होम -> सियासत

बड़ा आर्टिकल  |  
Updated: 31 मई, 2019 06:12 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

मोदी सरकार की दूसरी पारी की शुरुआत हो चुकी है. नवनिर्वाचित मंत्रियों के साथ मोदी पहली कैबिनेट बैठक (Modi cabinet meeting) कर ली है. गुरुवार को मोदी समेत सभी मंत्रियों ने शपथ ली और शुक्रवार को ये भी साफ हो गया कि किसे कौन सा मंत्रालय दिया जा रहा है. नई व्यवस्था में सबसे अधिक चर्चा में 5 लोग हैं. राजनाथ सिंह, अमित शाह, स्मृति ईरानी, निर्मला सीतारमण और प्रतात चंद्र सारंगी. अब अमित शाह भाजपा के अध्यक्ष नहीं रहे, बल्कि वह देश के गृहमंत्री बन चुके हैं, वहीं रक्षा मंत्री का पदभार पूर्व गृहमंत्री राजनाथ सिंह के कंधों पर होगा.

इस नई सरकार में वित्त मंत्री अरुण जेटली नहीं हैं. उन्होंने अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए पहले ही खुद को इससे बाहर कर लिया था. ऐसे में वित्त मंत्रालय का भार अब पूर्व रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण उठाएंगी. सबसे अधिक चर्चा स्मृति ईरानी और प्रताप चंद्र सारंगी की हो रही है. ईरानी की इसलिए क्योंकि उन्होंने राहुल गांधी के गढ़ में जाकर उन्हें मात दी है, जबकि सारंगी की चर्चा इसलिए हो रही है क्योंकि वह एक छोटी सी झोपड़ी में रहने वाला सामान्य इंसान हैं, जो अब केंद्रीय मंत्री बन चुके हैं. आइए देखते हैं लोग इनके बारे में सोशल मीडिया पर क्या बातें कर रहे हैं-

Twitter reactions on Amit Shah, Rajnath Singh, Smriti Irani, Nirmala Sitaraman and Pratap Chandra Sarangiराजनाथ सिंह, अमित शाह, स्मृति ईरानी, निर्मला सीतारमण और प्रतात चंद्र सारंगी पर सोशल मीडिया पर खूब बातें हो रही हैं.

अमित शाह: गृह मंत्री

मोदी सरकार की नई सरकार में अमित शाह को गृह मंत्री बनाया गया है. ट्विटर पर लोग उन्हें बधाई दे रहे हैं और साथ ही ये भी मान रहे हैं कि अब देश में एक बड़ा बदलाव आएगा. एक यूजर ने तो ये भी कहा है कि अब हम आतंकवाद, पाकिस्तान, घुसपैठ, नक्सलवाद, अरबन नक्सलवाद जैसी भारत को परेशान करने वाले खत्म हो जाएंगे. ये एक अंत की शुरुआत है. कई तो अरविंद केजरीवाल को ये बोल-बोलकर चिढ़ा रहे हैं कि अब दिल्ली पुलिस अमित शाह के अधीन होगी.

मिनाज मर्चेंट ने लिखा है- अमित शआह ने गुजरात में गृहमंत्री रहते हुए आतंकवाद की कमर तोड़ दी. गृहमंत्री रहते हुए वह वाड्रा, नेशनल हेराल्ड, चिदंबरम और अन्य के खिलाफ एंटी करप्शन केस फिर से खोलेंगे और साथ ही नक्सल, पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद और जम्मू-कश्मीर का मुद्दा सुलझाने की कोशिश करेंगे.

एक यूजर ने लिखा है- उन लोगों के लिए इमरजेंसी अलर्ट, जो कश्मीर में पत्थर फेंक रहे हैं, भारत में घुसे बांग्लादेशी, नक्सलवादी, गैर-कानूनी तरीके से पैसे लेने वाले एनजीओ. सभी अपना बोरिया बिस्तर बांध लें, भारत को नया सरदार पटेल अमित शाह के रूप में मिल गया है.

निर्मला सीतारण: वित्त मंत्री

वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी निर्मला सीतारण को दिए जाने पर एक ट्विटर यूजर ने लिखा- देश की दूसरी महिला रक्षा मंत्री बनने के बाद, निर्मला सीतारण देश की दूसरी महिला वित्त मंत्री बनी हैं. इससे पहले ये पोर्टफोलियो इंदिरा गांधी को मिला था, जो देश की पीएम भी थीं.

ट्विटर पर इस बात को लेकर भी बहस हो रही है कि निर्मला सीतारमण देश की पहली महिला वित्त मंत्री हैं या दूसरी. दरअसल, इससे पहले इंदिरा गांधी भी वित्त मंत्रायल संभाल चुकी हैं. हालांकि, इंदिरा गांधी ने पीएम पद पर होते हुए अतिरिक्त भार के तौर पर वित्त मंत्रालय संभाला था, जबकि निर्मला सीतारमण पूर्ण कालिक वित्त मंत्री नियुक्त की गई हैं. ऐसे में बहस ये हो रही है कि ऊपर कौन, निर्मला सीतारमण या फिर इंदिरा गांधी.

एक यूजर ने तो ट्वीट किया है कि 'अगर जिंदगी में आपको जेएनयू जाने का मौका मिले, तो निर्मला सीतारमण और एस जयशंकर जैसा बनना, कन्हैया कुमार और शेहला राशिद जैसा मत बनना.'

राजनाथ सिंह: रक्षा मंत्री

एक यूजर ने राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्रालय मिलने पर कहा है कि 'राजनाथ सिंह जी, मुझे उम्मीद है कि सेना आपको कभी कड़ी निंदा करने का मौका नहीं देगी.' एक अन्य यूजर ने लिखा है- अगर आपने राष्ट्रपति भवन के नोटिफिकेशन पर गौर किया हो तो राजनाथ सिंह अभी भी नंबर-2 पर हैं. इससे पहले इंदिरा गांधी के समय में वित्त मंत्री के तौर पर प्रणब मुखर्जी दूसरे नंबर पर थे.

ऐसा नहीं है कि राजनाथ सिंह के रक्षा मंत्री बनने से सभी खुश हैं. इस फैसले नाराज एक यूजर ने ट्वीट किया है- 'नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह ने पहले ही राष्ट्रीय सुरक्षा को एक मजाक बना दिया है और इस बार ये दोनों ऐसा ही करेंगे.'

एक अन्य यूजर ने ट्वीट करके लिखा कि 'अमित शाह गृह मंत्री के तौर पर उस काम को पूरा करेंगे, जो स्वर्गीय सरदार भाई पटेल ने अधूरा छोड़ दिया था', जिस पर एक दूसरे यूजर ने जवाब दिया कि 'दिक्कत सिर्फ एक है कि कड़ी निंदा के विशेषज्ञ राजनाथ सिंह भारत ने नए रक्षा मंत्री हैं.'

स्मृति ईरानी: महिला एवं बाल विकास और कपड़ा मंत्रालय

इस बार के लोकसभा चुनाव में मोदी-शाह के बाद अगर किसी की सबसे अधिक चर्चा हो रही है तो वह हैं स्मृति ईरानी. राहुल गांधी के गढ़ अमेठी में उन्होंने जीत का परचम लहराया है. भाजपा के प्रवक्ता तजेंदर पाल सिंह बग्गा ने तो उन्हें अमेठी की शेरनी तक कह दिया है. शपथ ग्रहण समारोह में उन्होंने गायिका आशा भोंसले की मदद की. आशा भोंसले ने ट्वीट करते हुए लिखा है- प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह के बाद मैं भीड़ में फंस गई थी. स्मृति ईरानी के अलावा किसी ने भी मेरी मदद नहीं की. उन्होंने ये सुनिश्चित किया कि मैं सुरक्षित घर पहुंच जाऊं. वह लोगों का काफी ध्यान रखती हैं और इसी वजह से वह जीती हैं.

मेजर सुरेंद्र पूनिया ने लिखा है- 'आपकी जीत ने देशवासियों का भरोसा मजबूत किया है कि भारत में अब खुद की तारीफें करने वाले लोग शासन नहीं करेंगे. हमें आप पर गर्व है.'

लेकिन ऐसा भी नहीं है कि सबसे स्मृति ईरानी अच्छी लगती हों. एक यूजर ने लिखा है- 'औरंगाबाद के युवा आज भी रोजगार की तलाश में देश भर में धक्के खा रहे हैं. कुछ रोजगार के अवसर मिला तो औरंगाबाद के विकास के लिए महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी. पेय जल की समस्या पूरे जिले में बरकरार है. लोगों को आज भी 1 किलोमीटर चल कर पानी लाना होता है.'

प्रताप चंद्र सारंगी: सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन राज्य मंत्री

मोदी सरकार में प्रताप चंद्र सारंगी को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन राज्य मंत्री बनाया गया है. भाजपा युवा मोर्चा के नेशनल वाइस प्रेसिडेंट और सूरत के विधायक हर्ष सांघवी ने ट्वीट किया है- एक छोटी सी झोपड़ी में रहने वाले एक सामान्य व्यक्ति से केंद्रीय मंत्री तक. प्रताप चन्द्र सारंगी जी, जिनके लिए समाजसेवा और परोपकार व्यक्तिगत सुख से बढ़कर है.

सारंगी और पीएम मोदी की तारीफ करते हुए ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा- सेवा भाव सर्वोपरि, एक अच्छा इंसान होने का मूल मंत्र जो हमें बचपन से सिखाया गया है, प्रताप चंद्र सारंगी जी का जीवन कुछ वैसा ही है. उन्होंने मोदी सरकार में देखकर बहुत अच्छा लगा. अपनी कैबिनेट में उन्हें लेने के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया.

अन्य नेताओं की तरह प्रताप चंद्र सारंगी के भी सभी चाहने वाले नहीं हैं. कुछ ऐसे भी लोग हैं जो उन्हें पसंद नहीं करते हैं. एक ऐसे ही ट्विटर यूजर और कॉलमिस्ट मिहिर शर्मा ने लिखा है- अधिकतर लोग ये भूल गए हैं कि नव निर्वाचित केंद्रीय मंत्री सारंगी बजरंग दल के ओडिशा कोर्डिनेटर थे, जब ग्राहम स्टेन्स और उनके दो बच्चों को करीब 2 दशक पहले जिंदा दफन कर दिया गया था.

खैर, भले ही कुछ लोग प्रताप चंद्र सारंगी की बुराई कर रहे हों, लेकिन अधिकतर लोग उनकी तारीफ ही कर रहे हैं. उनकी जीवन शैली और लोगों की मदद करने का जज्बा सभी को खूब पसंद आ रहा है.

मोदी सरकार के मंत्रियों और उनके मंत्रालयों की पूरी सूची

CABINET MINISTERS S.No. NAME PORTFOLIO
  1 नरेंद्र मोदी प्रधान मंत्री और प्रभारी मंत्री:कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय;परमाणु ऊर्जा विभाग;अंतरिक्ष विभाग; तथासभी महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दे; तथाअन्य सभी विभागों को किसी भी मंत्री को आवंटित नहीं किया गया है.
  2 अमित शाह गृह मंत्रालय
  3 राजनाथ सिंह रक्षा मंत्रालय
  4 नितिन गडकरी सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री; सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री
  5 डीवी सदानंद गौड़ा रसायन और उर्वरक मंत्री
  6 निर्मला सीतारमण वित्त मंत्रालय तथा कॉर्पोरेट अफेयर्स मंत्रालय
  7 रामविलास पासवान उपभोक्ता मंत्रालय, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री
  8 नरेंद्र सिंह तोमर कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय;ग्रामीण विकास मंत्रालय; तथा पंचायती राज मंत्री
  9 रविशंकर प्रसाद कानून और न्याय मंत्रालय; संचार मंत्रालय; तथा इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री
  10 हरसिमरत कौर बादल खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय
  11 एस जयशंकर विदेश मंत्रालय
  12 रमेश पोखरियाल निशंक मानव संसाधन विकास मंत्रालय
  13 थावरचंद गहलोत सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय
  14 अर्जुन मुंडा आदिम जनजाति विकास मंत्रालय
  15 स्मृति ईरानी महिला और बाल विकास मंत्रालय; और कपड़ा मंत्रालय
  16 हर्षवर्धन स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय; विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय; तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री
  17 प्रकाश जावड़ेकर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय; तथा सूचना और प्रसारण मंत्रालय
  18 पीयूष गोयल रेल मंत्रालय; तथा वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय
  19 धर्मेंद्र प्रधान पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय; तथा स्टील मंत्रालय
  20 मुख्तार अब्बास नकवी अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय
  21 प्रहलाद जोशी संसदीय मामलों का मंत्रालय;कोयला मंत्रालय; तथा खान (खनन) मंत्री
  22 महेंद्रनाथ पांडेय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय
  23 अरविंद सावंत भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय
  24 गिरिराज सिंह पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय
  25 गजेंद्र सिंह शेखावत जल शक्ति मंत्रालय
Ministers of State (Independent Charge) 26 संतोष गंगवार श्रम और रोजगार मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)
  27 राव इंद्रजीत सिंह सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); तथा योजना मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)
  28 श्रीपद नाइक आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (आयुष) मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); तथा रक्षा मंत्रालय में राज्य मंत्री
  29 जीतेंद्र सिंह उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); प्रधान मंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री; कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय में राज्य मंत्री; परमाणु ऊर्जा विभाग में राज्य मंत्री; तथा अंतरिक्ष विभाग में राज्य मंत्री.
  30 किरेन रिजिजू युवा मामलों और खेल मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); तथा अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री
  31 प्रहलाद पटेल l संस्कृति मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); तथा पर्यटन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)
  32 आरके सिंह ऊर्जा मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय में राज्य मंत्री
  33 हरदीप पुरी आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); नागरिक उड्डयन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); तथा वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री
  34 मनसुख मांडविया जहाजरानी (शिपिंग) मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); तथा रसायन और उर्वरक मंत्रालय में राज्य मंत्री
MINISTERS OF STATE 35 फग्गन सिंह कुलस्ते इस्पात (स्टील) मंत्रालय में राज्य मंत्री
  36 अश्विनी चौबे स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री
  37 वीके सिंह सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय में राज्य मंत्री
  38 कृष्णपाल गुर्जर सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री
  39 रावसाहेब दानवे उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय में राज्य मंत्री
  40 जी किशनरेड्डी गृह मंत्रालय में राज्य मंत्री
  41 पुरुषोत्तम रुपाला कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री
  42 रामदास अठावले सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री
  43 साध्वी निरंजन ज्योति ग्रामीण विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री
  44 बाबुल सुप्रियो पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में राज्य मंत्री
  45 संजीव बालियान पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय में राज्य मंत्री
  46 संजय धोत्रे मानव संसाधन विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री; संचार मंत्रालय में राज्य मंत्री; तथा इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्य मंत्री
  47 अनुराग ठाकुर वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री; तथा कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री
  48 सुरेश अंगड़ी रेल मंत्रालय में राज्य मंत्री
  49 नित्यानंद राय गृह मंत्रालय में राज्य मंत्री
  50 वी मुरलीधरन विदेश मंत्रालय में राज्य मंत्री; और संसदीय कार्य मंत्रालय में राज्य मंत्री
  51 रेणुका सिंह सरुता आदिम जनजातीय मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री
  52 सोम प्रकाश वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री
  53 रामेश्वर तेली खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री
  54 प्रताप चंद्र सारंगी सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय में राज्य मंत्री; और पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय में राज्य मंत्री
  55 कैलाश चौधरी कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री
  56 देबश्री चौधरी महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री
  57 अर्जुन राम मेघवाल संसदीय कार्य मंत्रालय में राज्य मंत्री; तथा भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय में राज्य मंत्री
  58 रतन लाल कटारिया जल शक्ति मंत्रालय में राज्य मंत्री; और सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री

ये भी पढ़ें-

शपथ कार्यक्रम में न बुलाए जाने पर मोदी के परिवार ने जो कहा, उसे भी सुनना चाहिए

'जय श्री राम' सुनकर सड़क पर दौड़ने लगी हैं ममता बनर्जी!

धोनी की चक्की अब धीमा पीसती है, पर महीन पीसती है

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय