होम -> समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 24 अगस्त, 2019 04:45 PM
पारुल चंद्रा
पारुल चंद्रा
  @parulchandraa
  • Total Shares

फैशन इंडस्ट्री का सबसे बड़ा त्योहार यानी Lakme Fashion Week चल रहा है. जहां भारत के जाने माने फैशन डिजाइनर्स अपने शानदार कलेक्शन को मॉडल्स के जरिए दुनिया के सामने लाते हैं. फैशन वीक में दिखाए जाने वाले ये कपड़े न सिर्फ फैशन जगत में डिजाइनर्स की क्रिएटिविटी दिखाते हैं बल्कि आने वाले समय में फैशन का मिजाज किस तरह का रहने वाला है उसके संकेत भी देते हैं.

यहां आने वाले ज्यादातर डिजाइनर्स वो हैं जिनके कपड़े उनके नाम से बिकते हैं. अगर डिजाइनर सब्यसाची या Manish Malhotra जैसे हों और उनके कपड़े कोई सेलिब्रिटी पहन ले तो वही आज का फैशन बन जाता है. लेकिन इस बार लैक्मे फैशन वीक की शुरुआत में ऐसा कुछ देखने को मिला जिसे देखकर ये सवाल खड़ा हो गया कि हमारे देश की महिलाएं अब फैशन के हिसाब से चलेंगी या फिर अपने दिल की सुनेंगी?

lakme fashion weekमनीष मल्होत्रा के ब्राइडल कलेक्शन का ये रंग आंखों को खटक रहा है

फैशन वीक के पहले दिन Manish Malhotra ने अपना bridal collection उतारा. जिसकी शो स्टॉपर थीं Katrina Kaif. फैशन जगत में मनीष मल्होत्रा और कैटरीना कैफ की खूब तारीफ की गई. लेकिन एक चीज तब भी खटक रही थी, जिसपर शायद किसी का ध्यान नहीं गया. मनीष मल्होत्रा के ब्राइडल कलेक्शन में जो कई रंग और डिजाइन के लहंगे दिखे, लेकिन जो लहंगा कैटरीना कैफ ने पहना हुआ था उसका रंग काला था.

कहने को तो सभी रंग खूबसूरत होते हैं और दुल्हन का जोड़ा भी बहुत से रंगों का हो सकता है. लेकिन भारतीय शादियों में लाल रंग को शुभ माना जाता है. और काला रंग अशुभ. लाल रंग सुहाग का होता है. इसीलिए दुल्हन के सभी ऋंगार लाल रंग से होते हैं जैसे- सिंदूर लाल, माथे की बिंदिया लाल, हाथों की मेहंदी लाल, आलते का रंग भी लाल, इसलिए दुल्हन के कपड़े भी लाल या लाल से मिलते जुलते होते हैं. लाल के अलावा महरून और पिंक लहंगे सबसे ज्यादा चलन में होते हैं. सुहाग के रंगों की मान्यता की वजह से कई जगह तो इस बात का खास ख्याल रखा जाता है कि दुल्हन के कपड़ों में कहीं भी काला या उससे मिलता जुलता रंग न हो.

लेकिन बदलते वक्त का असर रीति रिवाजों पर ही नहीं दुल्हन के कपड़ों पर भी पड़ा. आज के जमाने की दुल्हन सबसे खूबसूरत भी लगना चाहती हैं और सबसे अलग भी. और इसीलिए वो अपने पहनावे में कई एक्सपेरिमेंट कर रही हैं. खासकर शादी के लहंगे के रंगों पर. आज आप दुल्हन के जोड़े बेहद अलग रंगों में देख सकते हैं. जैसे पीला, नीला, हरा, बैंगनी, आदि. ये अलग हैं इसलिए खूबसूरत भी लगते हैं.

bridesलाल रंग को धीरे-धीरे विदा कर रही हैं आज की दुल्हनें

लेकिन आज से पहले कभी भी दुल्हन के लहंगे का रंग काला नहीं देखा गया. इसका कारण हमारी मान्यताएं ही रही हैं. मनीष मल्होत्रा के ब्राइडल कलेक्शन में और भी कई रंग थे जो चटक नहीं थे. सभी सोबर थे. लेकिन उन सभी रंगों में काला रंग आखों को खटक रहा था क्योंकि बात ब्राइडल क्लेक्शन यानी दुल्हन के कपड़ों की हो रही थी. निसंदेह कैटरीन कैफ इन कपड़ों में बहुत खूबसूरत लग रही थीं, उन्हें और मनीष मल्होत्रा को इसके लिए खूब तारीफ भी मिली. लेकिन सवाल यही है कि दुल्हन के लिए काले रंग के लहंगे को डिजाइन करते वक्त मनीष मल्होत्रा ने क्या सोचा होगा.

माना वक्त बदल गया है लेकिन क्या वक्त ने काले रंग से जुड़ी 'अशुभ' वाली सोच भी बदल दी है? क्या अपनी शादी के जोड़े के साथ एक्सपेरिमेंट करने वाली महिलाएं काले रंग को भी लाल रंग की तरह अपना पाएंगी? फैशन को अहमियत देने वाली लड़कियां क्या शादी की मान्यताओं को किनारे रख काले रंग का जोड़ा पहनने का रिस्क लेंगी? मुझे नहीं लगता कि आज का फैशन भारतीय परंपराओं और मान्यताओं को इस कदर बदलने का माद्दा रखता है. अगर दुल्हन के लिए काले रंग का जोड़ा फैशन है, तो ये फैशन यहां तो चलने नहीं वाला. आपको क्या लगता है?

ये भी पढ़ें-

सांप डरावने हैं, लेकिन उन्हें पहनने का फैशन तो निकृष्ट है

फैशन डिजाइनर की नजर एक कामवाली बाई पर पड़ी, और फिर...

Katrina Kaif, Fashion, Bride

लेखक

पारुल चंद्रा पारुल चंद्रा @parulchandraa

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय