होम -> सियासत

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 22 अगस्त, 2019 01:02 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

INX मीडिया केस में करोड़ों की मनी लॉन्ड्रिंग के कारण पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया गया है. कांग्रेस इस मुद्दे पर कितना भी हल्ला क्यों न कर ले. मगर माना यही जा रहा है कि इस मामले में चिदंबरम दोषी करार होंगे और उन्हें सजा होगी. वहीं कांग्रेस मुख्यालय आकर चिदंबरम ने अपनी सफाई दी है. चिदंबरम ने कहा है कि 'मैं कानून से भागा नहीं हूं. मैं न्याय की कोशिश कर रहा था. मैं अपना सिर ऊंचा करके रहूंगा. जीवन और आजादी में बेहिचक आजादी चुनूंगा और आजादी के लिए लड़ना पड़ता है. इसके अलावा चिदंबरम ने ये भी कहा है की INX मामले में मेरे खिलाफ आरोप नहीं हैं और मुझे और मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है. चिंदबरम का आने वाला भविष्य क्या होगा इसका फैसला वक्त करेगा. मगर इस खबर के बाद कांग्रेस के खेमे में बेचैनी है. पार्टी में ऐसे तमाम नेता हैं जिनपर कोई न कोई केस चल रहा है. माना ये भी जा रहा है कि जिस तरह चिदंबरम पर कार्रवाई हुई, वैसे ही इन नेताओं पर किसी भी क्षण शिकंजा कसा जा सकता है.

पी चिदंबरम, गिरफ्तार, कांग्रेस, राहुल गांधी, घोटाले, P Chidambaramचिदंबरम के अलावा भी कांग्रेस में तमाम नेता हैं जिनके गले पर तलवार लटकी है

कुछ और बात करने से पहले आइये नजर डाल ले उन नेताओं पर जो रडार पर है और आने वाले वक़्त में बड़ी मुश्किलों का सामना कर सकते हैं.

राहुल/ सोनिया गांधी का नेशनल हेराल्ड

ध्यान रहे कि नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जमानत पर हैं. बात 2018 की है. राहुल और सोनिया का कहना था कि वो फाइल दोबारा न खोली जाए, जिसमें असोसिएटेड जर्नल्स को कर्ज के तौर पर दिए पैसों का पूरा ब्यौरा है. लेकिन कोर्ट ने 10 सितंबर को उनकी ये याचिका खारिज कर दी. ध्यान रहे की नेशनल हेराल्ड 1938 में शुरू किया गया एक अखबार था. जिसे देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने शुरू किया था.

2012 में बीजेपी नेता सुब्रमनियन स्वामी ने एक जनहित याचिका (PIL) डाली. इसके बाद उन्होंने कांग्रेसी नेताओं पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया. स्वामी ने कहा कि मात्र 50 लाख रुपए खर्च करके 90 करोड़ रुपयों की वसूली कर ली गई. इंकम टैक्स ऐक्ट के हिसाब से कोई भी राजनीतिक पार्टी किसी भी थर्ड पार्टी के साथ पैसों का लेन-देन नहीं कर सकती. इसमें सीधे तौर पर राहुल गांधी और सोनिया गांधी का नाम आया.

पी चिदंबरम, गिरफ्तार, कांग्रेस, राहुल गांधी, घोटाले, P Chidambaramनेशनल हेराल्ड घोटाले के तहत राहुल और सोनिया दोनों ही बेल पर हैं

सुब्रमण्यम स्वामी का आरोप है कि गांधी परिवार हेराल्ड की संपत्तियों का अवैध ढंग से उपयोग कर रहा है जिसमें दिल्ली का हेराल्ड हाउस और अन्य संपत्तियां शामिल हैं. वे इस आरोप को लेकर 2012 में कोर्ट गए. कोर्ट ने लंबी सुनवाई के बाद 26 जून 2014 को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी के अलावा मोतीलाल वोरा, सुमन दूबे और सैम पित्रोदा को समन जारी कर पेश होने के आदेश जारी किए थे.

रॉबर्ट वाड्रा मनी लॉन्ड्रिंग केस

बात कांग्रेस और उसकी मुश्किलों की चल रही है ऐसे में रॉबर्ट वाड्रा का जिक्र लाजमी है. बात मई 2019 की है. ED ने रॉबर्ट वाड्रा को मनी लॉन्ड्रिंग केस में समन जारी किया था. मामला वाड्रा की 19 लाख पाउंड की विदेशी संपत्ति के स्वामित्व और टैक्स चोरी के लिए स्थापित की गई अघोषित संस्थाओं से संबंधित है.

ध्यान रहे कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई वाड्रा पर लंदन स्थित 12, ब्रायंस्टन स्क्वायर में 19 लाख पाउंड में संपत्ति की खरीद में धन शोधन का आरोप है. माना जा रहा है कि दोबारा इस मामले में नया मोड़ आ सकता है और एक बार फिर कोर्ट कचहरी के चक्कर लगा सकते हैं रॉबर्ट वाड्रा.

शशि थरूर : सुनंदा पुष्कर मौत मामला

अपनी पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत को लेकर लंबे समय से शशि थरूर जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं. बात अभी हाल की हो तो सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में आरोप तय करने के लिए बहस हुई.  राउज एवेन्यू की विशेष अदालत में बहस के दौरान अभियोजन पक्ष ने अदालत को बताया कि सुनंदा पुष्कर के शरीर पर चोट के 15 निशान थे.

शशि थरूर ने पाकिस्तान की महिला पत्रकार मेहर तरार को कई पत्र लिखे थे. एक पत्र का कुछ हिस्सा अभियोजन पक्ष ने अदालत में बताया, जिसमें थरूर ने तरार को सबसे अधिक प्रिय बताया था. अभियोजन पक्ष के मुताबिक, थरूर के पत्रों से पता चलता है कि तरार और उनके बीच गहरा रिश्ता था.

पी चिदंबरम, गिरफ्तार, कांग्रेस, राहुल गांधी, घोटाले, P Chidambaramसुनंदा पुष्कर की मौत को लेकर शशि थरूर पर किसी भी वक़्त गाज गिर सकती है

अभियोजन पक्ष की इन दलीलों पर विरोध जताते हुए थरूर के वकील ने कहा कि अभियोजन पक्ष इस मामले में आधी अधूरी बातें पेश कर रहा है. ध्यान रहे की मामले की अगली सुनवाई 31 अगस्त को है और जैसा रुख वर्तमान में सरकार का है लाजमी है कि थरूर के ऊपर संकट के बादल मंडराने वाले हैं.

सलमान खुर्शीद एनजीओ घोटाला

आज भले ही चिदंबरम को लेकर सलमान खुर्शीद खुल कर सामने आए हों. मगर उन्हें ये नहीं भूलना चाहिए कि वक़्त की मार से वो भी घायल हो सकते हैं. सलमान के ऊपर अपनी एनजीओ के जरिये 71 लाख रुपए के घोटाले का आरोप है. सलमान खुर्शीद और उनकी पत्नी लुईस खुर्शीद जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट चलाते हैं. पति पत्नी पर आरोप है की इनकी ट्रस्ट ने सरकारी अनुदानों का दुरूपयोग किया और शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के साथ धोखा करके 71 लाख के रूप में अपनी जेबें भरीं.

वीरभद्र सिंह आय से अधिक संपत्ति मामला

बात कांग्रेस पार्टी में जांच और घोटालों पर चल रही है. इस स्थिति में हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का नाम आना स्वाभाविक है. ध्यान रहे कि सीबीआई ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में वीरभद्र सिंह और उनके परिवार के खिलाफ जांच शुरु कर दी है. वीरभद्र पर आरोप है कि उन्होंने यह संपत्ति इस्पात मंत्री रहने के दौरान अर्जित की है.

वीरभद्र की पत्नी प्रतिभा सिंह, पुत्र विक्रमादित्य सिंह, पुत्री अपराजिता सिंह के खिलाफ जांच की जा रही है. यह मामला उस समय का है जब वीरभद्र संप्रग सरकार में इस्पात मंत्री थे. इस पूरे मामले पर भी कांग्रेस की तरफ से प्रतिक्रिया आई थी. कांग्रेस ने कहा था कि बीजेपी बदले की राजनीति कर रही हैं और लगातार पार्टी की छवि धूमिल कर रही है.

ये भी पढ़ें -

चिदंबरम से चला 'बदले' की कार्रवाई का चक्र चिदंबरम के गले तक पहुंचा!

चिदंबरम ने 'फरार' होकर अपने साथ कांग्रेस को भी लपेट लिया

चिदंबरम के ये सवाल तो कांग्रेस की जड़ में मट्ठा डाल रहे हैं...

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय