होम -> सिनेमा

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 09 अप्रिल, 2020 01:57 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) क्यों आया? इसकी एक बड़ी वजह विदेश से भारत (India) आए लोगों को माना जा रहा है. सोशल मीडिया पर एक बड़ी बहस चल रही है कि यदि ऐसे लोगों को नियंत्रित कर लिया गया होता. या फिर वक़्त रहते सरकार ने समझदारी का परिचय दिया होता तो आज हालात दूसरे होते. बात विदेश से भारत आए लोगों की चल रही है तो सिंगर कनिका कपूर (Kanika Kapoor) की भूमिका को ख़ारिज नहीं किया जा सकता. कोरोना वायरस को लेकर कनिका कपूर लगातार आलोचना का सामना कर रही हैं. बेबी डॉल यानी कनिका कपूर के फैंस के लिए एक अच्छी खबर है. लंदन (London) से भारत (India) आने के बाद भयंकर रूप से कोरोना वायरस की गिरफ्त में आई कनिका का बीते कुछ दिनों से लखनऊ पीजीआई (Lucknow PGI) में इलाज चल रहा था. कनिका की फाइनल रिपोर्ट नेगेटिव आई है जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. लेकिन जिनको लग रहा है कि सब ठीक हो गया है या स्थिति सामान्य हो गई है खबर उनको विचलित कर सकती है. बता दें कि अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद कनिका फिलहाल 14 दिनों के लिए क्वारनटीन पर हैं और इस पीरियड के खत्म होने के फौरन बाद उन्हें लखनऊ पुलिस (Lucknow Police) से सवालों के लिए दो चार होना पड़ेगा.

Coronavirus, Kanika Kapoor, Lucknow Police कोरोना वायरस के बाद कनिका कपूर के लिए अगली चुनौती लखनऊ पुलिस है

बताया जा रहा है कि लखनऊ पुलिस, बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर से पूछताछ की प्लानिंग कर रही है. ध्यान रहे कि कोरोना वायरस को लेकर कनिका कपूर की जमकर थू थू हुई थी. क्या सोशल मीडिया क्या मेन स्ट्रीम मीडिया हर जगह कनिका को लापरवाह करार दिया था. इसका लखनऊ पुलिस ने भी गंभीरता से संज्ञान लिया था और उनपर वायरस फैलाने के आरोप में आईपीसी की धारा 269-270 के तहत केस दर्ज किया था.

ध्यान रहे कि कनिका कपूर में कोरोना के लक्षण पाए जाने के बाद पीजीआई लखनऊ में भर्ती कराया गया था. वहां उनका आइसोलेशन ट्रीटमेंट या ये कहें कि क्वारनटीन पीरियड चल रहा था जिसके बाद उन्हें छुट्टी मिल गयी थी. गौरतलब है कि कनिका कपूर ने खुद इंस्टाग्राम पर इस बात की घोषणा की थी कि उन्हें अपने अंदर कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं.

बाद में जब आलोचना हुई तो कनिका कपूर ने ये पोस्ट डिलीट कर दी थी. बता दें कि कनिका ने इंस्टाग्राम पर लिखा था कि, 'मेरी एयरपोर्ट पर सामान्य प्रक्रिया से 10 दिन पहले जांच हुई थी जब मैं घर पर आई तो चार दिन पहले ही मुझे लक्षण महसूस हुए. कनिका की पोस्ट सामने आने के बाद न सिर्फ उन्हें बुरी तरह से ट्रोल किया गया बल्कि ये तक सवाल हुआ कि आखिर कोई कैसे इस हद तक लापरवाह हो सकता है.

लोग यहां तक कह रहे थे कि जब कनिका को ये बात पता थी कि उनकी तबियत ख़राब है. तो ये बात आखिर क्यों नहीं उन्होंने ये बात अधिकारियों को बताई? ध्यान रहे कि लगातार कनिका पर यही आरोप लग रहे हैं कि उन्होंने अपनी ट्रेवेल हिस्ट्री छुपाई और उसके बाद जो हाल उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का हुआ वो किसी से छुपा नहीं है.

बहरहाल अब जबकि मामला पुलिस के पास आ गया है तो पुलिस पता ही लेगी कि आखिर ये नादानी थी या फिर ये सब कनिका ने जानबूझकर किया. यानी कनिका कपूर का अगला इलाज जो होगा वो उस इलाज से कहीं ज्यादा खतरनाक होने वाला है जो अब तक उनका पीजी आई में हुआ है. कुल मिलाकर कहा यही जा सकता है कि यदि उनके अंदर थोड़ा बहुत भी कोरोना हुआ तो हमें यकीन है इस इलाज के बाद वो खुद ब खुद चला जाएगा.

ये भी पढ़ें- 

Social Media का तो जनता ने खुद मजाक बना दिया है...

Hanuman Jayanti पर ब्राज़ील ने भारत से दिलचस्प अंदाज़ में मदद मांगी है

Hydroxychloroquine क्या कोरोना वायरस की रामबाण दवा है, अपने भ्रम दूर कर लें

Coronavirus, Lucknow, Police

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय