charcha me| 

होम -> सिनेमा

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 05 अगस्त, 2022 07:53 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

सिनेमाघरों में अगस्त के पहले शुक्रवार को हिंदी बॉक्स ऑफिस के बाहर सन्नाटा पसरा है. 5 अगस्त को रिलीज तो कई फ़िल्में हुईं, मगर इसमें कोई एक भी बड़े स्केल की एंटरटेनर नहीं दिखाई दे रही जिसकी चर्चा हो. अच्छी बात बस यही है कि सिनेमाघरों में कोई नई फिल्म भले ना आई हो, मगर ओटीटी पर आलिया भट्ट की 'डार्लिंग्स' स्ट्रीम हो रही है. इसे लेकर दर्शकों में एक दिलचस्पी भी देखी जा सकती है. साउथ के बॉक्स ऑफिस को देखें तो उधर के नज़ारे अलग हैं. महीने के पहले शुक्रवार साउथ में दो फ़िल्में- साइंस फिक्शन 'बिम्बिसार' और रोमांटिक एंटरटेनर 'सीता रामम' रिलीज हुई हैं.

दोनों फ़िल्में तेलुगु में बनी हैं और सिनेमाघरों में दिखाई जा रही हैं. बिम्बिसार में जूनियर एनटीआर के भाई एन कल्याण राम मुख्य भूमिका निभा रहे हैं. जबकि सीता रामम में दुलकर सलमान, मृणाल ठाकुर और रश्मिका मंदाना अहम भूमिकाओं में हैं. सीता रामम, मृणाल ठाकुर की डेब्यू मूवी है. सोशल मीडिया पर दोनों फिल्मों को लेकर दर्शक एंगेज नजर आ रहे हैं. आइए पहले जानते हैं बिम्बिसार को लेकर लोग आखिर क्या कह सुन रहे हैं.

Bimbisara vs Sita Ramamसीता रामम और बिम्बिसार.

क्या जूनियर एनटीआर के भाई की बिम्बिसार पैसा वसूल मूवी है?

बिम्बिसार को लेकर लोगों की प्रतिक्रियाओं के आधार पर कहा एक शब्द में कहा जाए तो कल्याण राम की फिल्म ने लोगों को प्रभावित किया है. लोग खुलकर तारीफ़ भी करते नजर आ रहे हैं. फिल्म की स्टोरी, वीएफएक्स, निर्दशन या एक्टर्स के परफॉर्मेंस की तारीफें सबकी देखने को मिल रही हैं. एक यूजर ने यहां तक लिखा कि उसे बिम्बिसार देखकर एक लंबे वक्त बाद सिनेमाघर का शानदार अनुभव मिला. एक ने लिखा कि फिल्म की कहानी भले प्रयोगात्मक है लेकिन इसे देखते हुए एक पल के लिए भी कहीं डाउट नहीं होता. यह एक फुल पैसा वसूल मूवी है.

एक दर्शक ने कहानी की तारीफ़ करते हुए लिखा कि बहुत शानदार तरीके से 5वीं शताब्दी के एक महान सम्राट बिम्बिसार की कहानी को आज के दौर की कहानी में जिस तरह मिलाया गया है वह बहुत मुश्किल काम था. लेकिन लेखक के साथ निर्देशक की तारीफ़ करनी चाहिए कि उन्होंने बहुत सफाई से बिम्बिसार को एक देखने लायक फिल्म बना दी. कुछ लोगों ने यहां तक कहा कि बिम्बिसार एसएस राजमौली के निर्देशन में बनी रामचरण स्टारर मगाधीरा की याद दिलाती है. हालांकि बिम्बिसार कई मर्तबा मगाधीरा से भी ज्यादा भव्य नजर आती है.

एक यूजर ने लिखा कि बिम्बिसार बतौर निर्देशक मल्लीदी वशिष्ठ की डेब्यू फिल्म थी. मगर इसकी बुनावट देखकर लगता है कि वे बहुत अनुभवी निर्देशक हैं. वशिष्ठ और कल्याण राम समेत बिम्बिसार की समूची टीम तारीफ़ के काबिल है. बिम्बिसार की भूमिका के लिए कई लोगों ने कल्याण राम के काम की जमकर प्रशंसा की है. कल्याण राम का काम लगभग सभी को पावर पैक्ड नजर आया है. बिम्बिसार के लिए लोगों ने कैथरीन टेरेसा, संयुक्त मेनन और वरीना हुसैन की भी प्रशंसा की है.

कंटेंट के आधार पर लोग मानकर चल रहे कि बिम्बिसार तेलुगु बॉक्स ऑफिस पर बहुत अछा परफॉर्म करने जा रही है.

सीता रामम की कहानी से दर्शकों को याद आई वीरजारा और रोजा की कहानी

सीता रामम में भी एक दिलचस्प कहानी को समेटा गया है. यह राम नाम के आर्मी लेफ्टिनेंट की प्रेम कहानी है. आर्मी लेफ्टिनेंट की भूमिका में दुलकर हैं. जबकि उनके अपोजिट सीता की भूमिका में मृणाल हैं. प्रेम कहानी में कहानी में भारत-पाकिस्तान, आतंकवाद और राष्ट्रीय भावनाओं से ओतप्रोत  दूसरी तमाम चीजें भी नजर आती हैं. वैसे बुनावट में कई दर्शकों को एक बारगी यह शाहरुख खान-प्रीती जिंटा की "वीर जारा"  जैसी नजर आई. मगर ऐसा मानने वाले यह भी कह रहे कि सीता रामम की पटकथा और प्रभाव दूसरे किस्म का है.

सीता रामम की कहानी में कई लेयर नजर आ रहे हैं. और इसे जिस तरह से बनाया गया है- दर्शक काफी पसंद कर रहे हैं. दर्शकों के मुताबिक़ हकीकत में तो भले प्रेम कहानी दिखती हो मगर जिस तरह राष्ट्रवाद का इस्तेमाल किया गया है- फिल्म अरविंद स्वामी की रोजा जैसा क्लासिकल फील देती है. गाने तो फिल्म के मूड को और ज्यादा प्रभावशाली बना देते हैं. कई दर्शकों को फिल्म के संवाद खूब पसंद आ रहे हैं. बेहतरीन निर्देशन के लिए लोगों ने हनु राघवपूड़ी के काम का भी लोहा माना है. एक यूजर ने लिखा- सीता रामम बेहतरीन बनी है, उन्हें पहले से ही अंदाजा था. हनु राघवपूड़ी आपने शानदार काम किया है. यह एक ब्लॉकबस्टर फिल्म है.

सीता रामम में मासूमियत से भरे शानदार काम के लिए दुलकर सलमान को बेस्ट रोमांटिक हीरो बताया जा रहा है. लोगों ने ना सिर्फ दुलकर की बल्कि मृणाल ठाकुर और रश्मिका मंदाना के काम की भी तारीफ़ की है.

वैसे दोनों फिल्मों की आलोचनाएं भी हो रही हैं. इंटरवल से पहले बिम्बिसार का पहला हिस्सा जहां कुछ लोगों को ठीक नहीं लगा है वहीं सीता रामम की लव स्टोरी में आतंकवाद और भारत-पाकिस्तान के एंगल को घुसाना कुछ लोगों को बेमतलब का लगा है. खैर, फ़िल्में रिलीज हो चुकी हैं. दोनों में एक क्लैश भी है. अब देखना यह है कि तेलुगु बॉक्स ऑफिस पर दोनों में से कौन सी फिल्म दर्शकों का दिल जीतकर कारोबारी बढ़त हासिल करने में कामयाब होती है.

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय