charcha me| 

होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 21 जून, 2022 07:24 PM
मुकेश कुमार गजेंद्र
मुकेश कुमार गजेंद्र
  @mukesh.k.gajendra
  • Total Shares

फिल्म इंडस्ट्री में एक्ट्रेस का करियर एक्टर्स के मुकाबले हमेशा बहुत कम समय का रहा है. अक्सर 35 साल की उम्र तक एक्ट्रेस को फिल्मों से आउट करने का चलन रहा है, जबकि एक्टर 55 साल की उम्र में भी हीरो बना अपनी आधी उम्र की एक्ट्रेस के साथ इश्क लड़ाता हुआ नजर आता है. ऐसे में कई बार ये भी देखा गया है कि शादी के बाद ज्यादातर एक्ट्रेस बच्चे होने पर कुछ समय के लिए अपने करियर से ब्रेक ले लेती हैं. लेकिन जब बच्चें बड़े हो जाते हैं, तो उसके बाद वापस अपने करियर में कमबैक की पुरजोर कोशिश करती हैं. लेकिन बहुत कम ही ऐसे कलाकार हैं, जिनको कमबैक करते वक्त सफलता मिल पाती है. यदि फिल्मों के मुकाबले वेब सीरीज की बात करूं तो सफलता की दर ज्यादा दिखती है. बॉक्स ऑफिस के मुकाबले ओटीटी पर अपनी दूसरी पारी शुरू करने वाले ज्यादातर फिल्म के कलाकार सफल साबित होते हैं.

बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी फिल्मों में लगातार कमबैक की कोशिश कर रही हैं. 14 साल के लंबे अंतराल के बाद उनको रूहपले पर्दे पर देखना सुखद है. लेकिन एक्ट्रेस को वो सफलता हासिल नहीं हो पा रही है, जो उनको और उनकी फिल्म को चाहिए. उनकी पहली कमबैक फिल्म 'हंगामा 2' थी, जिसको समीक्षकों और दर्शकों ने सिरे से नकार दिया. फिल्म में न तो प्रियदर्शन जैसे निर्देशक का टैलेंट काम आया, न ही शिल्पा जैसी अभिनेत्री का जादू. सबकुछ फेल हो गया. फिल्म बुरी तरह फ्लॉप हो गई. उसके बाद उनकी दूसरी फिल्म 'निकम्मा' अब जाकर रिलीज हुई है. इसका लक्षण बहुत खराब लग रहा है. इसे समीक्षकों और दर्शकों ने नकार दिया है. फिल्म की पहले दिन की कमाई महज 53 लाख रुपए रही है. इतना ही नहीं अभी तक कुल कमाई 3 करोड़ तक ही पहुंच पाई है. ऐसे में यह साफ है कि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हो रही है.

shilpa-650_062022120700.jpg

सही मायने में देखा जाए तो बॉक्स ऑफिस के मुकाबले ओटीटी सेकंड इनिंग के लिए ज्यादा लकी रहा है. उदाहरण देखिए...

- रवीना टंडन

90 के दशक की सफलत अभिनेत्रियों में शुमार रवीना टंडन के लिए आज भी हर दिल धड़का है. 'शूल', 'बुलंदी' और 'अक्स' जैसी बेहतरीन फिल्मों में काम करने के बाद उनके पूरे देश में एक नई पहचान मिली थी. लेकिन साल 2006 में वो अचानक रूपहले पर्दे से ओझल हो गईं. कहा जाता है कि बतौर सिंगल मदर उन्होंने दो बच्चियों का पालन-पोषण किया है, इसलिए उनको अपने काम से अवकाश लेना पड़ा. साल 2014 में उन्होंने फिल्म 'बॉम्बे वेलवेट' से कमबैक की कोशिश की, लेकिन उनके किरदार को तवज्जो नहीं मिल सकी. इसके बाद साल 2021 में नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई वेब सीरीज 'अरण्यक' के जरिए उन्होंने अपना सफल कमबैक किया. इसमें उन्होंने एक पुलिस अफसर का किरदार निभाया है. इस रोल में लोगों ने रवीना को बहुत ज्यादा पसंद किया है. इसकी वजह से उनको साउथ के रॉकिंग स्टार यश की बेहतरीन फिल्म 'केजीएफ चैप्टर 2' में अहम रोल करने का मौका मिला.

- माधुरी दीक्षित

'धक-धक गर्ल' के नाम से मशहूर अभिनेत्री माधुरी दीक्षित का सिक्का किसी दौर में बॉलीवुड में जबरदस्त तरीके से चलता था. लेकिन शादी के बाद उन्होंने फिल्मों से ब्रेक क्या लिया, करियर की गाड़ी पटरी से ही उतर गई. ऐसा नहीं है कि उन्हें बॉलीवुड में काम नहीं मिला. कमबैक के बाद उन्होंने कई फिल्मों में अहम किरदार निभाए, लेकिन दर्शकों के दिलों पर पहले जैसा जादू नहीं चला पाईं. इसी साल उन्होंने भी ओटीटी प्लेटफॉर्म का रुख किया और वेब सीरीज 'द फेम गेम' के जरिए अपना ओटीटी डेब्यू किया. यह सीरीज 25 फरवरी 2022 को नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई थी. इसमें उन्हें अनामिका आनंद के किरदार में देखा गया है. उनकी वापसी को दर्शकों ने खूब पसंद किया. इस वेब सीरीज में उनके साथ संजय कपूर, मानव कौल, लक्षवीर सरन, सुहासिनी मुले और मुस्कान जाफरी भी अहम किरदारों में हैं. इसका निर्देशन बिजॉय नंबियार और करिश्मा कोहली ने किया है.

- सुष्मिता सेन

ओटीटी पर सफल कमबैक करने वाली बॉक्स ऑफिस पर असफल एक्ट्रेस की फेहरिस्त में सबसे पहला नाम सुष्मिता सेन का आता है. उन्होंने साल 2020 में वेब सीरीज 'आर्या' के जरिए अपना डिजिटल डेब्यू किया है. इस वेब सीरीज में लोगों ने उनके अभिनय को बहुत पसंद किया है. इसके बाद इस वेब सीरीज के दूसरे पार्ट यानी 'आर्या 2' में भी उन्होंने अपने अभिनय का जबरदस्त तड़का लगाया. दोनों वेब सीरीज डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज हुई हैं. इसका राम माधवानी ने निर्देशन किया है. फिल्मों 10 साल तक गायब रहने वाली सुष्मिता सेन की इसे दमदार वापसी कहा जा सकता है. अपने कमबैक के बारे में खुद उन्होंने कहा था, ''मैं खुद को बहुत भाग्यशाली मानती हूं कि मैं फिल्मों से 10 सालों तक दूर थी लेकिन अपने फैंस से नहीं. मुझसे दूर रहने की वजह थी कि मुझे अच्छी स्क्रिप्ट नहीं मिल रही थी. मुझे ओल्ड स्कूल रोल्स ऑफर हो रहे थे. मैंने ब्रेक लेकर सही रोल का वेट किया लेकिन जब आर्या के डायरेक्टर राम वाधवानी मेरे पास आए तो मुझे कहानी बेहद पसंद आई मैंने हामी भर दी. इसका नतीजा हम सभी के सामने है.''

- बॉबी देओल

'एक समय था जब मैं एक बड़ा स्टार हुआ करता था, लेकिन बाद में मेरे लिए कुछ चीजें ठीक नहीं रही थीं. मेरी मार्केट वेल्यू भी कम हो गई थी. मैं एक ऐसे दौर से गुजरा था, जहां मैं यह समझ नहीं पा रहा था कि मेरे साथ ऐसा क्यों हो रहा है और फिर मैंने हार मानना शुरू कर दिया था. मैंने देखा कि मेरे बच्चे नोटिस करते हैं कि मैं घर पर बैठा हूं. तब मुझे समझ आया कि मैं एक्टर हूं और मेरा काम है किरदार प्ले करना, फिर चाहे वो लीड रोल ना हो. एक एक्टर के रूप मैंने महसूस किया कि मुझे खुद को साबित करने की जरूरत है. इसके बाद ही मैंने चीजों को फिर से देखना शुरू कर दिया था.' ये बॉबी देओल की कहानी, उन्हीं की जुबानी है. बॉबी देओल के जीवन में एक ऐसा समय आया, जब उनके पास करने के लिए काम ही नहीं था. तब उन्होंने ओटीटी की तरफ अपना रुख किया. नेटफ्लिक्स की फिल्म 'क्लास ऑफ 83' के जरिए अपना डिजिटल डेब्यू किया. इसके बाद प्रकाश झा की वेब सीरीज 'आश्रम' में एक ढोंगी बाबा के लीड रोल में नजर आए. यह सीरीज एमएक्स प्लेयर पर रिलीज हुई. इसमें बॉबी की एक्टिंग की खूब सराहना हुई. इसके बाद इसका दूसरा सीजन भी रिलीज किया गया. बॉबी देओल ने कुछ दिनों पहले ही अपनी वेब सीरीज 'आश्रम' के लिए बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड जीता है. बहुत जल्द कई वेब सीरीज में नजर आने वाले हैं.

#शिल्पा शेट्टी, #निकम्मा, #ओटीटी प्लेटफॉर्म्स, Film Stars Successful Second Innings On OTT, Bollywood Film Stars Successful Second Innings On OTT, Film Stars Successful Second Innings On OTT Platforms

लेखक

मुकेश कुमार गजेंद्र मुकेश कुमार गजेंद्र @mukesh.k.gajendra

लेखक इंडिया टुडे ग्रुप में डिजिटल जर्नलिस्ट हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय