होम -> समाज

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 25 अप्रिल, 2018 07:56 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

आसाराम को पॉक्सो एक्ट के तहत चल रहे 2013 के नाबालिग रेप केस में आजीवन कारावास की सज़ा हुई है. फैसला जोधपुर कोर्ट ने दिया है. ये फैसला देने के लिए जोधपुर जेल को ही चुना गया जहां आसाराम कैद थे. सुरक्षा कड़ी कर दी गई और आखिर न्याय हो ही गया.

आसाराम मामले से पहले मुझे लग रहा था कि पैसा और पावर कानून व्यवस्था पर असर डाल सकते हैं और वो लोग जो थोड़े भी पावरफुल हैं उन्हें तो कोई सज़ा नहीं हो सकती. सच पूछिए तो मैं 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के रेप पर फांसी वाले फैसले से खुश तो बहुत हुई थी, लेकिन इसके उपयोग और अमल को लेकर मुझे संदेह था. दरअसल, इस मामले में मैं भी उन सभी हिंदुस्तानियों की तरह सोचती हूं जिन्हें लगता है कि भारत में न्याय व्यवस्था में इतना भ्रष्टाचार बढ़ गया है कि किसी भी कानून को बना लेने भर से कोई असर नहीं होगा.

आसाराम बापू, रेप केस, जोधपुर कोर्ट, आसाराम, दोषी, वकील, जेल

पर आज मेरी इस सोच पर कानून ने ही ताला लगा दिया है. जिस जज ने आसाराम को सज़ा सुनाई उसने कहा कि ऐसा आदमी जेल से बाहर नहीं निकलना चाहिए. यकीनन अभी तक तो ऐसा ही माना जाता था कि जज अपने फैसले दबाव में आकर ले सकते हैं, लेकिन आसाराम को छुड़वाने के मामले में शुरू से लेकर इतना पॉलिटिकल प्रेशर रहा है और इतने विरोध हुए हैं पर कभी भी जजों में या पुलिस में कोई भी ऐसा नहीं रहा कि आसाराम की छवि के कारण अपना काम करने से टले हों.

ये वो केस है जिसके तीन गवाहों को मार दिया गया और अन्य पर हमले हुए, ये वो केस है जिसमें वकीलों की फौज खड़ी कर दी गई, ये वो केस है जिसमें राम जेठमलानी, सुब्रमणियन स्वामी, सलमान खुर्शीद जैसे वकील भी कुछ नहीं कर पाए, ये वो केस है जिसमें बड़े-बड़े नेताओं का हुजूम भी बस यही बोलता रह गया कि आसाराम बेगुनाह हैं और उन्हें फंसाया जा रहा है. पर आखिरकार फैसला आया और लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई (कुछ अभी भी उदास हैं और कानून को गालियां दे रहे हैं पर इसका कुछ नहीं किया जा सकता.)

जिस आसाराम ने 10 हज़ार करोड़ की संपत्ति बनाई और फिर देश के नामी गिरामी वकीलों के साथ कोर्ट में इस रेप केस को चुनौती दी और हार गया. वो केस जहां लाखों भक्त, चंद गवाहों के पीछे पड़ गए, जहां लाखों लोगों ने दंगा तक करने की कोशिश की और फिर भी कानून को नहीं हिला सके. ऐसे में यकीनन मेरा यकीन कानून व्यवस्था पर थोड़ा बढ़ गया है.

जोधपुर कोर्ट के इस फैसले के बाद उम्मीद जगी है कि जम्मू के कठुआ जिले में 8 साल की बच्ची के साथ हुए गैंगरेप मामले में भी न्याय होगा. इस गैंगरेप के आरोपियों में एक पुलिसवाला भी शामिल है. बच्ची के साथ मंदिर में गैंगरेप करने की बात सामने आई थी. जब क्राइम ब्रांच पुलिस इस मामले की चार्जशीट फाइल करने कोर्ट पहुंची तो वहां वकीलों ने पुलिस वालों को रोकने की कोशिश की और जय श्री राम के नारे लगाए. इस केस में जम्मू-कश्मीर पुलिस की जांच पर भी सवाल उठ रहे हैं. मामला इतना बड़ा होने के बावजूद जोधपुर कोर्ट का फैसला उम्मीद जगाता है कि न्याय होगा और दोषियों को सजा मिलेगी.

आसाराम बापू, रेप केस, जोधपुर कोर्ट, आसाराम, दोषी, वकील, जेलकोर्ट में चार्जशीट फाइल करने गई पुलिस को वकीलों ने रोकने की कोशिश की.

एक ऐसी ही उम्मीद जगी है उत्तर प्रदेश के उन्नाव में नाबालिग से रेप के मामले में. इस मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सवाल वही है कि इतने रुतबे वाले शख्स पर आरोप तो लग गया, लेकिन क्या वह सिद्ध हो पाएगा. कुलदीप सेंगर के समर्थन में एक शांति मार्च भी निकाला गया है, जिसमें हजारों लोग अपने हाथों में 'हमारा विधायक निर्दोष है' नारों के बैनर लेकर दिखाई दिए. मामले का पूरा सच पूरी छानबीन के बाद ही सामने आएगा, लेकिन पूरी उम्मीद है कि इस मामले में भी न्याय होगा.

आसाराम बापू, रेप केस, जोधपुर कोर्ट, आसाराम, दोषी, वकील, जेलइलाके के लोग कुलदीप सेंगर के समर्थन में 'हमारा विधायक निर्दोष है' के बैनर दिखा रहे हैं.

मुझे परवाह नहीं कि अभी भी कितने लोग आसाराम को बचाने में लगे हुए हैं, या फिर कितने लोग ट्वीट कर अपना विरोध जता रहे हैं इस मामले में पर मेरा मानना ये है कि लोग हैं बोलेंगे ही, लेकिन कानून भी कोई चीज़ है. अंध भक्ति को छोड़ दिया जाए तो ये फैसला उन सभी लोगों के लिए खुशी ही लेकर आया है जो हर बलात्कारी को सज़ा दिलाना चाहते हैं. ये फैसला उन सभी बलात्कारियों के लिए सबक भी साबित हो सकता है जिन्हें लगता है कि पैसा और पावर के कारण वो बच जाएंगे. कम से कम ये फैसला आने के बाद एक उम्मीद जागी है कि शायद अब रेप पीड़ितों को न्याय मिलेगा और 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से रेप के मामले में फांसी का जो फैसला अभी लिया गया है वो सही साबित होगा. और उसे लागू भी बेहतर तरीके से किया जाएगा.

ये भी पढ़ें-

आसाराम को अपनी सजा के बारे में पहले से पता था! तभी तो...

बलात्कारी आसाराम और मोदी के पुराने फोटो पर नया बवाल - कांग्रेस ने ट्वीट किया वीडियो

Asaram Bapu, Rape Case, Jodhpur Court

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय