होम -> सिनेमा

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 12 सितम्बर, 2020 12:30 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

लॉकडाउन संकट काल में फ़िल्म इंडस्ट्री ने भी आपदा में अवसर ढूंढ लिए हैं और अब आपके सामने एक ऐसी वेब सीरीज पेश है जो पूरी तरह लॉकडाउन में शूट की गई है और वो भी ऑनलाइन जूम ऐप के जरिये. अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज इस कॉमेडी वेब सीरीज का नाम है वकालत फ्रॉम होम. नाम सुनकर ही आपको अंदाजा हो गया होगा कि लॉकडाउन में कोर्ट की कार्रवाई भी अब वर्क फ्रॉम होम की तरह घर से ही चल रही है. डिजिटल प्लैटफॉर्म के स्टार सुमित व्यास, निधि सिंह, कुब्रा सैत और गोपाल दत्त की प्रमुख भूमिका वाली इस कॉमेडी वेब सीरीज को डायरेक्ट किया है मशहूर प्रोड्यूसर-डायरेक्टर रोहन सिप्पी ने. वकालत फ्रॉम होम की मुंबई में रहने वाले एक ऐसे कपल की कहानी है, जिनके बीच काफी अविश्वास पनप गया है और वह अपने रिश्ते को खत्म करने के लिए कोर्ट में याचिका दायर करते हैं. चूंकि लॉकडाउन की वजह से कोर्ट बंद है, इसलिए जज साहब दोनों पक्ष के वकीलों को ऑनलाइन वीडियो कॉलिंग के जरिये मामले पर बहस की इजाजत देते हैं और आखिर में वह वीडियो देखकर फैसला सुनाने की बात करते हैं.

अमेजन प्राइम वीडियो की नई वेब सीरीज वकालत फ्रॉम होम सीमित कलाकारों की बेहद दिलचस्प सीरीज है, जिसके 12-15 मिनट के 10 एपिसोड में आप हंसी और रोमांच का डबल डोज लेते रहते हैं. यकीन मानें कि आपको यह वेब सीरीज देखते वक्त लगेगा कि हम अपने दोस्तों के साथ बैठकर गप्पे मार रहे हैं और उससे किसी कपल की शादीशुदा जिंदगी की दुश्वारियों और उससे निजात पाने की कोशिशों की कहानी सुन रहे हैं. वकालत फ्रॉम होम में देखने लायक है तो इसके चारों प्रमुख किरदारों के एक्सप्रेशन, डायलॉग डिलिवरी और कॉमिक टाइमिंग. वकालत फ्रॉम होम आपको न बोर होने देती है और न ही ये सोचने पर मजबूर करती है कि क्या बना दिया. इस पूरी वेब सीरीज को जैसे आप एक सांस में खत्म कर जाते हैं और फिर महसूसते हैं कि वीकेंड में आराम-आराम से एक-डेढ़ घंटे में एक पूरी वेब सीरीज निपटा दी और खूब हंस भी लिए.

वकालत फ्रॉम होम की कहानी क्या है

वकालत फ्रॉम होम की मुंबई में रहने वाले सुजिन कोहली (सुमित व्यास) और राधिका सेन (निधि सिंह) नामक कपल की कहानी है, जिनकी 10 साल की शादीशुदा जिंदगी में अब काफी परेशानियां आ गई हैं और राधिका सुजिन को तलाक देना चाहती है. राधिका काो शक है कि सुजिन का किसी और से अफेयर चल रहा है. फ़िल्म और टीवी इंडस्ट्री में किस्मत आजमाने की कोशिश में लंबे समय से संघर्ष कर रहा सुजिन चाहता है कि राधिका जिस घर में रहती है, वह उसके नाम की जाए. वहीं राधिका की दलील है कि वह अपनी दादी का घर किसी भी कीमत पर सुजिन के हवाले नहीं कर सकती है और न ही बेच सकती है. इसके बाद सुजिन और राधिका लॉयर हायर करते हैं. रजिनी टक्कर (कुब्रा सैत) सुजिन का केस लड़ते हैं और लोबो त्रिपाठी (गोपाल दत्त) राधिका के लॉयर है.

केस की सुनवाई वीडियो कॉल के जरिये शुरू होती है, जिसमें कोई हाफ पैंट पहनकर बैठा होता है तो कोई बनियान में बैठा है. कोर्ट की कार्रवाई के साथ ही हंसी-मजाक, रोना-धोना और खाना-पीना भी चलता रहता है, जिससे वकालत फ्रॉम होम की कहानी और दिलचस्प होती रहती है. एपिसोड दर एपिसोड इस वेब सीरीज के चारों प्रमुख किरदारों के बीच के संवाद रोचक होते जाते हैं और आखिर में क्या सुजिन और राधिका के बीच तलाक हो पाता है और प्रॉपर्टी को लेकर विवाद का कुछ हल निकल पाता है, इसी रोचक कहानी का नाम है वकालत फ्रॉम होम, जिसे देखकर आपको अलग तरह का एहसास होगा कि क्रिएटिविटी की कोई सीमा नहीं और यह किसी भी रूप में सामने आ सकती है. अनुभब पल और रोहन सिप्पी ने साथ मिलकर बड़ी रोचक कहानी लिखी है, जिसे देख सुनकर आपको बड़ा मजा आता है.

एक्टिंग और निर्देशन

डिजिटल प्लैटफॉर्म के स्टार माने जाने वाले सुमित व्यास और निधि सिंह को वकालत फ्रॉम होम में देखकर आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे. वहीं लोबो त्रिपाठी के रूप में गोपाल दत्त ने तो महफिल लूट ली है. सुजिन कोहली के रूप में सुमित व्यास बेहद जबरदस्त लग रहे हैं, जिनकी डायलॉग डिलिवरी और एक्सप्रेशन देख वाकई आपको बहुत मजा आता है. वहीं निधि सिंह भी कोई कम नहीं हैं, ‘बेचारी पत्नी’ के रूप में उन्होंने इस वेब सीरीज में जान डाल दी है. वकील लोबो त्रिपाठी के रूप में गोपाल दत्त को आप जितना देखते हैं, उनकी आपकी होठों की चौड़ाई बढ़ती है और मुस्कान का दायरा आपके जेहन में लगातार बढ़ता जाता है. इन सबमें कुब्रा सैत थोड़ी कमजोर पड़ जाती हैं, हालांकि वकील रजिनी टक्कर के रूप में उनका काम भी काफी अच्छा है. जज साहब की भूमिका में आकर्ष खुराना बेहद कम समय में काफी प्रभावी लगते हैं. कुल मिलाकर वकालत फ्रॉम यही है कि बिना किसी मेकअप या तामझाम के बड़ी खूबसूरती से यह वेब सीरीज घर बैठे बना दी गई है, जिनमें सारे कलाकारों का काम बेहद जबरदस्त है. वहीं निर्देशन की बात करें तो ब्लफ मास्टर जैसी फिल्म बना चुके मशहूर डायरेक्टर रोहन सिप्पी ने अपनी डिजिटल एंट्री में छक्का जड़ दिया है. रोहन सिप्पी ने बड़ी खूबसूरती से एक शहरी कपल की जिंदगी में आने वाली छोटी-मोटी समस्याओं को पर्दे पर पेश कर दिया है. सबसे खास बात ये है कि सभी कलाकारों ने घर बैठे कितनी आसानी से इस वेब सीरीज की शूटिंग कर दी है. रोहन सिप्पी का यह काम काबिलेतारीफ है.

क्यों देखें वकालत फ्रॉम होम

वकालत फ्रॉम होम देखने की कई वजहें हैं. एक तो ये कि अमेजन प्राइम वीडियो की इस वेब सीरीज को आप बस 2 घटे में निपटा देंगे. ऊपर से इसमें जो कलाकार हैं, उनको देखकर आप सरप्राइज होंगे और इससे आपको काफी मजा आएगा. सबसे बड़ी बात ये कि इस वेब सीरीज में आपको पता चलेगा कि घर बैठे-बैठे बेहद सीमित कलाकारों के साथ काफी आसानी से कैसे एक वेब सीरीज भी बनाई जा सकती है. वहीं वकालत फ्रॉम होम में आपके हंसी के फव्वारे से नहाने की गारंटी है. इसलिए देर क्या करना, जाइए, देख लीजिए अमेजन प्राइम वीडियो की नई कॉमेडी वेब सीरीज वकालत फ्रॉम होम और हमें जरूर बताइएगा कि आपको यह वेब सीरीज कैसी लगी.

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय