होम -> सियासत

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 23 मई, 2019 11:29 AM
प्रवीण मिश्रा
प्रवीण मिश्रा
  @PraveenMishraAstrologer
  • Total Shares

2019 के लोकसभा परिणाम हमारे सामने हैं और तमाम बातों को दरकिनार कर प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं. बात साफ है यानी भाग्य मोदी का पूरा साथ दे रहा है.अब क्योंकि बात मोदी के भाग्य पर आई है तो हमारे लिए पीएम मोदी की कुंडली को देखना और उसका अवलोकन करना बहुत जरूरी है. मोदी की कुंडली में जो ग्रह नक्षत्रों की दशा है उसने इस बात का एहसास करा दिया है कि बहुत लम्बे समय तक वो अपराजेय हैं और उन्हें हराना विपक्ष के लिए टेढ़ी खीर होगा.

पीएम नरेंद्र मोदी की वृश्चिक लग्न की कुंडली है और वृश्चिक राशि है. वृश्चिक राशि का चिह्न बिच्छू है. बिच्छू को बहुत संवेदनशील माना जाता है. बिच्छु के बारे में मशहूर है कि ये किसी के आने की आहट पा कर छुप जाता है. यानी ये बात खुद-ब-खुद इस बात को साबित करती नजर आ रही है कि जहां एक तरफ वृश्चिक राशि वाले लोग पूरी गोपनीयता के साथ काम करते हैं. तो वहीं वो अपनी बातों को सबसे साझा करने से भी बचते हैं.

अब जब हम इस बात को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सन्दर्भ में देखें तो चाहे वो नोटबंदी रही हो या फिर सर्जिकल स्ट्राइक 1 और 2 किसी को कानों कान इस बात की भनक नहीं लगी कि मोदी ऐसा कुछ करने वाले हैं. जब उन्होंने ये सभी चीजें की तो लोगों ने हैरत के चलते दांतों तले अंगुली दबा ली और ये कहा कि देश की लीडरशिप मजबूत हाथों में है.

नरेंद्र मोदी, कुंडली, लोकसभा चुनाव 2019, भाजपा, राहुल गांधी पीएम मोदी की कुंडली बता रही है कि उनका अच्छा टाइम चल रहा है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सरप्राइजिंग फैक्टर कितना प्रबल है? इसे हम हम उस बात से भी समझ सकते हैं जब उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा ने बम्पर जीत दर्ज की. बात सूबे के मुख्यमंत्री की आई तो तमाम नाम प्रस्तावित हुए और बाद में योगी आदित्यनाथ सूबे के मुखिया की कुर्सी पर बैठे. नरेंद्र मोदी के इस फैसले ने लोगों को खूब आश्चर्य में डाला. इसी तरह 2019 के आम चुनाव में लोगों को इसी आश्चर्य की अनुभूति तब हुई जब कई महत्वपूर्ण लोगों को हटाकर भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा को भोपाल से अपना प्रत्याशी चुना.

बिच्छु के बारे में कहा जाता है कि, बिच्छू जब चलता है तो पूरे आत्मविश्वास के साथ चलता है. साथ ही ये अपनी चाल और बनावट से लोगों को प्रभावित करता है. ये बात भी पीएम मोदी पर बिल्कुल फिट बैठती है. पीएम मोदी के आलोचक भी इस बात पर सहमत हैं कि उनका ऑरा और लोगों को प्रभावित करने का ढंग कमाल का है.

वृश्चिक राशि वाले लोग गंभीर और निडर होते हैं. जैसा प्रधानमंत्री का रवैया है कहा जाता है कि वो अहम फैसले लेते वक़्त बिल्कुल भी घबराते नहीं हैं. यदि आज मसूद अजहर UNSC की वैश्विक आतंकियों की लिस्ट में है तो उसका एक बड़ा कारण मोदी को माना जाता है. जो चीन कभी मसूद अजहर के समर्थन में था प्रधानमंत्री मोदी के ही कारण मसूद के विरोध में आया और आज नतीजा हमारे सामने हैं. वृश्चिक राशि वालों के कार्य व्यवहार में आत्मविश्वास झलकता है. वृश्चिक राशि वाले लोग हर काम डंके की चोट पर करना चाहते हैं. ऐसे लोग बिना आडंबर और दिखाबे के बड़े से बड़ा काम करने में सफल होते हैं.

वृश्चिक राशि वाले लोग जो एक बार ठान लेते हैं उसे पूरा करने के लिए कठोर परिश्रम करने से घबराते नहीं हैं. इस बात के लिए हम कांग्रेस और जवाहरलाल नेहरू का उदाहरण ले सकते हैं. पीएम मोदी ने इनके साथ क्या किया वो हमारे सामने हैं. वृश्चिक राशि के लोगों के अन्दर बदला लेने की भावना प्रबल होती है. ये अपने दुश्मन को आसानी से छोड़ते नहीं हैं. आप ने देखा होगा बिच्छू जिसको काटता है उस पर बिच्छू के डंक का असर काफी समय तक रहता है. नरेंद्र मोदी के सन्दर्भ में हम इसे राहुल गांधी के "चौकीदार चोर है" के अभियान से समझ सकते हैं.

अपनी अलग अलग रैलियों में राहुल ने खुद को चौकीदार कहने वाले नरेंद्र मोदी को चोर कहा था. नरेंद्र मोदी ने उस बात को लेकर जिस तरह से राहुल से बदला लिया है, खुद इस बात को साफ कर देता है कि शायद उस चीज को लेकर आज भी राहुल को सपने आते और डराते हों.

नरेंद्र मोदी, कुंडली, लोकसभा चुनाव 2019, भाजपा, राहुल गांधी कुछ यूं दिख रही है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली

वृश्चिक राशि वालों से उनके दुश्मन सामना करने से घबराते हैं. इनका आत्मविश्वास दुश्मन को हराने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है. वृश्चिक राशि के लोग अपने आत्मविश्वास के दम पर असंभव को संभव कर दिखाते हैं और जीवन में अपना लक्ष्य पाने में कामयाब होते हैं. कोई भी कठिन से कठिन कार्य यदि ये अपने हाथ में लेते हैं तो पूरे समय पर पूरा करने के लिए पूरा जोर लगा देते हैं और अपनी आसाधारण इच्छा शक्ति के दम पर जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं.

नरेंद्र मोदी जी के अंदर भी ऐसे ही आसाधरण गुण है नरेंद्र मोदी कठोर परिश्रम करके अपना लक्ष्य हासिल करने में कामयाब होते हैं चाहे वो तीन तलाक का मुद्दा रहा हो या फिर जीएसटी, देश की आंतरिक सुरक्षा सभी चीजों पर जिस कुशलता से नरेंद्र मोदी ने काम किया है वो हमरे सामने है.

ज्योतिषी आधार पर यदि नरेंद्र मोदी की कुंडली का गहन विश्लेषण किया जाए तो मोदी जी की वृश्चिक लग्न की कुंडली है. फ़िलहाल कुंडली में चंद्रमा की महादशा चल रही है जो दिसंबर 2020 तक चलेगी और शुक्र की अंदरदशा चल रही है जो जून 2020 तक चलेगी. चंद्रमा मोदी की कुंडली में भाग्य स्थान का स्वामी है और लग्न में लग्नेश मंगल के साथ बैठा हुआ है. यानि भाग्येश और लग्नेश साथ-साथ बैठे हुए हैं.

भाग्येश की महादशा भी चल रही है. शुक्र नरेंद्र मोदी जी की कुंडली में सातवें घर और बारहवें घर का स्वामी और दसवें घर में शनि के साथ बैठा हुआ है. ग्रहों की स्थिति ये संकेत देती है की नरेंद्र मोदी जी का समय अच्छा है. लोकसभा चुनाव 2019 में भी नरेंद्र मोदी जी ने कठोर परिश्रम किया है और उसका अच्छा परिणाम भी देखने को मिलेगा.

ये भी पढ़ें -

Exit Poll 2019: मुस्लिम वोटरों ने भाजपा के प्रति दिलचस्प रवैया रखा

मध्य प्रदेश-कर्नाटक सरकारों की जान लोकसभा चुनाव नतीजों पर अटकी है

Exit poll 2019: पांचवें चरण में राहुल-सोनिया समेत इन 10 उम्मीदवारों का भाग्य लिखा जा चुका है !

Loksabha Election 2019, Loksabha Election Results 2019, Loksabha Election 2019 Exit Poll

लेखक

प्रवीण मिश्रा प्रवीण मिश्रा @praveenmishraastrologer

लेखक ज्योतिषाचार्य हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय