charcha me| 

होम -> सियासत

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 18 मई, 2022 08:08 PM
बिजय कुमार
बिजय कुमार
  @bijaykumar80
  • Total Shares

देश की राजधानी दिल्ली में अवैध निर्माण और अतिक्रमण के खिलाफ तीनों निगमों ने कार्रवाई तेज कर दी है. दक्षिण और उत्तरी नगर निगम की अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई तो पहले से चल ही रही थी हाल ही में पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर श्याम सुंदर अग्रवाल ने भी ऐलान किया कि जल्द ही अतिक्रमण के खिलाफ अभियान शुरू किया जाएगा. बता दें कि रामनवमी के अवसर पर दिल्ली के जहांगीरपुरी में शोभायात्रा पर हुई पथराव के बाद एमसीडी की ओर से बुलडोजर वाली कार्रवाई का सिलसिला जारी है. नगर निगमों की कार्रवाई का स्थानीय लोगों द्वारा जमकर विरोध भी किया जा रहा है.

पूरे मामले में विवाद इस बात का भी है कि एक खास समुदाय के लोगों को टारगेट किया जा रहा है. हाल ही में दिल्ली के मंगोलपुरी में एमसीडी का बुलडोजर पहुंचा था. वहां पर अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत मस्जिद के आसपास अवैध निर्माण को तोड़ा गया था. वहीं, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के तैमूर नगर इलाके में भी एमसीडी का बुलडोजर चला था.

Delhi, Bulldozer, Encroachment, BJP, Aam Aadmi Party, Congress, Hindu, Muslim, Manish Sisodiaदिल्ली में बुलडोजर को लेकर राजनीति तेज है और आप और भाजपा आमने सामने हैं

स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया था कि इस कार्रवाई को लेकर नोटिस नहीं दिया गया था. इससे पहले साउथ दिल्ली के शाहीन बाग में भी एमसीडी ने बुलडोजर वाली कार्रवाई की थी. हाल ही में मदनपुर खादर इलाके में अतिक्रमण विरोधी अभियान का विरोध करने पर ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था.

दिल्ली में बुलडोज़र पर राजनीति

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बीजेपी शासित दिल्ली नगर निगम पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली में बीजेपी की बुलडोजर से वसूली की बहुत बड़ी योजना है. उन्होंने कहा कि एमसीडी की इस प्रकार की बुलडोजर से वसूली का आप कड़ा विरोध करती है और आप का एक-एक विधायक जनता के साथ खड़ा है, चाहे जो भी हो जाए इनके बुलडोजर को हम रोकेंगे, चाहे हमें जेल जाना पड़े. इस मामले उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह को चिट्ठी भी लिखी है.

उन्होंने अपनी चिट्ठी में लिखा है, मैं आपका ध्यान दिल्ली में बीजेपी शासित नगर निगम द्वारा चलाए जा रहे तोड़-फोड़ अभियान की ओर दिलाना चाहता हूँ, जिसकी वजह से दिल्ली के लगभग लाख निवासियों पर बेघर होने का खतरा आ गया है. आप अवगत ही है कि दिल्ली में 1750 अनऑथराइज्ड कॉलोनियाँ हैं. ये वस्तुतः कच्ची कॉलोनियां है, रेगुलर नहीं है और इसीलिए इन्हें अनऑथराइज्ड कहा जाता है. इन कच्ची कालोनियों में करीब 50 लाख लोग रहते हैं.

इसी तरह दिल्ली में लगभग 860 झुग्गी-झोपडी कॉलोनियों हैं जिनमें करीब 10 लाख लोग रहते हैं. दिल्ली में भाजपा का प्लान अब इन सब कालोनियों पर नगर निगम का बुलडोजर चलाने का है. हर रोज किसी न किसी कालोनी में बीजेपी के नेता बुलडोजर लेकर पहुंच जाते हैं. इतना ही नहीं बीजेपी ने ऑथराइज्ड-डीडीए की कालोनियों में भी 3 लाख लोगों को नोटिस दिया है और वहाँ भी तोड़-फोड़ करने वाली है क्योंकि यहां लोगों के घरों में छोटे-मोटे ऑल्टरेशन है जैसे कोई बालकनी बंद करा ली है अथवा कोई छज्जा बढ़ा लिया है.

दिल्ली नगर निगम में 17 सालों से भाजपा के नेताओं ने पार्षदों ने मेयर ने जूनियर इंजिनियरों ने दिल्ली में जमकर अनाधिकृत निर्माण को मंजूरी दी और खूब पैसा खाया और अब जाते-जाते अनाधिकृत निर्माण को हटाने के नाम पर दिल्ली को तहस-नहस करने का काम किया जा रहा है'.

इस मामले में उन्होंने एक ट्वीट भी किया है.

इससे पहले आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कल आरोप लगाया था कि अनधिकृत निर्माण साफ करने के नाम पर बीजेपी पूरी दिल्ली तबाह करने में लग गई है. उन्होंने कहा था कि आधी से ज्यादा दिल्ली में अनधिकृत निर्माण है. इस तरह की कार्रवाई से तो आधी से ज्यादा दिल्ली तोड़ी जाएगी. उन्होंने मांग की थी कि पहले उन नेताओं के मकान तोड़े जाएं, जिन्होंने पैसे लेकर ये अनधिकृत निर्माण करवाए हैं.

भारद्वाज ने कहा कि बीजेपी ने रोहिंग्या-बांग्लादेशियों के खिलाफ कार्रवाई करवाने के लिए बुलडोजर चलवाने का दावा किया है, जबकि मदन मोहन मालवीय हॉस्पिटल रोड, मालवीय नगर, कुतुब इंस्टीट्यूशनल क्षेत्र, गौतम नगर, पीरियर साकेत डी ब्लॉक, अर्जुन गढ़ मेट्रो स्टेशन, वसंत कुंज, एमजी रोड, छतरपुर, बीकाजी गामा प्लेस मेट्रो स्टेशन के आसपास, शिव पार्क खानपुर, एसएसएन मार्ग, चिराग दिल्ली गांव में भी बुलडोजर चलाने का कार्यक्रम तय किया है.

उन्होंने सवाल किया कि क्या इन इलाकों में रोहिंग्या और बांग्लादेशी रहते हैं. यहां आकर भी अगर बांग्लादेशी रहने लगे तो भाजपा को केंद्र सरकार से इस्तीफा दे देना चाहिए. इससे पहले दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने अपने कार्यकर्ताओं और दिल्ली के लोगों के नाम एक खुला खत लिखा था. जिसमें उन्होंने लिखा कि हम बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुसलमानों को हटाने का काम कर रहे हैं, लेकिन आम आदमी पार्टी इन लोगों को बचा रही है.

प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने चिट्ठी में लिखा कि आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता लोगों को डरा कर वसूली कर रहे हैं. उन्होंने आदेश गुप्ता ने लोगों से अपील की है कि वसूली करने वाले लोगों के खिलाफ खुलकर शिकायत करें. उन्होंने चिट्ठी में लिखा कि दिल्ली में रोहिंग्या और बांग्लादेसी मुसलमानों की समस्या बढ़ती जा रही है. दिल्ली सरकार इन्हें आधार कार्ड, वोटर कार्ड, राशन कार्ड औऱ पेंशन दिलवाने का काम कर रही है.

प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है कि बांग्लादेशी व रोहिंग्या अतिक्रमणकर्ताओं पर बुलडोजर चलने का असर आम आदमी पार्टी नेताओं के दिल दिमाग पर पड़ गया है. इस कारण वह बोलचाल का लहजा खो बैठे हैं और भाजपा नेताओं पर असभ्य भाषा का प्रयोग कर रहे हैं.

उधर, अतिक्रमण के खिलाफ निगमों की कार्रवाई पर कांग्रेस ने बीजेपी और दिल्ली सरकार पर पर निशाना साधा है. प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार ने इसे नफरत का बुलडोजर करार देते हुए कहा कि कार्रवाई से पहले निर्माण के दौरान हेराफेरी और रिश्वतखोरी में शामिल लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि इस तरह की कार्रवाई से कमजोर वर्ग के लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं.

कितनी अवैध कालोनियां

दिल्ली आर्थिक सर्वेक्षण 2021-22 के अनुसार दिल्ली में 1797 अवैध कालोनियां हैं जिनमे 40 लाख लोग रहते हैं. साथ ही 755 झुग्गी झोपड़ियां हैं जहाँ 17 लाख लोग रहते हैं.

लेखक

बिजय कुमार बिजय कुमार @bijaykumar80

लेखक आजतक में प्रोड्यूसर हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय