होम -> स्पोर्ट्स

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 14 अगस्त, 2020 09:02 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल भारत में फेस्टिवल से कम नहीं है, जिसे हर प्रांत के लोग एक महीने से ज्यादा समय तक सेलिब्रेट करते हैं. लेकिन कोरोना संकट से इस बार आईपीएल को भी टाल दिया और जैसे पूरी दुनिया कोरोना संकट के खत्म होने का इंतजार कर रही है, उसी तरह क्रिकेट के महाकुंभ आईपीएल 2020 के शुरू होने का लोगों को बेसब्री से इंतजार है. अब कोविड 19 से दुनिया तो थमेगी नहीं, ऐसे में भले भारत में न सही, विदेश में तो आईपीएल हो ही सकता है. ऐसे में इंडियन प्रीमियर लीग गवर्निंग काउंसिल ने बीते दिनों भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों से विचार-विमर्श करने के बाद आईपीएल को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कराने का फैसला किया, जो कि आईपीएल और क्रिकेटरों के देश दुनिया के करोड़ों फैंस के लिए खुशखबरी है. अगर कोरोना ना आता तो अप्रैल-मई में आईपीएल 2020 आयोजित होने वाला था.

आईपीएल 2020 अब 19 सितंबर से 10 नवंबर के बीच दुबई, शारजाह और अबु धाबी स्थित क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा, जहां आईपीएल की 8 टीमें एक-दूसरे से मुकाबला करती दिखेंगी. हालांकि इस बार आईपीएल पूरी तरह अलग अंदाज में दिखेगा, जहां स्टेडिटम में क्रिकेटर्स तो होंगे, लेकिन दर्शक नहीं रहेंगे. दर्शक अब अपने मोबाइल या टीवी पर पहले की तरह घर बैठे मैच का आनंद उठाते नजर आएंगे. इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के दौरान चेन्नई सुपरकिंग्स, देल्ही कैपिटल्स, किंग्स इलेवन पंजाब, कोलकाता नाइट राइडर्स, राजस्थान रॉयल्स, मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाड़ी मैदान पर अपनी प्रतिभा और किस्मत का प्रदर्शन करते दिखेंगे. हालांकि इस बार आईपीएल फैंस कोरोना की वजह से बहुत कुछ मिस करने वाले हैं, जिन्हें हम आपको पॉइंट्स में बताने जा रहे हैं.

बदला-बदला दिखेगा हर नजारा

इस बार यूएई में आईपीएल बायो सिक्योर एनवायरनमेंट में खेला जाएगा, जहां कर्मचारी स्टेडियम के अंदर एक-एक इंच को सेनिटाइज करेंगे और ये सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी तरह से कोरोना संक्रमण के खतरे को टाला जाए. साथ ही मैच के दौरान प्लेयर, अंपायर और मीडिया से लेकर सभी जरूरी लोगों की सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाएगा, जिसके लिए कुछ कड़े दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, जिन्हें हर किसी को पालन करना होगा. बीते दिनों इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट मैच के दौरान कोविड 19 प्रोटोकॉल तोड़ने के आरोप में जोफ्रा आर्चर को दूसरे टेस्ट मैच से निकाल दिया गया था. दरअसल, जोफ्रा आर्चर खिलाड़ियों के लिए जरूरी बायो सिक्योर बबल्स से बाहर निकलकर अपने घर चले गए थे, जिसकी वजह से उन्हें 5 दिन के लिए आइसोलेशन में डाल दिया गया था. अब आईपीएल 2020 के दौरान सैकड़ों खिलाड़ियों को इसी बायो सिक्योर बबल्स में रहना होगा और कड़े दिशा-निर्देशों का पालन करना पड़ेगा. ऐसे में उनके घूमने और मस्ती करने के साथ ही फैमिली से भी दूर रहना पड़ेगा, ताकि किसी को संक्रमण का खतरा न हो.

स्टेडियम खाली, न दर्शक और न ही चियरलीडर्स

क्रिकेट हो या अन्य कोई भी खेल, बिन दर्शक सब सूना लगता है. लेकिन अब कोरोना काल में स्पोर्ट्स मैच बिना दर्शक के देखने की आदत खिलाड़ियों के साथ ही लोगों को भी डाल लेनी होगी. जिस तरह यूरोप में बीते 2 महीने से बायो सिक्योर एनवायरनमेंट में बिना किसी दर्शक के फुटबॉल मैच हो रहे हैं, इसी तरह अब दुबई, शारजाह और अबु धाबी में होने वाले आईपीएल मैच के दौरान भी स्टेडियम से दर्शक और चियरलीडर्स नदारद रहेंगे. ऐसे में खिलाड़ी भी अब शांत माहौल में चौके-छक्के के साथ विकेट चटकाते दिखेंगे. दरअसल, कोविड 19 एक ऐसी समस्या के रूप में पिछले 8 महीने से दुनिया पर कब्जा कर बैठी है कि कुछ भी सामान्य नहीं हो रहा. हालांकि, यूएई अथॉरिटी की आईपीएल गवर्निंग काउंसिल से बातचीत हुई है कि जरूरत पड़ने पर सभी सुरक्षा उपायों का पालन करते हुए कुछ दर्शक स्टेडियम में भेजे जा सकते हैं. इसपर फैसला आना बाकी है.

NEWS: #VIVOIPL 2020 to commence on 19th September, final to be played on 10th November. More details 👉 https://t.co/vpM45FAnUQ pic.twitter.com/KnE48kDW1i

बायो सिक्योर एनवायरनमेंट में क्रिकेट मैच

आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि ये बायो सिक्योर एनवायरनमेंट क्या है? दरअसल, यह कोरोना मुक्त वातावरण हैं, जहां संक्रमण के किसी भी खतरे से निपटकर एक ऐसा वातावरण बनाया जाता है, जहां लोग मास्क और सैनिटाइजर के बिना भी खुली हवा में सांस ले सकते हैं और क्रिकेट या अन्य स्पोर्ट्स खेल सकते हैं. यूरोप में फुटबॉल हो या, ब्रिटेन में इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच, सभी बायो सिक्योर एनवायरनमेंट में खेले जा रहे हैं. इसके तहत खिलाड़ियों को निर्देश दिया जाता है कि वे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और किसी से भी फ्रेंडली मिलने से बचे. साथ ही उन्हें एक निश्चित गाड़ी में होटल से स्टेडियम और फिर स्टेडियम से होटल छोड़ा जाता है. खिलाड़ियों को किसी से भी बिना जरूरी मिलने की मनाही होती है. साथ ही उनके बेवजह बाहर घूमने पर भी प्रतिबंध रहता है. ऐसे में दर्शक अपने फेवरेट स्टार को सिर्फ क्रिकेट मैच या प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ही देख सकेंगे और उन्हें मस्ती करते देखना शायद इस साल संभव नहीं है. बायो सिक्योर एनवायरनमेंट एक तरह से सुरक्षा कवच की तरह होता है, जहां हर खिलाड़ी विशेष दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सावधानियां बरतता है. मैच से पहले स्टाफ स्टेडियम और आसपास के इलाके को अच्छी तरह सैनिटाइज करते हैं और सुनिश्चित करते हैं कि किसी तरह के संक्रमण का खतरा न हो.

खिलाड़ी ड्रेसिंग रूप के साथ ही दर्शक दीर्घा में भी

कोरोना संकट काल में सोशल डिस्टेंसिंग एक प्रमुख हथियार है. ऐसे में आईपीएल 2020 मैच के दौरान आपको ड्रेसिंग रूप में एक ही जगह खिलाड़ियों की मस्ती नहीं दिखेगी और वे ड्रेसिंग रूप के साथ ही स्टेडियम में भी इधर उधर बैठे नजर आएंगी. ऐसा इसलिए किया जाएगा कि एक ही जगह खिलाड़ियों की भीड़ न दिखे. चाहे स्टाफ हों या प्लेयर, सभी को सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन करना पड़ेगा. वहीं अगर किसी खिलाड़ी को चोट लगती है तो मेडिकल स्टाफ पीपीई किट पहनकर खिलाड़ी के पास जाएंगे और उनकी जांच करेंगे. बीसीसीआई इसके लिए यूएई की मेडिकल अथॉरिटी और प्रशासन के संपर्क में है कि देश में कोविड 19 की स्थिति कैसी है और आईपीएल कैसे सुरक्षित माहौल में कराया जाए. फिलहाल बीबीसीआई के पास एक महीने से ज्यादा का समय है और माना जा रहा है कि इस एक महीने में स्थिति बेहतर हो, ताकि खिलाड़ियों के साथ ही अन्य स्टाफ को आईपीएल के दौरान दिक्कत न हो. अगर किसी खिलाड़ी के शरीर का तापमान ज्यादा दिखता है तो उसे तत्काल आइसोलेशन में डाल दिया जाएगा.

क्रिकेटरों के साथ मस्ती करते न शाहरुख दिखेंगे, न ही प्रीति

आईपीएल 2020 के दौरान दर्शक सबसे ज्यादा जो चीज मिस करेंगे, वो है मैच के दौरान होने वाली मस्ती. आईपीएल की खासियत ही यही है कि यहां स्पोर्ट्स के साथ ही ग्लैमर का भी जलवा दिखता है. बड़े-छोटे फिल्म स्टार और शानो-शौकत दिखाते आईपीएल फ्रेंचाइज के मालिक इस बार आईपीएल मैच के दौरान शांत दिखेंगे. दर्शकों को स्टेडियम में न शाहरुख खान का फिल्मी अंताज दिखेगा और न ही मैच के बाद प्रीति जिंटा की खिलाड़ियों को देने वाली झप्पी. अगर कोई भी टीम मालिक या सिलेब्रिटी किसी स्पोर्ट्सपर्सन से मिलते हैं तो इस बार उन्हें 7 दिन के लिए आइसोलेट कर दिया जाएगा और छठे एवं सातवें दिन नेगेटिव रिपोर्ट जमा कराने के बाद ही बायो सिक्योर बबल्स के अंदर आने दिया जाएगा. मैच से पहले टॉस हो या पोस्ट मैच सेरेमनी, किसी भी मौके पर खिलाड़ी अपने साथी खिलाड़ियों से हाथ मिलाते या गले लगते नहीं दिखेंगे. मैच के बाद सीमित मीडियाकर्मियों को ही प्रजेंटेनशन के दौरान स्टेडियम के अंदर जाने की अनुमति मिलेगी.

IPL 2020, IPL 2020 Schedule, When Will IPL 2020 Star?

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय