होम -> सियासत

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 20 जुलाई, 2018 11:07 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

30 साल बाद देश में कोई पूर्ण बहुमत पाने सरकार को भी आखिर अविश्‍वास प्रस्‍ताव का सामना करना पड़ गया. शुक्रवार सुबह 11 बजे शुरू हुई लोकसभा की कार्यवाही रात 11 बजे तक चली. तेलुगू देशम पार्टी की ओर से रखे गए अविश्‍वास प्रस्‍ताव को लेकर पक्ष-विपक्ष ने तीखे आरोप-प्रत्‍यारोप किए. माहौल में तब सरगर्मी बढ़ गई जब राहुल गांधी भाषण देने उठे. उन्‍होंने प्रधानमंत्री मोदी पर हर तरफ से वार किया. उम्‍मीद की जा रही थी कि अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी इस पर जबर्दस्‍त पलटवार करेंगे. और वैसा ही हुआ. पेश है सदन की कार्यवाही का सिलसिलेवार ब्‍यौरा :

10:50 PM - प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी योजनाओं और उपलब्धियों का वर्णन करते हुए विपक्ष के अविश्‍वास प्रस्‍ताव को खारिज करने का आग्रह किया. साथ ही उन्‍होंने विपक्ष से भी आग्रह किया कि वे 2024 में जरूर फिर अविश्‍वास प्रस्‍ताव लेकर आएं.

10:35 PM - बैंकों के एनपीए का सारा मलबा पूर्व की कांग्रेस सरकार पर डालते मोदी ने पाई-पाई गिना दी. उन्‍होंने एक-एक आंकड़े के साथ बताया कि कैसे कांग्रेस सरकारों ने देश की बैंकों में जमा पैसे को अनुपयोगी लोन में बदला है. उन्‍होंने देश के कर्ज में कमी लाने की जानकारी दी.

10:25 PM - जो टीडीपी केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाई है, उससे मुखातिब होते हुए मोदी ने हमलावर रुख जारी रखा. उन्‍होंने मीडिया रिपोर्टों का हवाला देते हुए कहा कि पहले उनके नेता केंद्र के पैकेज की प्रशंसा करते हुए उसे स्‍पेशल राज्‍य के पैकेज से बेहतर मानते थे. अब वे ही उसकी आलोचना कर रहे हैं. मैं बताना चाहता हूं कि वे राज्‍य की राजनीति में वायएसआर के जाल में फंस रहे हैं. और निशाना केंद्र की एनडीए सरकार पर साध रहे हैं.

10:05 PM - राहुल गांधी ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि वे उनसे आंख नहीं मिला पा रहे हैं. इस पर अपने भाषण में मोदी ने जबर्दस्‍त चुटकी ली. पहले तो उन्‍होंने कहा कि वे पिछड़े परिवार से आते हैं ऐसे में उनके जैसे 'नामदार' से आंख मिलाने की हैसियत कहां. लेकिन थोड़ी ही देर बाद उन्‍होंने कहा कि वैसे आपकी आंख का कमाल तो लोग दोपहर से टीवी पर देख रहे हैं.

9:50 PM - अपनी सरकार के दौरान हुए कामकाज और उपलब्धियों को गिनाते हुए प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं कि मैं भगवान शिव से और 131 करोड़ रु. भारतीयों से प्रार्थना करता हूं कि वे 2024 में भी कांग्रेस को अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाने का अवसर दें.

9:31 PM - प्रधानमंत्री मोदी का भाषण दस मिनट ही चला. जिसमें वे विपक्ष के बीच की खेमेबाजी पर कटाक्ष कर रहे थे, तभी तेलुगू देशम पार्टी के सदस्‍य सदन के बीच में आ गए. उनकी वहां बीजेपी के कुछ सदस्‍यों से झड़प हो रही है.

9:20 PM - 

न मांझी, न रहबर, न हक में हवाएं

है कश्‍ती भी जर्जर, ये कैसा सफर है.

मोदी ने फुलफॉर्म में अपने भाषण की शुरुआत कर दी है.

8:25 PM - असम के बदरुद्दीन अजमल (AIUDF) ने जिस तरह से अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर भाषण दिया, उसे सुनकर कहा जा सकता है कि वे अपनी गुजारिशों की लिस्‍ट लेकर आए थे. और गुहमंत्री को 'राजनाथ भाई साहब' कहकर अपने फरियाद सुनाकर चले गए. बदरुद्दीन का भाषण दिखा रहा था कि विपक्ष को पूरा अंदाजा था कि इस अविश्‍वास प्रस्‍ताव से सरकार का कुछ बिगड़ने वाला नहीं है.

8:14 PM - आम आदमी पार्टी के भगवंत मान ने मुंह खोलते ही बीजेपी पर हमला बोलते हुए उसी सांस में दिल्‍ली के एलजी को भी निशाने पर ले लिया. उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री एलजी ऑफिस में 9 दिन तक उनसे मुलाकात के लिए बैठे रहते हैं, लेकिन उन्‍हें 9 मिनट का भी समय नहीं दिया जाता. आखिर ये कैसा लोकतंत्र है.

8:00 PM - टीडीपी सांसद राममोहन नायडू ने आंध्र प्रदेश की स्‍थानीय समस्‍याओं पर ध्‍यान आकर्षित किया है. साथ ही उन्‍होंने विशाखापट्टनम-चेन्‍नई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के लिए कोई पैसा न देने की बात कही. वे पूरे समय प्रधानमंत्री को कोसते रहे.

7:50 PM - संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान जिस तरह से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाए हैं, पूरी उम्मीद है कि प्रधानमंत्री मोदी उसी अंदाज में जवाब भी देंगे. जो मुद्दे राहुल गांधी ने उठाए हैं, उसमें जुमलेबाजी के अलावा रफैल विमान सौदे में भ्रष्‍टाचार, किसानों के ऋण माफ न करना, उद्योगपतियों से सांठगांठ, देशभर में हो रही लिंचिंग की घटनाओं पर चुप्‍पी साधे रखना शामिल है. राहुल गांधी ने अपना भाषण पूरी तरह चुनावी अंदाज में बनाए रखा. लेकिन भाषण खत्‍म करने के बाद जो हुआ, उसने पूरे घटनाक्रम में तड़का लगा दिया. राहुल प्रधानमंत्री की सीट पर जाकर जबर्दस्‍ती उनसे गले मिले. और फिर लौटकर आने के बाद वे जिस तरह से अपने साथियों के साथ आंख मारकर हंसते रहे.

प्रधानमंत्री मोदी को फॉलो करने वाले अच्‍छी तरह जानते हैं कि वे छोटी-छोटी बात भी गांठ बांधकर रख लेते हैं. पूरा देश रोमांचित है यह जानने के लिए कि आखिर मोदी राहुल को किस तरह जवाब देंगे. (इस कहानी का अगला अपडेट जल्‍दी)

      नरेंद्र मोदी, भाजपा, राहुल गांधी, अविश्वास प्रस्ताव पूरा देश इन्तेजार कर रहा है कि पीएम राहुल के सवालों का क्या जवाब देंगे.

ये भी पढ़ें -

कहीं मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाकर विपक्ष खुद तो नहीं फंस गया !

राहुल गांधी ने 'मुस्लिम पार्टी' पर मोदी को बीजेपी स्टाइल में ही जवाब दिया है

यह अविश्वास प्रस्ताव राहुल के लिए विश्वास जगाने का अच्छा मौका है

No Confidence Motion, Rahul Gandhi, Narendra Modi

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय