होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 13 फरवरी, 2023 01:19 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

आमिर खान को बॉलीवुड में मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहा जाता है. वो अपनी हर फिल्म के लिए जी-तोड़ मेहनत करते हैं. हर नए किरदार में पूरी तरह से उतरने के लिए समय देते हैं. कई बार तो वो महीनों एक किरदार की तैयारी में लगा देते हैं. उदाहरण के लिए उनकी कई फिल्मों जैसे कि 'मंगल पांडे: द राइज़िंग', 'दंगल', 'गजनी' और 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' को देखा जा सकता है. इनमें कई फिल्मों के लिए उन्होंने वजन बढ़ाया तो कई फिल्मों में सिक्स पैक ऐब्स बनाए हैं. लेकिन पिछले साल रिलीज हुई फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' के फ्लॉप होने के बाद आमिर ने फिल्मों से दूरी बना ली है. फिलहाल वो एक्टिंग की बजाए फिल्म प्रोडक्शन पर ध्यान दे रहे हैं. इसके साथ ही अपनी निजी जिंदगी पर फोकस कर रहे हैं. वो हाल ही में उपन्यासकार शोभा डे की नई किताब 'इनसेटिएबल- माई हंगर फॉर लाइफ' के प्रमोशनल इवेंट में शामिल हुए थे.

इस इवेंट में एक शोभा डे के एक सवाल पर उन्होंने कंगना रनौत को एक मजबूत अभिनेत्री बताया. लेकिन इस पर कंगना की जो प्रतिक्रियां आई है, वो उनके अहंकार की पराकाष्ठा को दिखाती है. दरअसल, आमिर खान से सवाल किया गया कि यदि शोभा डे की बायोपिक फिल्म बने तो उसमें कौन सी एक्ट्रेस उनका किरदार बखूबी निभा सकती है? इस पर अभिनेता ने कहा कि प्रियंका चोपड़ा, दीपिका पादुकोण और आलिया भट्ट उनका किरदार अच्छे से निभा सकती हैं. इतने में शोभा ने उनको बीच में ही रोकते हुए कहा कि ये किरदार कंगना रनौत भी अच्छे से कर सकती हैं. इस पर आमिर ने एक्ट्रेस की तारीफ करते हुए उनको मजबूत अभिनेत्री बताया. हालांकि, इस बातचीत का वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो कंगना की तरफ से अहंकार से भरी हुई टिप्पणी की गई, जिसमें उन्होंने आमिर जैसे अभिनेता बेचारा तक बना दिया.

650x400_021123081756.jpg'लाल सिंह चड्ढा' के फ्लॉप होने के बाद आमिर खान फिल्मों से दूर अपनी निजी जिंदगी जी रहे हैं.

इस वीडियो को शेयर करते हुए कंगना रनौत ने ट्विटर पर लिखा, ''बेचारा आमिर खान. ये जताने की पूरी कोशिश की इन्हें पता ही नहीं है कि मैं एकलौती ऐसी एक्ट्रेस हूं, जिसने तीन बार नेशनल फिल्म अवॉर्ड जीता है. आमिर ने इनमें से किसी भी सम्मान का जिक्र नहीं किया. धन्यवाद शोभा जी मुझे आपका रोल करने में खुशी होगी.'' इसके बाद उन्होंने लिखा, ''शोभा जी और मेरे पॉलिटिकल ओपीनियन अलग होने के बावजूद, उन्होंने हमेशा मेरी कला और एक्टिंग की सराहना की है. मेरी मेहनत और डेडिकेशन को नोटिस किया है. नई बुक के लिए ढेरों शुभकामनाएं मैम.'' इसके कुछ देर बाद उनका फिर से एक ट्वीट आया, जिसमें उन्होंने लिखा, ''सॉरी मेरे पर चार नेशनल अवॉर्ड और एक पद्मश्री है. मेरे फैंस ने मुझे याद दिया, वरना मैं तो भूल ही जाती हूं कि मेरे पास कितने अवॉर्ड हैं.'' कंगना को 17 साल के करियर में 9 अवॉर्ड मिल चुके हैं.

आमिर खान से कंगना रनौत की अदावत पुरानी है. इसके पीछे बताया जाता है कि 'दंगल' और 'सीक्रेट सुपरस्टार' के मेकर्स कंगना रनौत को कास्ट करना चाहते थे, लेकिन आमिर के इशारे पर उनको इन दोनों फिल्मों में काम नहीं मिला था. इसके बाद से ही कंगना उनसे खफा हो गई थीं. दोनों की बीच दरार की वजह उनका राजनीतिक नजरिया भी है. इसके बारे में कंगना की बहन रंगोली चंदेल ने बताया था कि राजनीतिक नजरिए में मतभेद की वजह से कंगना और आमिर खान की दोस्ती में कड़वाहट आई है. यही वजह है कि दोनों एक-दूसरे को पसंद नहीं करते हैं. सभी जानते हैं कि कंगना कट्टर बीजेपी समर्थक हैं, तो वहीं आमिर खुद को सेक्युलर कहलाना पसंद करते हैं. हालांकि, कुछ लोगों का दावा है कि उनका झुकाव कांग्रेस की तरफ रहता है. यही वजह है कि वो बॉलीवुड बायकॉट गैंग के निशाने पर भी रहते हैं. उनको अक्सर ट्रोल किया जाता है.

देखा जाए तो आमिर और कंगना दोनों ही बेहतरीन एक्टर है. लेकिन आमिर जैसे सीनियर एक्टर के लिए कंगना विचार कहीं से भी जायज नहीं ठहराया जा सकता. राजनीतिक विचारधारा अपनी जगह है, लेकिन एक्ट्रेस को उनके अभिनय कौशल का सम्मान करना चाहिए. दोनों एक ही इंडस्ट्री में काम करते हैं. फिल्म इंडस्ट्री में कभी किसी का वक्त एक जैसा नहीं रहता है. जो आज अर्श पर है, उसे कल फर्श पर जाना ही है. लेकिन मुगालते में रहने वाले लोग ये भूल जाते हैं. हालांकि, कुछ कलाकार अपने संघर्षों से कमबैक भी करते हैं. जैसे कि इस वक्त शाहरुख खान ने किया है. लंबी आलोचना और पांच साल तक रुपहले पर्दे से दूर रहने के बाद जब उनकी फिल्म 'पठान' रिलीज हुई तो धमाका कर दिया. इस फिल्म ने तमाम विरोध के बावजूद कमाई के कई सारे रिकॉर्ड तोड़े हैं और कई नए बनाए भी हैं. फिल्म ने अभी तक 900 करोड़ से ज्यादा कलेक्शन कर लिया है.

बताते चलें कि साल 2006 में रिलीज हुई भट्ट कैंप की फिल्म 'गैंगस्टर' के जरिए बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली कंगना ने अपनी पहली फिल्म में यह साबित कर दिया था कि वो लंबे रेस का घोड़ा साबित होने वाली है. महज 17 साल की उम्र में उन्होंने 'सिमरन' के किरदार में ऐसी जान डाली कि हर किसी की नजर उन पर ठहर गई. इस फिल्म में बेहतरीन अभिनय करने के लिए उनको फिल्म फेयर अवॉर्ड बेस्ट फीमेल डेब्यू दिया गया. इस तरह 'लम्हे', 'मणिकर्णिका', 'कृष 3', 'फैशन', 'तनु वेड्स मनु', 'क्वीन', 'थलाइवी' जैसी बेहतरीन फिल्में दे चुकीं कंगना ने करियर की शुरुआत में अपने अभिनय के जादू से टॉप एक्ट्रेस की लिस्ट में अपना नाम शामिल करा दिया था. 17 साल के करियर में कंगना रनौत ने 27 से अधिक फिल्में की हैं. इन फिल्मों में शानदार अभिनय की बदौलत उनको अबतक चार नेशनल फिल्म अवॉर्ड और पांच फिल्म फेयर अवॉर्ड मिल चुका है.

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय