होम -> सिनेमा

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 28 फरवरी, 2021 04:20 PM
मुकेश कुमार गजेंद्र
मुकेश कुमार गजेंद्र
  @mukesh.k.gajendra
  • Total Shares

'मेडिकल कंडीशन...सर्जरी...नहीं लिख सकता'...सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने सोशल मीडिया पर जैसे ही ये लिखा, लोग परेशान हो गए. उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए दुआएं करने लगे. हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि बिगबी किस बीमारी से जूझ रहे हैं. लेकिन कुछ दिन पहले उन्होंने एक ट्वीट किया था, जिससे पता चलता है कि उनकी कोई सर्जरी होनी है. उन्होंने लिखा था, 'कुछ ज़रूरत से ज़्यादा बढ़ गया है, कुछ काटने पर सुधरने वाला है, जीवन काल का कल है ये, कल ही पता चलेगा कैसे रहे वे.' बरहाल दुआओं का दौर जारी है. अगले अपडेट का सभी को इंतजार है.

अभी पिछले साल जुलाई में ही अमिताभ बच्चन, उनके बेटे अभिषेक बच्चन, बहू ऐश्वर्या राय और पोती आराध्या कोरोना संक्रमित हुए थे. सभी का मुंबई के नानावटी अस्पताल में इलाज हुआ था. करीब 22 दिन तक अस्पताल में रहने के बाद ठीक होकर बिगबी घर लौटे थे. इसके बाद तुरंत बाद उन्होंने अपनी अपकमिंग प्रोजेक्ट्स के लिए शूटिंग शुरू कर दी थी. वह अजय देवगन के निर्देशन में बन रही फिल्म 'मे डे' की शूटिंग कर रहे थे. इसमें अजय देवगन, रकुल प्रीत सिंह और बोमन ईरानी की भी अहम भूमिका है. इसके अलावा फिल्म 'चेहरे', 'झुंड', 'ब्रह्मास्त्र' और 'बटरफ्लाई' में भी काम कर रहे हैं.

untitled-1-650_022821024729.jpgएंग्रीयंग मैन अमिताभ बच्चन पहले से ही कई गंभीर बीमारियों से जूझ चुके हैं.

'बाधाएं आती हैं आएं, घिरें प्रलय की घोर घटाएं, पांवों के नीचे अंगारे, सिर पर बरसें यदि ज्वालाएं, निज हाथों से हंसते-हंसते, आग लगाकर जलना होगा, कदम मिलाकर चलना होगा'...भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की ये कविता बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन पर सटीक बैठती हैं. अपने जीवन में तमाम संघर्षों और परेशानियों के बावजूद उन्होंने कभी हार नहीं मानी. हमेशा अपने काम को प्राथमिकता देते रहे. फिल्म इंडस्ट्री के साथ कदम से कदम मिलाकर चलते रहे. उनकी मेहनत, काम के प्रति समर्पण और समस्याओं से लड़ने की हिम्मत ही आज उन्हें इस मुकाम तक लेकर आई है.

बिगबी 78 साल के हो चुके हैं. भारत सरकार 60 की उम्र में अपने कर्मचारियों को रिटायर कर देती हैं. ऐसे में तो अमिताभ बच्चन को घर पर आराम करना चाहिए, लेकिन आज भी वो 5-6 फिल्मों की शूटिंग कर रहे हैं. हालही में कौन बनेगा करोड़पति शो खत्म हुआ है, जिसमें हमेशा की तरह वो होस्ट थे. इसके अलावा तमाम विज्ञापनों की शूटिंग वह लगातार करते रहते हैं. लेकिन बिना रुके, बिना थके वो निरंतर अपना काम करते रहते हैं. उनके करीब 50 साल के करियर में कई बार स्वास्थ्य की समस्या हुईं. अस्पताल में भर्ती हुए. कई गंभीर बीमारियां हुईं. लेकिन आज भी वो हर तरफ सक्रिय हैं.

एंग्रीयंग मैन अमिताभ बच्चन पहले से ही कई गंभीर बीमारियों से जूझ चुके हैं. इनमें से कुछ को वे मात दे चुके हैं. कुछ से वे अब भी जूझ रहे हैं. उन्हें हेपेटाइटिस-बी हुआ था, जिसके चलते उनका 75 फीसदी लिवर खराब हो गया. वे टीबी को मात दे चुके हैं, लेकिन अस्थमा जैसी बीमारी से जूझ रहे हैं. साल 1983 में आई फिल्म 'कुली' की शूटिंग के दौरान हुई वो खौफनाक घटना कोई भी सिनेप्रेमी कभी भुला नहीं सकता. एक्टर पुनीत इस्सर के साथ लड़ाई के एक सीन में अमिताभ बच्चन बुरी तरह घायल हो गए थे. शरीर में खून की कमी होने के बाद आनन-फानन में 60 बोतल ब्लड इकट‌्ठा किया गया था.

देशभर से करीब 200 ब्लड डोनर्स ने अपना खून दिया था. इस दौरान एक लापरवाही हो गई. गलती से एक हेपेटाइटिस-बी संक्रमित व्यक्ति का खून बिगबी को चढ़ा दिया गया. इसके बाद वे हेपेटाइटिस-बी से संक्रमित हो गए. डॉक्टरों द्वारा लगभग मृत घोषित कर दिेए गए अमिताभ बहुत मुश्किल से बचाए जा सके. कहते हैं कि उनकी जान मौत के मुंह से निकाली गई थी. इधर, हेपेटाइटिस-बी वायरस के इफेक्शन ने उनके लिवर पर बुरा असर डाला. करीब 18 साल बाद एक रूटीन चेकअप के दौरान पता चला कि उनका लिवर बुरी तरह संक्रमित है. उनको लिवर सिरोसिस हो गया है. डॉक्टरों से सलाह ली गई.

इसके बाद साल 2012 में बिगबी के लिवर का 75 फीसदी संक्रमित हिस्सा काटकर अलग किया गया. अब 25 फीसदी लिवर के साथ जी रहे हैं. उनके लिवर का फंक्शन कमजोर हो गया है. 'कुली' के दौरान हुई दुर्घटना के बाद उस चोट की वजह से उनके पेट के अंदरुनी भाग को इतना नुकसान पहुंचा कि अभी तक उसके साइड इफेक्ट सामने आते रहते हैं. तब उन्होंने दवाईयों के भारी डोज लिए थे. इसकी वजह से मायस्थेनिया ग्रेविस नामक बीमारी से ग्रसित हो गए. बहुत लंबे समय तक इसका भी इलाज चला है. डाइवर्टिक्युलाइटिस ऑफ स्मॉल इंटेस्टाइन बीमारी को ठीक करने के लिए सर्जरी भी हो चुकी है.

साल 2000 में अमिताभ बच्चन को पता चला कि उन्हें टीबी हो गया है. लंबे समय तक दवा चली, जिसके बाद वो ठीक हो सके. बिगबी ने कहा था कि यदि यह बीमारी उन्हें हो सकती है तो किसी को भी हो सकती है. मरीज दवा में कोई कोताही न बरते तो वह आराम से इलाज के साथ काम भी कर सकता है. जैसा कि उन्होंने खुद किया था. इस बीमारी से लड़ते हुए वो फिल्मों की शूटिंग लगातार कर रहे थे. इतना ही नहीं उनको अस्थमा की बीमारी भी है. फेफड़ों से जुड़ी इस बीमारी में बॉडी के एयरवेज संकरे हो जाते हैं. ऑक्सीजन सही मात्रा में फेफड़ों तक नहीं पहुंच पाती है. बिगबी इससे भी लड़ रहे हैं.

यदि आप ध्यान से देखेंगे तो समझ में आएगा कि पिछले 37 साल से अमिताभ बच्चन लगातार किसी न किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं. लेकिन उनकी कोई भी बीमारी कभी उनके करियर के आड़े नहीं आई. हमेशा इलाज कराते हुए या उसके बाद उन्होंने अपना काम जारी रखा. 'कर्म ही पूजा है' इस भाव के साथ उन्होंने कभी अपने काम से बहाना नहीं किया. शूटिंग के सेट पर भी सबसे ज्यादा समय के पाबंद वही माने जाते हैं. समय से आते हैं, समय से काम खत्म करके चले जाते हैं. वरना फिल्मी सितारों के नखरे तो निर्माता-निर्देशक बखूबी जानते हैं. यही वजह है कि अमिताभ आज बॉलीवुड के बिगबी हैं, शहंशाह है और सदी के महानायक है. उनकी जगह कई सितारों ने लेनी चाही, लेकिन ले नहीं पाए. शायद ही कोई दूसरा अमिताभ बच्चन पैदा होगा.

#अमिताभ बच्चन, #बिग बी हेल्थ अपडेट, #अभिषेक बच्चन, Amitabh Bachchan Health Update, Amitabh Bachchan Surgery, BigB Medical Condition

लेखक

मुकेश कुमार गजेंद्र मुकेश कुमार गजेंद्र @mukesh.k.gajendra

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में वरिष्ठ पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय