होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 30 जुलाई, 2020 08:18 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले में एक के बाद एक नए मोड़ आ रहे हैं और सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के साथ ही मामले की जांच कर मुंबई पुलिस के रवैये और कार्यशैली पर काफी सवाल उठ रहे हैं. वहीं इस मामले की जांच के लिए पटना से मुंबई पहुंची बिहार पुलिस ने एक दिन में ही ऐसी-ऐसी बातें सामने ला दीं, जिससे सुशांत की मौत से जुड़ी तस्वीरें धीरे-धीरे साफ होने लगी हैं. बीते 24 घंटे से जिस तरह की बातें सामने आई हैं, उससे सोशल मीडिया पर मुंबई पुलिस की काफी फजीहत हो रही है और ट्विटर पर #ShameOnMumbaiPolice ट्रेंड कर रहा है. अब बात उठती है कि आखिरकार मुंबई पुलिस ने ऐसा क्या किया कि वह लोगों की नजरों से उतर रही है? मुंबई पुलिस बीते डेढ़ महीने से इस मामले की जांच कर रही है और अब तक 41 लोगों से पूछताछ कर चुकी है, लेकिन किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है. मुंबई पुलिस के लिए यह मामला ऐसा बनता जा रहा है, जिसकी जड़ें फिल्म इंडस्ट्री और इसके कुछ बड़े लोगों से जुड़ी हैं, लेकिन रिया चक्रवर्ती का नाम सामने आते ही मामला पलट गया और अब मुंबई पुलिस की भूमिका संदेहास्पद हो गई है.

बीते बुधवार को सुशांत सिंह राजपूत के फैमिली लॉयर विकास सिंह ने मुंबई पुलिस को लेकर बहुत चौंकाने वाले खुलासे किए. उन्होंने कहा कि सुशांत के पिता केके सिंह ने बीते फरवरी में ही मुंबई पुलिस से रिया चक्रवर्ती की शिकायत की थी कि वह मेरे बेटे सुशांत को ब्लैकमेल कर रही है और उसकी जिंदगी तबाह कर रही है. उस समय मुंबई पुलिस ने केके सिंह की बातों को टाल दिया और इस मामले में किसी तरह की कार्रवाई नहीं की, जिसका खामियाजा ये हुआ कि सुशांत आज दुनिया में नहीं हैं. सुशांत की खुदकुशी के बाद भी उनकी फैमिली ने मुंबई पुलिस से बात की और एफआईआर दर्ज कराने की कई कोशिशें कीं, लेकिन मुंबई पुलिस हर बार टालती रही. आखिरकार केके सिंह ने पटना में रिया चक्रवर्ती और उनकी फैमिली समेत 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया.

मुंबई पुलिस करना क्या चाहती है?

विकास सिंह की मानें तो मुंबई पुलिस ने सुशांत की फैमिली पर दबाव बनाया कि वह बॉलीवुड के बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउस के खिलाफ बयान दें. हालांकि, विकास सिंह की बातें कितनी सच है, वो आने वाले समय में पता चलेगा, लेकिन इस बीच मुंबई पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में आ गई है, क्योंकि केके सिंह द्वारा रिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के 2 दिन हो गए हैं और अब तक रिया पुलिस की पहुंच से बाहर है. ऐसे में मुंबई पुलिस के किसी आला अधिकारी पर रिया चक्रवर्ती को बचाने के आरोप लग रहे हैं. अब बातें तो ये भी होने लगी हैं कि किसी आला पुलिस अधिकारी के दबाव में ही मुंबई पुलिस सुशांत की फैमिली द्वारा रिया पर लगाए आरोपों को नजरअंदाज कर रही थी. सुशांत की फैमिली के वकील ने जिस तरह की बातें कही हैं, इससे तो मुंबई पुलिस की भूमिका पर ही सवाल उठ रहे हैं और ऐसा लग रहा है कि मुंबई पुलिस पूरी तरह से इस मामले की अलग एंगल से जांच कर रही थी.

बिहार पुलिस की जांच में नए खुलासे

इस बीच बिहार से मुंबई पहुंची बिहार पुलिस की टीम ने मामले में इतनी तेजी दिखाई है और ऐसी बातें सामने लाई है कि लोग सोशल मीडिया पर बिहार पुलिस की सराहना करते थक नहीं रहे हैं. बिहार पुलिस ने सुशांत की पूर्व गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे से पूछताछ की, जिसमें ये पता चला कि सुशांत रिया चक्रवर्ती से रिश्ता तोड़ना चाह रहे थे, क्योंकि वह उनका उत्पीड़न करती थी. अंकिता लोखंडे ने सुशांत के साथ हुई बातचीत का स्क्रीनशॉट भी पुलिस से शेयर किया. इस तरह की बातें सामने आने के बाद तो कुछ-कुछ साफ होने लगा है कि सुशांत की खुदकुशी के पीछे बॉलीवुड गैंग और रिया चक्रवर्ती, दोनों की भूमिका संदिग्ध है, नहीं तो इस तरह की बातें सामने कैसे आतीं. अब इस बात की पड़ताल की जानी चाहिए कि आखिरकार मुंबई पुलिस में रिया चक्रवर्ती का हमदर्द कौन है, जो इस मामले को दबाने की कोशिश कर रहा था और चाह रहा था कि सुशांत मौत मामले में रिया का नाम सामने ना आए. साथ ही इस मामले की भी जांच होनी चाहिए कि सुशांत सिंह राजपूत फिल्म इंडस्ट्री की किन बातों से परेशान हो गए थे कि उन्होंने बॉलीवुड छोड़कर कुर्ग में ऑर्गेनिक खेती करने की योजना बनाई.

CBI जांच के पक्ष में नहीं है महाराष्ट्र सरकार

इस बीच सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले में सीबीआई जांच की मांग तेज हो गई है और राजनीतिक हलकों से भी बड़े-बड़े नेताओं ने सीबीआई जांच की मांग की है, जिनमें बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी, बीएसपी सुप्रीमो मायावती, एलजेपी नेता चिराग पासवान समेत अन्य कई लोग हैं. वहीं महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने साफ कह दिया है कि सुशांत खुदकुशी मामले की मुंबई पुलिस जांच कर रही है और इसे सीबीआई को ट्रांसफर करने का सवाल ही नहीं उठता. इस बीच रिया चक्रवर्ती के वकील सुशील मान शिंदे ने बिहार में रिया के खिलाफ दायर मुकदमे को महाराष्ट्र ट्रांसफर किए जाने की अपील लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं. अब आगे देखना दिलचस्प होगा कि बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस कैसे मिलकर इस मामले की तह तक जाती है और अब किस चेहरे से नकाब हटेगा.

...तो शायद सुशांत आज जिंदा होते

इन सबके बीच बीते कुछ दिनों से जिस तरह की बातें सामने आ रही हैं, उससे पता चलता है कि मुंबई पुलिस ने सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले को हल्के में लिया है और उसकी जांच के घेरे में ऐसे-ऐसे लोग आए, जिन्हें पूछताछ के बाद क्लीन चिट मिलती गई. चाहे वह आदित्य चोपड़ा हों, महेश भट्ट हो या अन्य. ऐसे में मुंबई पुलिस अब किससे पूछताछ करती और क्या पता लगाने की कोशिश करती, क्योंकि उसके पास करने को तो कुछ बचा ही नहीं था. सुशांत सिंह राजपूत की फैमिली के वकील की मानें तो मुंबई पुलिस ने अगर समय पर कार्रवाई की होती तो शायद आज सुशांत सिंह राजपूत जिंदा होते. ये फिल्मी कहानी हो चली है कि कोई घटना घट जाएगी, तभी पुलिसिया कार्रवाई होगी, ऐसे पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहेगी. सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में अगर मुंबई पुलिस का रवैया वाकई ढीला रहा है तो वह भी इतनी ही जिम्मेदार है, जितनी फिल्म इंडस्ट्री और उसमें मौजूद गैंग, जो लोगों को इतना उलझा देते हैं कि वह अपनी जिंदगी से हार मान बैठता है.

Sushant Singh Rajput, Sushant Singh Rajput Death Case, Rhea Chakraborty

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय