नुकसान पहुंचता है उसे भी कानूनी माना जाएगा. किसी भी इंसान के बारे में कोई झूठी अफवाह फैलाना (वॉट्सएप या फेसबुक पर गॉसिप करना जिससे कैरेक्टर पर उंगली उठ सकती हो) भी साइबर क्राइम के अंतरगत आता है.

4. बेइज्जती करने वाले शब्द या सिम्बल ऐसे जिससे कैरेक्टर को कोई नुकसान हो या सार्वजनिक तौर पर किसी इंसान की छवि खराब हो ऐसे शब्द भी डिफेमेशन माने जाएंगे.

5. सोशल मीडिया या वॉट्सएप पर अगर कोई गालियां दे रहा है तो उसे भी साइबर क्राइम की श्रेणी में रखा जा सकता है.

6. किसी की आपत्तीजनक फोटो फेसबुक पर डालना या किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए वायरल करना भी साइबर क्राइम के अंतरगत आता है. अगर आप वॉट्सएप पर कोई फोटो फॉर्वर्ड करते हैं जिसके बारे में आपको पता ना हो तो या फिर जानकर आप किसी की गलत फोटो वायरल कर रहे हैं तो भी आपको जेल हो सकती है.

इसमें फोटो मॉर्फ करना भी शामिल है. किसी भी इंसान की फोटो मॉर्फ करना या फिर किसी और के जरिए मॉर्फ की गई फोटो वायरल करना भी इस कैटेगरी में आता है.

इस कैटेगरी में वो तस्वीरें भी आती हैं जिनमें किसी को कैंसर बताया जाता है तो किसी को रेलवे स्टेशन पर खोया हुआ बच्चा, ऐसी तस्वीरें आधी से ज्यादा फेक होती हैं.

वॉट्सएपआजकल साइबर क्राइम का एक अहम हिस्सा वॉट्सएप बन गया है

7. किसी को वॉट्सएप, फेसबुक या किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर धमकी देना भी आपको भारी पड़ सकता है. ये सबूत के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है. अगर आपने ऐसी कोई बात कही है तो सामने वाला इंसान इसे आधार बनाकर आपके खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकता है.

इसमें किसी की काली करतूत को जगजाहिर करने की धमकी भी शामिल होती है. इसके अलावा, और कई बातें शामिल हैं जैसे कि अगर आप किसी को जान से मारने की धमकी देते हैं तो उसे सीरियस क्राइम माना जाएगा.

8. किसी भी धर्म के भगवान की तस्वीरें गलत तरीके से वायरल करना या उनके बारे में कोई झूठा फैक्ट बताना भी साइबर क्राइम माना जाएगा. धार्मिक तस्वीरों को वॉट्सएप पर शेयर करने से खास तौर पर बचना चाहिए.

9. ईमेल या मैसेज जिसमें कोई भी झूठी जानकारी हो ऐसा मैसेज करने से भी जेल की हवा खा सकते हैं आप. इसके अलावा, पोर्नोग्राफिक मटेरियल, ऑनलाइन चीटिंग आदि भी साइबर क्राइम में शामिल है.

सिर्फ ये 9 ही नहीं ऐसे कई और क्लॉज हैं आईटी एक्ट में जिनके कारण आपको परेशानी उठानी पड़ सकती है. भले ही आप ऐसा सोचें कि वॉट्सएप पर भेजा एक छोटा मैसेज क्या बिगाड़ लेगा, लेकिन ऐसा है नहीं.

 ये भी पढ़ें-

नोकिया 3310 की कीमत का खुलासा लेकिन एक बड़ा सस्‍पेंस बाकी है...

ऐसा हो सकता है आईफोन 8, लीक हुई फोटो

Whatsapp, Social Media, Facebook

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय