होम -> ह्यूमर

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 26 जनवरी, 2021 07:19 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

जुुुुगाड़... सच में बहुत कमाल का शब्द है. मतलब ये इतना कमाल है कि हम भारतीयों की तो आधी जिंदगी ही इस पर चल रही है. घर देख लीजिए, बाहर देख लीजिए दफ़्तर देख लीजिए गली मुहल्ला- चौक चौराहा देख लीजिए. भारत में जुगाड़ की क्या प्रासंगिकता है कहीं और क्या जाएं पश्चिम यूपी चले जाइये एक जमाना था जेनरेटर के इंजन में 4 पहियें और लड़की का पटरा जोड़कर किसी देसी साइंटिस्ट ने तो जुगाड़ नाम की गाड़ी ही बना दी. एक गांव से दूसरे गांव या फिर गांव से शहर आना हो तो 'ड्राइवर' साहब के घर इलाके के किसी छोटू को भेजकर सूचना पहुंचवा दो, चंद मिनटों में ड्राइवर साहब हाजिर और इस तरह अगला अपनी मंजिल पर पहुंच गया. जैसी जुगाड़ की भूमिका हम भारतीयों के जीवन में है यदि हम इसे हटा दें तो शायद जीना ही दुश्वार हो जाए. लगे जीवन से कोई अंग ही काटकर अलग थलग कर दिया गया है. इंटरनेट पर फिर एक बार एक तस्वीर तैर रही है. वायरल हुई इस तस्वीर को देखें तो मिलता है कि कोरोना वायरस के इस दौर में जब दूल्हा दुल्हन फेरे और निकाह PPE किट पहन के कर रहे हो किसी भाई ने उसी फेंकी हुई PPE को उठाकर लकड़ी में फिट कर दिया है और इसे खेतों में खड़ा कर दिया है जो कव्वे, तोते, कबूतर, बगुले, नीलगाय और सियार भगाने के काम आ रही है.

PPE KIT, Mask, Coronavirus, Epidemic, Farm, Scarecrow, Viral Photoपीपीई किट का ऐसा सदुपयोग तो शायद ही किसी ने देखा हो

तस्वीर देश के किस हिस्से में खींची गई है इसकी कोई जानकारी नहीं है. मगर इस तस्वीर को जिसने नेट में डाला है उसकी पूरी जानकारी है. तो भइया जिसने इसे वायरल किया है वो हैं आईपीएस ऑफिसर धालिवाल.

पूरे इंटरनेट पर जंगल की आग की तरह घूम रही इस तस्वीर को साझा करते हुए उन्होंने लिखा,‘ऐसा केवल भारत में ही हो सकता है, यहां किसी चीज को वेस्ट नहीं किया जाता.

जो बात है आईपीएस साहब की बात में दम तो भरपूर है. एक ऐसे समय में जब लोगों को फ्री के नाम पर फिनायल भी मिल जाए तो वो उसे पीने से नहीं चूकेंगे ये तो फिर भी PPE Kit है. जैसे हालात हैं आप मामूली जुकाम का भी इलाज कराने के लिए अस्पताल चले जाइये. PPE किट बेचने पर कमाई इतनी ज्यादा है कि डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ का बस चले तो आपको PPE kit पहन कर ही डॉक्टर्स के पास जाने को कहें.

देश जब भारत जैसा हो तो जाहिर है बेमतलब यहां कुछ नहीं होता, PPE Kit भी बेमतलब नहीं है. इससे कोरोना हो न हो या ये कहें कि आदमी कोरोना से बच पाए या नहीं इसपर बड़ा डाउट है. मगर ये आपकी जेब पर भरपूर असर करेगी. जैसा क्रेज आजकल PPE Kit का है, ये ऊंचे दामों पर बिक रही है.

अब उपरोक्त बातों को पढ़िये और समझिए. अरे भइया जिस भाई ने भी PPE kit पहनाकर अपने खेत में बव्वा (स्केर क्रो) खड़ा किया होगा, उसका इस समय सिर्फ सोशल स्टेटस समझिए आप.

ऐसे खेत जहां PPE Kit में स्केर क्रो खड़े हैं हमारा दावा है उस खेत से 80 -100 किलोमीटर के दूर के खेत वाले भी उसे देखने आ रहे होंगे. लोगों को बेगानी शादी में अब्दुल्ला बनने का कितना शौक है? वो वक़्त तो याद ही होगा आपको जब एक्टर सनी लियोनी ने JCB पर फोटो क्लिक कराई थी. ट्विटर पर तो तब हैशटैग ही टेंड करने लग गया था 'जेसीबी की खुदाई' फिर तो यहां मामला PPE किट वाले स्केर क्रो का है.

जो भी तस्वीरें देख रहा है हंस हंस कर लोटपोट हो रहा है. इंटरनेट पर तमाम लोग ऐसे हैं जो या तो इसे पब्लिसिटी स्टंट बता रहे हैं या फिर मूर्खता की पराकाष्ठा.

ख़ैर जो भी हो. अब जबकि ये तस्वीर हमारे सामने आ गयी है तो गर जो मौत भी आ जाए तो कोई गम नहीं. खेत में खड़े स्केर क्रो को PPE किट पहन कर खड़े देखना बाकी था वो भी देख लिया. बाकी देखा तो हमने बहुत कुछ है और उसे देखकर नजरअंदाज भी किया है मगर कसम से ये चीज वाक़ई नजरअंदाज करने वाली तो हरगिज़ नहीं है.

ये भी पढ़ें -

क्या एक्टिविज्म ने स्वरा भास्कर की एक्टिंग का क़त्ल कर दिया है?

ड्रैगन फ्रूट को संस्कारी 'कमलम्' बनता देख हमारा 'कमल' सकते में हैं!

यदि आप सरकार विरोधी हैं तो फेसबुक पर 'नो पॉलिटिक्स' 

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय