charcha me | 

होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 24 सितम्बर, 2021 08:20 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

अब इसे बेशर्मी कहें या जग को खुद को निर्दोष बताना Raj Kundra Pornography Case के बाद सुर्खियों में आईं एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ ने ख़ुद को बेगुनाह बताते हुए मीडिया से बात की है और तमाम ऐसी चीजें कह दी हैं जिससे राज कुंद्रा और उनकी हरकतों के बाद जारी बहस पर सदा के लिए पूर्ण विराम लग गया है. हुआ कुछ यूं है कि पोर्नोग्राफी मामले में एक एडल्ट एक्ट्रेस ने एफआईआर दर्ज कराई थी. उसी एफआईआर पर अपना बयान दर्ज कराने एक्टर / प्रोड्यूसर गहना वशिष्ठ मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच के संपत्ति प्रकोष्ठ के सामने पेश हुईं थीं और वहीं पर गहना ने मीडिया से भी बात की थी. पत्रकारों से बात करते हुए, गहना वशिष्ठ ने कहा था कि उन्होंने 'बोल्ड, कामुक कंटेंट' का निर्माण किया, जो पोर्नोग्राफिक मटेरियल की श्रेणी में नहीं आता. साथ ही गहना ये आगे ये भी दावा किया कि चूंकि डिजिटल सामग्री के लिए कोई सेंसरशिप कानून नहीं हैं, इसलिए वे कानूनी परिणामों के बिना जो चाहें फिल्माने के लिए स्वतंत्र हैं.

Gehana Vasisth, Porn, Pornography, Raj Kundra, Raj Kundra Pornography Case, Bollywoodपोर्न मामले में जो बातें गहना वशिष्ठ ने अपनी सफाई में कही हैं वो कई मायनों में हैरत में डालने वाली हैं

मुंबई पुलिस की संपत्ति प्रकोष्ठ के सामने पेश होने से पहले उन्होंने कहा, 'जब डिजिटल में कोई सेंसरशिप नहीं है और अगर बंद दरवाजों के पीछे कुछ किया जा रहा है, तो किसी अनुमति की आवश्यकता नहीं है.

किसी का नाम लिए बिना गहना वशिष्ठ ने आरोप लगाया कि उन्हें फंसाया जा रहा है और इस मामले में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है, जो एक वयस्क फिल्म अभिनेत्री की शिकायत से संबंधित है, जिसमें दावा किया गया था कि उन्हें अश्लील फिल्में शूट करने के लिए मजबूर किया गया था, जो व्यवसायी राज कुंद्रा के हॉटशॉट्स ऐप पर अपलोड की गई थीं.

वहीं राज कुंद्रा से जुड़े सवाल कर ये कहकर गहना ने अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश की कि मैं अभी राज कुंद्रा पर टिप्पणी नहीं करना चाहती, लेकिन हमने ऐसा कुछ भी नहीं बनाया जिसे पोर्न कहा जा सके. मैं अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए पांच महीने से जेल में हूं और मुझे हमेशा फंसाया गया है. यहां कुछ पक्षों का उद्देश्य मुझे या तो न्यायिक हिरासत में या हर समय पुलिस हिरासत में रखना है.

गहना वशिष्ठ ने पत्रकारों को ये भी बताया कि उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने राहत दी है और वह जांच में पुलिस का सहयोग करना चाहती हैं. वहीं गहना का ये भी आरोप है कि जिन लोगों ने उनके खिलाफ शिकायत की थी, उन्हें ऐसा करने के लिए मजबूर किया गया था.

गहना के अनुसार ,'लड़कियों को धमकी दी गई थी कि अगर उन्होंने मेरे खिलाफ बयान नहीं दिया तो उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा. गहना का मानना है कि उनके खिलाफ किये गए केस का कोई आधार ही नहीं है. यह कहते हुए कि वह कानून के तहत निषिद्ध किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं है, गहना वशिष्ठ ने तर्क दिया कि अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए उनके पास सभी फिल्मों के रॉ फुटेज हैं.

अपनी सफाई देते हुए गहना ये ये तक कहा है कि, मेरे पास यह दिखाने और साबित करने के लिए सभी फुटेज हैं कि कोई भी कार्य पोर्न की श्रेणी में नहीं आता. कंटेंट बोल्ड है.कंटेंट कामुक है लेकिन इसे अश्लील नहीं कहा जा सकता है.

गहना वशिष्ठ के खिलाफ क्या आरोप हैं?

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने 27 जुलाई को गहना वशिष्ठ के खिलाफ सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 354 सी, 292, 293, 420, 34 के साथ 66 ई, 67, 67 ए के तहत मामला दर्ज किया था. उन पर महिलाओं का अश्लील प्रतिनिधित्व (प्रोहिबिशन) अधिनियम की धारा 2जी, 3, 4, 6, 7 के तहत भी मामला दर्ज किया गया था.

पुलिस के मुताबिक गहना वशिष्ठ पोर्न फिल्मों की डायरेक्टर हैं. गहना पर, तीन अन्य लोगों के साथ, हॉटशॉट्स ऐप के लिए एक महिला को अश्लील फिल्मों में अभिनय करने के लिए धमकाने, जबरदस्ती करने और फुसलाने का आरोप है. महिला ने आरोप लगाया था कि वेब सीरीज से अश्लील दृश्यों को एडिट किया जाना था लेकिन ऐसा नहीं किया गया.

गौरतलब है कि बॉलीवुड अदाकारा शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा को बीती 19 जुलाई को कथित तौर पर अश्लील फिल्में बनाने और उन्हें हॉटशॉट्स सहित विभिन्न ऐप के जरिए पब्लिश करने के मामले में गिरफ्तार किया गया था.

बहरहाल अब जबकि अपनी सफाई देते देते गहना मन की बात कर ही चुकी हैं उन्होंने पोर्न के तहत चल रही सारी बहस पर विराम लगा दिया है. गहना का भविष्य क्या होगा? फैसला वक़्त करेगा लेकिन जो वर्तमान है और उसमें जैसी गहना की बातें हैं सरकार को जल्द से जल्द डिजिटल सामग्री के लिए कानून ला देना चाहिए.

ये भी पढ़ें -

सुपर स्टार थालापथी विजय ने माता-पिता के खिलाफ केस दर्ज कराया है, कारण पर्याप्त हैं!

सोनू सूद का बयान आयकर विभाग की कार्रवाई का मुकम्मल जवाब नहीं है

Money Heist कैसे बन गया सबसे पसंदीदा OTT शो, मुंबई डायरीज जैसे देसी कंटेंट पीछे

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय