होम -> समाज

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 12 अक्टूबर, 2020 10:38 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

'फैन' बड़ा प्यारा शब्द है. फैन आप किसी के भी हो सकते हैं. मगर जान लीजिए फैन होना इतना भी आसान नहीं है. किसी का फैन होने में जहां एक तरफ शिद्दत की दरकार होती है तो वहीं इसके लिए कुर्बानी भी चाहिए. व्यवहारिक जीवन में फैन क्या होता है गर जो इस बात को समझना हो तो हम बीते साल में आई शाहरुख खान की फ़िल्म 'फैन' का अवकोलन कर सकते हैं. अपने फेवरेट के प्रति एक फैन की शिद्दत क्या होती है जैसा शाहरुख खान ने अपनी फिल्म के जरिये बताया वो अपने में बेमिसाल था. फैन और फेवरेट की बात हुई है तो सवाल होगा कि हमारे जहन में ये बात क्यों आई? वजह है अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) और तेलंगाना (Telangana) का एक किसान बुस्सा कृष्णा राजू (Bussa Krishna Raju).

Donald Trump, Melania Trump, Coronavirus, Diseae, Fan, Telanganaट्रंप को कुछ इस तरह से पूजते थे बुस्सा

बुस्सा कृष्णा राजू इस दुनिया में नहीं है. फिर सवाल हो सकता है कि आखिर उसे हुआ क्या ? तो वजह था अमेरिका के राष्ट्रपति और उनकी पत्नी का कोरोना की चपेट में आना. बात थोड़ी पेंचीदा और उलझाने वाली है मगर जो होना था वो हो गया है. दरअसल डोनाल्ड ट्रंप का कोरोना की चपेट में आना बुस्सा की जान का दुश्मन बन गया. बताते चलें कि तेलंगाना के किसान बुस्सा के लिए ट्रंप भगवान से कम नहीं थे और दीवानगी का आलम कुछ यूं था कि बुस्सा गुजरे 4 सालों से ट्रंप की पूजा कर रहे थे.

जैसे ही खबर आई कि ट्रंप कोरोना की चपेट में आए हैं इस बात ने बुस्सा को खूब आहत किया. कहने वालों ने तो ये तक कह दिया कि अमेरिका के राष्ट्रपति को कोरोना हुआ है इस खबर ने बुस्सा की रातों की नींद और दिन का चैन चुरा लिया और उन्हें गहरे अवसाद में डाल दिया.

बताया जा रहा है कि ट्रंप की बीमारी के बाद से ही तेलंगाना के किसान बुस्सा न तो ठीक से खा रहे थे. न ही सो रहे थे. और न ही किसी से बात कर रहे थे. बुस्सा के भाई ने जानकारी देते हुए बताया है कि जिस दिन बुस्सा का देहांत हुआ उस दिन बुस्सा ने चाय पी और अपने दैनिक काम किये मगर उसने ये भी शिकायत की कि उसकी तबीयत नहीं ठीक है और इसी बीच उसे दिल का दौरा पड़ गया और उसकी मौत हो गयी.

भाई के अनुसार बुस्सा ट्रंप का हद से ज्यादा दीवाना था और उनके लिए कुछ भी कर सकता था. शायद आपको सुनकर हैरत हो लेकिन बुस्सा ने अपने घर के बाहर ट्रंप की विशाल प्रतिमा लगवाई थी जिसकी आरती और पूजा अर्चना उसकी जिंदगी का रोज का हिस्सा था. इसके अलावा बुससा के घर में जगह जगह ट्रंप के पोस्टर और फ्रेम लगे हैं जिनकी देख रेख भी बुस्सा खुद ही करता था.

पूरे मामले में सबसे दिलचस्प ये था कि बुस्सा ने ट्रंप के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए पूजा के अलावा व्रत भी रखा था. बीमारी के बाद बुस्सा के परिजन उन्हें अस्पताल ले गए जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी. मौत की वजह दिल का दौरा पड़ना था. 

गौरतलब है कि बुस्सा सोशल मीडिया पर एक लोकप्रिय शख्स था. ऐसे तमाम वीडियो सोशल मीडिया के अलावा यूट्यूब पर मौजूद हैं जिनमें हम  भीगी पलकों के साथ बुस्सा को ट्रंप की सलामती की दुआ करते हुए देख सकते हैं. आखिर बुस्सा ट्रंप का दीवाना क्यों बना इसकी भी वजह खासी मजेदार है. बात चार साल पुरानी है ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे. एक दिन बुस्सा ने अपने दोस्तों को बताया कि ट्रंप उनके सपने में आए और उनसे कई जरूरी बातें की. उस दिन के बाद से बुस्सा की पूरी ज़िन्दगी बदल गई और ट्रंप की भक्ति ही उनके जीवन का एकमात्र मकसद हो गया.

भले ही इसे दीवानापन कहा जाए लेकिन बुस्सा की ट्रंप भक्ति व्यर्थ नहीं गई. चूंकि बुस्सा की ये भक्ति और ट्रंप के प्रति मोह जंगल की आग की तरह फैला था इसलिए इस बात ने बुस्सा के गांव को अंतरराष्ट्रीय ख्याति भी दी और देश दुनिया की मीडिया की नजर बुस्सा के इस छोटे से गांव पर पड़ी. बुस्सा की बस एक =इच्छा थी कि वो कैसे भी करके अमेरिकी राष्ट्रपति से मिल ले मगर अब जबकि उसकी मौत हो गई है उसकी ये इच्छा अधूरी रह गयी है.

एक ट्रंप फैन की मौत ने एक बार फिर सोशल मीडिया पर सरगर्मियां तेज कर दी हैं. ट्रंप के फैन जहां उसकी आत्मा की शांति के लिए दुआएं कर रहे हैं वहीं जो विरोधी हैं वो बुस्सा के ट्रंप प्रेम को मूर्खता और इस तरह मरने को इसी मूर्खता की पराकाष्ठा बता रहे हैं.

आइये नजर डालें सोशल मीडिया का और देखें कि बुस्सा की मौत के बाद किस तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं आम और खास लोग. 

सोशल मीडिया पर लोग इसे एक बुरी खबर बता रहे हैं. साथ ही उनका ये भी कहना है कि भारत के तमाम राष्ट्रवादियों को बुस्सा से प्रेरणा लेनी चाहिए.

ट्रंप का फ़ैन बुस्सा भले ही आज हमारे बीच न हो लेकिन उसने सोशल मीडिया पर एक बज तो पैदा कर दिया है. भले ही लोग बुस्सा की आलोचना करें लेकिन इस बात में भी कोई शक नहीं है कि किसी का 'फैन' बनने के मामले में बुस्सा ने एक लाइन खींच दी है और किसी अन्य फैन का उससे बड़ी लाइन खींचना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है.

ये भी पढ़ें -

Corona Warrior: आरिफ खान का जनाजा जा रहा है, नफरती लोगों जरा रास्ते से हट जाओ!

तो क्या मान लें कि अर्थव्यवस्था अब पटरी पर आने की राह पर चल पड़ी है?

Covid-19 treatment: कोरोना को हराने वाले बता रहे हैं विटामिन कितना कारगर हथियार है

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय