होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 20 अगस्त, 2020 10:52 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

कभी अपने बड़े बालों और नशीली आंखों के दम पर फ़िल्में हिट करा देने वाले मशहूर एक्टर बॉबी देओल की बॉलीवुड में दूसरी इनिंग शुरू हो चुकी है और नेटफ्लिक्स की फ़िल्म क्लास ऑफ 83 उनके फ़िल्मी करियर को एक नई ऊंचाई दे सकती है. बॉबी देओल की फ़िल्म क्लास ऑफ 83 का दर्शकों को बेसब्री से इंतजार था. शराब की लत के कारण फ़िल्म इंडस्ट्री से दूर होने के बाद जब साल 2017 में बॉबी देओल की बड़े पर्दे पर वापसी हुई, तब से उन्हें 4 साल में कोई भी बड़ा रोल नहीं मिला. अब बॉबी देओल क्लास ऑफ 83 में एक सशक्त भूमिका में नजर आने वाले हैं, जिसे देखने के लिए दुनिया बेताब है. पत्रकार से शब्दों की नायाब दुनिया में कदम रखने वाले एस. हुसैन जैदी के नॉन फिक्शन नोवेल क्लास ऑफ 83 पर आधारित अतुल सबरवाल की फ़िल्म क्लास ऑफ 83 में बॉबी देओल नासिक स्थित पुलिस अकैडमी के डीन विजय सिंह की भूमिका निभा रहे हैं. यह किरदार महाराष्ट्र पुलिस के पूर्व डीजीपी अरविंद इनामदार की जिंदगी पर आधारित है, जिन्होंने नासिक स्थित पुलिस ट्रेनिंग अकैडमी के डीन के रूप में एक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट टीम तैयार करने में प्रमुख भूमिका निभाई थी, जो आगे चलकर मुंबई को अंडरवर्ल्ड के गुर्गों से मुक्त कराने की कोशिश करती है.

बॉबी देओल की प्रमुख भूमिका वाली फ़िल्म क्लास ऑफ 83 सच्ची घटना पर आधारित है, जिसमें थोड़ी काल्पनिकता मिलाकर अतुल सबरवाल नेटफ्लिक्स पर रिलीज कर रहे हैं. शाहरुख खान की कंपनी रेड चिलीज एंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी इस फ़िल्म को 21 अगस्त को रिलीज करने का फैसला किया गया था. नेटफ्लिक्स ने बीते दिनों जिन 17 भारतीय प्रोजेक्ट को हालिया महीनों में रिलीज कराने की घोषणा की थी, उनमें क्लास ऑफ 83 फ़िल्म भी थी. बॉबी देओल के साथ ही इस फ़िल्म में अनूप सोनी, जॉय सेनगुप्ता, विश्वजीत प्रधान, हितेश भोजराज, समीर परांजपे, निनाद महाजनी और पृथ्विक प्रताप जैसे कलाकार भी अहम भूमिका में हैं. क्लास ऑफ 83 की कहानी 1980 के दशक की है, जब मायानगरी में अंडरवर्ल्ड का बोलबाला था और मुंबई की सड़कें अक्सर खून से लाल होती थीं. उस समय कुछ बेखौफ पुलिसकर्मियों ने जिस तरह से अपराधियों के हौसले कुचले और इसके पीछे कौन सा शख्स था, इसी की कहानी है क्लास ऑफ 83. यहां क्लास ऑफ 83 का मतलब महाराष्ट्र पुलिस के 1983 बैच के पासआउट कुछ एनकाउंटर स्पेशलिस्ट की टीम से है.

बॉबी देओल के एक्टिंग करियर की झलक

साल 1995 में राजकुमार संतोषी की फ़िल्म बरसात से बॉलीवुड डेब्यू करने वाले बॉबी देओल का एक्टिंग करियर हमेशा से उतार-चढ़ाव से भरा रहा. अपनी पहली ही फ़िल्म में फिल्मफेयर अवॉर्ड पाने वाले बॉबी देओल ने बाद के वर्षों में गुप्त, सोल्जर, बादल, बिच्छु, हमराज, अजनबी जैसी सफल फ़िल्में तो दीं, लेकिन उनके खाते में ज्यादातर फ़िल्में ऐसी आईं, जिन्हें दर्शकों ने पूरी तरह नकार दिया. समय के साथ उन्हें फ़िल्मों में लीड रोल की भी कमी होने लगी और आलम ये हुआ कि बॉबी देओल को साल 2010 से 2020 के दौरान मात्र 10 फ़िल्में मिलीं. इसमें भी करीब 5 साल वह फ़िल्मों से दूर ही रहे. 2013 में आई फ़िल्म यमला पगला दीवाना 2 के बाद साल 2017 में पोस्टर बॉय फ़िल्म से बॉबी देओल की वापसी हुई, लेकिन यह फ़िल्म भी बुरी तरह फ्लॉप रही. उसके बाद बॉबी देओल के करियर को संवारने का बीड़ा उठाया सलमान खान ने और फ़िल्म आई रेस 3. यह फ़िल्म इतनी वाहियात थी कि इसने बॉबी देओल के करियर को और ज्यादा गर्त में धकेल दिया.

जब बॉबी के पास कुछ न रहा...

बढ़ती उम्र और लीड रोल में जलवा ना दिखाने की वजह से बॉबी देओल को साइड रोल मिलने लगे और फिर ‘यमला पगला दीवाना फिर से’ और ‘हाउसफुल 4’ जैसी फ़िल्मों में भी बॉबी ने ठीक-ठाक काम किया. इसके बाद अब बॉबी देओल शाहरुख खान के प्रोडक्शन हाउस की फ़िल्म क्लास ऑफ 83 में प्रमुख भूमिका में दिखने वाले हैं, जो कि उनके लिए कमबैक फ़िल्म मानी जा रही है. यूं तो बॉबी देओल ने अपने एक्टिंग करियर में ठीक-ठीक काम किया है, लेकिन ज्यादा फ्लॉप फ़िल्में देने की वजह से वह कभी भी मेनस्ट्रीम एक्टर के तौर पर उभरकर सामने नहीं आ पाए. अब उम्र की 52वीं दहलीज पर उनके पास बचे हैं तो बस ऐसे किरदार, जिसमें वह जंच सके और अपना 100 पर्सेंट दे सकें. बॉबी देओल प्रकाश झा की वेब सीरीज आश्रम से डिजिटल प्लैटफॉर्म पर भी एंट्री करने के लिए तैयार हैं. बलात्कारी बाबा राम रहीम की जिंदगी से प्रभावित वेब सीरीज आश्रम में बॉबी देओल राम रहीम के किरदार में जंच रहे हैं. आश्रम वेब सीरीज एमएक्स प्लेयर पर 28 अगस्त को रिलीज हो रही है.

क्लास ऑफ 83 बॉबी देओल के करियर के लिए संजीवनी साबित हो सकती है और माना जा रहा है कि पुलिस अकैडमी के डीन विजय सिंह के किरदार में दुनिया बॉबी देओल के कई रुपों से अवगत होगी, जिसमें इमोशन, गुस्सा और बेबसी है. आने वाले समय में बॉबी देओल और इसी तरह की सशक्त भूमिका में दिख सकते हैं. बॉबी देओल ने बीते दिनों अपनी निजी ज़िंदगी के पन्ने खोलते हुए पहली बार सार्वजनिक तौर पर कबूला कि शराब ने उनके पूरे करियर को ऐसा प्रभावित किया कि वह कहीं के नहीं रहे. अब फिर से बॉबी देओल अपनी ज़िंदगी और एक्टिंग करियर को पटरी पर लाने की कोशिशें कर रहे हैं.

Bobby Deol, Bobby Deol Film, Bobby Deol Film Class Of 83

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय