charcha me| 

होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 28 जून, 2022 10:19 PM
मुकेश कुमार गजेंद्र
मुकेश कुमार गजेंद्र
  @mukesh.k.gajendra
  • Total Shares

साउथ सिनेमा की फिल्मों का हिंदी पट्टी के लोग बेसब्री से इंतजार करते हैं. एसएस राजामौली की फिल्म 'बाहुबली' ने जो चस्का लगाया, उसे 'पुष्पा: द राइज', 'आरआरआर' और 'केजीएफ' जैसी फिल्मों ने सातवें आसमान पर पहुंचा दिया. अब यदि किसी महीने साउथ की कोई बेहतरीन फिल्म रिलीज न हो तो लोग निराश हो जाते हैं. लेकिन आने वाले महीनों में साउथ सिनेमा की नई फिल्मों के साथ हिंदी बॉक्स ऑफिस पर धमक देने के लिए तैयार है. इनमें 'लाइगर', 'यशोदा', 'विक्रांत रोणा', 'रॉकेट्री द नंबी इफेक्ट' और 'कार्तिकेय 2' जैसी फिल्में प्रमुख रूप से शामिल हैं. इन फिल्मों के सामने बॉलीवुड कैसा टक्कर दे पाएगा, ये तो आने वाला वक्त ही बता पाएगा, लेकिन दोनों फिल्म इंडस्ट्री की फिल्मों का तुलनात्मक विश्लेषण तो किया ही जा सकता है.

पहले साउथ सिनेमा की फिल्मों की बात कर लेते हैं. अगले महीने जुलाई में साउथ सिनेमा की सबसे पहली फिल्म 'रॉकेट्री द नंबी इफेक्ट' रिलीज होने वाली है. यह फिल्म रॉकेट साइंटिस्ट नम्बी नारायणन की जिंदगी की कहानी पर आधारित है. नम्बी नारायणन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के वैज्ञानिक थे, जिन्हें देश से गद्दारी करने के झूठे आरोपों में फंसाया गया था. 26 साल की लंबी लड़ाई और पुलिस-प्रशासन से लोहा लेने के बाद साल 1998 में सुप्रीम कोर्ट ने उनको बेगुनाह बताया था. इस फिल्म में आर माधवन साइंटिस्ट नंबी नारायणन का किरदार निभा रहे हैं. फिल्म में सिमरन, रजित कपूर, गुलशन ग्रोवर और कार्तिक कुमार भी अहम रोल में हैं. शाहरुख खान और सूर्या गेस्ट अपीरियंस में नजर आएंगे. फिल्म का बजट 80 करोड़ रुपए बताया जा रहा है.

shamsherafirstlook-6_062822101910.jpgजुलाई महीने में 'शमशेरा' और 'रॉकेट्री द नंबी इफेक्ट' फिल्म की कमाई गौर करने वाली होगी.

फिल्म 'रॉकेट्री द नंबी इफेक्ट' अपनी लागत के हिसाब से बहुत ज्यादा नहीं कमा पाएगी. उसकी वजह फिल्म का विषय है. इस तरह की बायोपिक फिल्मों का बॉक्स ऑफिस बिजनेस बहुत ज्यादा नहीं होता है. ऐसे में फिल्म अपनी लागत निकाल ले वही बहुत ज्यादा है. फिल्म 1 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है. इसके बाद 28 जुलाई को कन्नड़ सुपरस्टार किच्चा सुदीप की फिल्म 'विक्रांत रोणा' रिलीज होगी. इसे पैन इंडिया के साथ अंग्रेजी और कई विदेशी भाषाओं में भी रिलीज किया जा रहा है. फिल्म को हिंदी पट्टी में सलमान खान प्रेजेंट कर रहे हैं. उनकी प्रोडक्शन कंपनी एसकेएफ के बैनर तले फिल्म को रिलीज किया जाएगा. फिल्म का ट्रेलर लोगों को बहुत पसंद आया है. इसमें वर्ल्डक्लास विजुअल इफेक्ट्स के साथ रोमांचक कहानी पेश की गई है.

फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर और म्युजिक भी शानदार लग रहा है. फिल्म की लागत करीब 100 करोड़ रुपए बताई जा रही है. लेकिन फिल्म को जिस पैमाने पर रिलीज किया जा रहा है, इसका 500 करोड़ क्लब में पहुंचना लगभग तय है. इस तरह जुलाई महीने की ये बड़ी फिल्म साबित हो सकती है. हालांकि, हिंदी पट्टी में किच्चा सुदीप का विरोध देखने को मिल सकता है, क्योंकि भाषा विवाद में उन्होंने खिलाफ को लेकर विवादित बयान दे दिया था. साउथ की इन दोनों फिल्मों के मुकाबले बॉलीवुड की करीब आधा दर्जन फिल्में जुलाई में रिलीज हो रही हैं, जिनमें कई बड़े बजट की भी हैं. इनमें 'राष्ट्र कवच ओम', 'खुदा हाफिज 2', 'फोन भूत', 'शाबाश मिठू', 'हिट', 'जुदा होके भी', 'जादूगर', 'शमशेरा', 'एक विलन रिटर्न' और 'गुड लक जेरी' जैसी फिल्में शामिल हैं. इनमें चार फिल्में बॉक्स ऑफिस पर धमाका कर सकती हैं. इनका ट्रेलर देखने के बाद से ही लोग इन फिल्मों का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं.

इन फिल्मों में रणबीर कपूर की फिल्म 'शमशेरा' का नाम सबसे ऊपर है. इस फिल्म को देखने के बाद से ही लोग इसकी तुलना यश की फिल्म केजीएफ से करने लगे हैं. इसमें रणबीर कपूर एक डकैत शमशेरा के किरदार में हैं. उनको देखते ही फिल्म शोले के गब्बर सिंह की याद आ जाती है. फिल्म में विलन के किरदार में अभिनेता संजय दत्त भी खूब जम रहे हैं. खूंखार चेहरे के साथ जब अपनी लंबी चोटी झटकते हैं, तो उन्हें देख कोई भी डर सकता है. उनका किरदार एक अंग्रेज पुलिस अफसर दरोगा शुद्ध सिंह का है. केजीएफ में उनका किरदार अधीरा शुद्ध सिंह को देखते ही सहसा याद आ जाता है. फिल्म 'शमशेरा' 150 करोड़ रुपए के बजट में बनी है. इसके ट्रेलर को जिस तरह का बेजोड़ रिस्पांस मिला है, फिल्म बॉक्स ऑफिस पर 400 से 500 करोड़ रुपए तक बिजनेस कर सकती है.

'शमशेरा' के बाद दूसरी फिल्म 'राष्ट्र कवच ओम' है. इसका नाम पहले 'ओम: द बैटल विदिन' था, लेकिन बाद में राष्ट्रवादी फ्लेवर देने के लिए नाम बदल दिया गया है. इस एक्शन फिल्म में आदित्य रॉय कपूर, संजना संघी, जैकी श्रॉफ, प्रकाश राज और आशुतोष राणा जैसे कलाकार नजर आने वाले हैं. इसमें भयंकर एक्शन सीक्वेंस के बीच देशभक्ति की भावना कूट-कूट कर भरी गई है. फिल्म का ट्रेलर हालही में लॉन्च किया गया था, जिसमें आदित्य रॉय कपूर एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं. ये फिल्म भी 1 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है. इसकी लागत 30 करोड़ रुपए बताई जा रही है. लेकिन इसको मिल रहे रिस्पांस के आधार पर यह कहा जा सकता है कि फिल्म 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो सकती है. फिल्म ओपनिंग डे पर 3 से 5 करोड़ रुपए का कलेक्शन कर सकती है.

इन दोनों बड़ी फिल्मों के अलावा तापसी पन्नू की फिल्म 'शाबाश मिठू', राजकुमार राव की फिल्म 'हिट' और जॉन अब्राहम की फिल्म 'एक विलन रिटर्न' का भविष्य भी सुखद नजर आ रहा है. ये फिल्में बॉक्स ऑफिस पर बंपर कमाई भले ही न कर पाएं, लेकिन अपनी लागत निकालने का मादा जरूर रखती है. इन सभी फिल्मों की कहानी और स्टारकास्ट इस बात की तस्दीक करते हैं. इस तरह से देखा जाए तो अगले महीने में बॉलीवुड और साउथ सिनेमा के बीच दिलचस्प मुकाबला देखने को मिल सकता है. क्योंकि इस बार मामला एक तरफ नजर नहीं आ रहा है. साउथ की फिल्म 'विक्रांत रोणा' के मुकाबले बॉलीवुड फिल्म 'शमशेरा' एक हफ्ते के अंतर में ही रिलीज हो रही है. दोनों फिल्मों की कमाई में बड़ा अंतर नहीं है. ऐसे में बॉक्स ऑफिस को डॉमिनेट कौन करता है, ये देखना दिलचस्प होगा.

#साउथ सिनेमा, #बॉलीवुड, #शमशेरा, South Cinema Vs Bollywood, Who Is Winner On Box Office, Shamshera

लेखक

मुकेश कुमार गजेंद्र मुकेश कुमार गजेंद्र @mukesh.k.gajendra

लेखक इंडिया टुडे ग्रुप में डिजिटल जर्नलिस्ट हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय