होम -> सियासत

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 18 अगस्त, 2019 06:36 PM
बिजय कुमार
बिजय कुमार
  @bijaykumar80
  • Total Shares

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में एक किसान परिवार में जन्मे रामेश्वर गुर्जर का नंगे पैर दौड़ने का वीडियो आजकल सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. जिस किसी ने इस वीडियो को देखा वह रामेश्वर की रफ़्तार का कायल हो गया. इस वीडियो में चूने से 100 मीटर तक की मार्किंग नजर आ रही है और मात्र 11 सेकंड के इस वीडियो में रामेश्वर अपने स्टार्टिंग पॉइंट से 100 मीटर दौड़ की फिनिशिंग लाइन को पार कर जाता है.

अब केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू का ध्यान भी इस तरफ गया है. उन्होंने इस वीडियो को देखने के बाद ट्वीट किया. खेल मंत्री ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ट्विटर पर टैग करते हुए लिखा, "शिवराज जी, किसी से कहें कि इसे मेरे पास ले आए. मैं उसे एक एथलेटिक एकेडमी में रखने का इंतजाम करूंगा." दरअसल, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने धावक रामेश्वर गुर्जर को अच्छा मौका और मंच दिलवाने के लिए ट्विटर के जरिए खेल मंत्री किरण रिजिजू से समर्थन मांगा था.

मध्य प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी भी रामेश्वर गुर्जर से प्रभावित हैं उन्होंने भी उसे भोपाल बुलाया था और बेहतर ट्रेनिंग देने की बात कही है.

आर्थिक रूप से कमजोर परिवार में पैदा हुए रामेश्वर ने 10 वीं कक्षा तक की पढ़ाई की है. इसके परिवार में माता-पिता और पाँच भाई-बहन हैं और पूरा परिवार खेती करता है. अपने लिए सरकार की ओर से आ रहे ऑफर्स पर रामेश्वर ने कहा कि वो पिछले 4-5 सालों से दौड़ की तैयारी कर रहा है और उसे देश के लिए मेडल जीतना है. उसने यह भी कहा कि सरकार की तरफ से बेहतर ट्रेनिंग सुविधाएं मुहैया कराने का भरोसा मिला है और वो उनके विश्वास को नहीं तोड़ेगा.

अभी हाल ही में हमने देखा था कि कैसे लता मंगेशकर का फेमस ट्रेक 'एक प्यार का नगमा है' गाकर गरीबी के साए में किसी तरह गुजर बसर करने वाली रानू मंडल रातों रात स्टार बन गयीं. दरअसल सोशल मीडिया पर उनकी आवाज लोगों को इतनी भायी कि मानो उस महिला की जिंदगी ही बदल गई और वह अब किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं.

कह सकते हैं कि सोशल मीडिया ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ अगर कोई ट्रोल हुआ तो उसकी शामत आ जाती है तो वहीँ अगर सोशल मीडिया पर किसी की तारीफ शुरू हुई तो उसे आम से खास बनने में देर नहीं लगती.

ये भी पढ़ें-

भारत में मुसलमानों की बढ़ती आबादी से जुड़े सारे मिथक अब टूट जाएंगे

रक्षा-संबल : कहानी जो बताती है कि कैसे भाई बहन का रिश्ता तमाम रिश्तों से बड़ा है

श्वेता तिवारी को कोसना बंद कीजिए, वो रियल लाइफ में भी हीरो हैं

लेखक

बिजय कुमार बिजय कुमार @bijaykumar80

लेखक आजतक में एसोसिएट प्रोड्यूसर हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय