होम -> सिनेमा

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 15 मई, 2020 03:08 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

कोरोना वायरस (Coronavirus) ने तमाम मुल्कों की कई इंडस्ट्रीज को प्रभावित किया है. बात भारत की हो तो यहां भी लॉक डाउन के कारण तमाम चीजें बंद हैं और बॉलीवुड (Bollywood) भी इससे अछूता नहीं है. माना जा रहा है कि कोरोना वायरस के चलते इंडस्ट्री को कई सौ करोड़ का घाटा झेलना पड़ा है. मगर अब जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं लोग बीच का रास्ता निकाल रहे हैं. ऐसा शायद इसलिए भी हो रहा है क्योंकि सरकार पहले ही इस बात को कह चुकी है कि अब वो वक़्त आ गया है जब हमें कोरोना के साथ जीने की आदत डाल लेनी चाहिए. इन्हीं सब बातों के चलते इंडस्ट्री में एक बड़ा फैसला हुआ है. फैसले का असर उन दर्शकों पर पड़ेगा जिन्हें कॉमेडी/ फैमिली फिल्में पसंद हैं और जो अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) या आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) के फैन हैं. खबर है कि अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना स्टारर गुलाबो सिताबो (Gulabo Sitabo) को बड़े पर्दे पर नहीं बल्कि अमेजन प्राइम (Amazon Prime) वीडियो पर देख पाएंगे. फ़िल्म अपनी डिजिटल रिलीज के लिए पूरी तरह तैयार है. बीते दिनों फिल्म के निर्माताओं की इस घोषणा के बाद क्रिटिक्स भी इसे एक उम्दा फैसला मान रहे हैं.

Gulabo Sitabo, Amazon Prime, Film, Amitabh Bachchanअमेजन प्राइम पर आने वाली अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना की फिल्म गुलाबो सिताबो के पोस्टर से साफ़ है कि फिल्म मजेदार होगी

शुजीत सरकार द्वारा निर्देशित और लखनऊ की पृष्ठभूमि पर बनीं इस फिल्म की दुनियाभर में स्ट्रीमिंग 12 जून को होगी. बता दें कि अ राइजिंग सन फिल्म्स प्रोडक्शन की यह फिल्म पहले सिनेमाघरों में अप्रैल में रिलीज होने वाली थी लेकिन कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन ने फ़िल्म की रिलीज को टाल दिया था. अब उस नुकसान से उभरने के लिए फिल्ममेकर्स ने डिजिटल रास्ता अपनाने का फैसला किया है. अमिताभ बच्चन ने सोशल मीडिया पर फिल्म का पहला पोस्टर जारी किया है और इस फैसले पर अपनी खुशी जाहिर करते हुए इसे एक सही फैसला माना है.

वहीं इस पोस्टर को लेकर फिल्म  के अहम किरदार आयुष्मान ने भी तारीफों के पल बांधे हैं और बताया है कि दर्शकों को ये फिल्म क्यों देखनी चाहिए

फ़िल्म की डिजिटल रिलीज पर निर्देशक शुजीत सरकार ने कहा है कि उन्हें खुशी है कि जूही चतुर्वेदी द्वारा लिखी गई फिल्म आखिरकार रिलीज होगी. शुजीत का कहना है कि, 'मुझे खुशी है कि आखिरकार मैं अपनी फिल्म को जल्द से जल्द आगे बढ़ा सकता हूं. साथ हीशुजीत ने ये भी कहा कि ये अप्रत्याशित परिस्थितियां हैं, हम सभी को इससे गुजरना होगा.'

डिजिटल टेक्नोलॉजी और आने वाले वक्त का जिक्र करते हुए शुजीत ने कहा है कि 'मैंने कभी भी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर प्रयोग नहीं किया है. यह पहली बार है जब हम किसी फिल्म को स्ट्रीटमर पर रिलीज कर रहे हैं. यह काफी रोमांचक है क्योंकि भविष्य डिजिटल ही है.'

बात अगर फ़िल्म की हो तो 2015 के बाद ये दूसरी बार है जब शुजीत और अमिताभ बच्चन ने एक साथ काम किया है. ध्यान रहे कि दोनों ही लोग 2015 में आई फ़िल्म पीकू में एक साथ काम कर चुके थे इसलिए शुजीत और अमिताभ दोनों को एक साथ काम करने में ज्यादा परेशानी नहीं हुई है.

फ़िल्म के पोस्टर पर नजर डालें तो मिलता है अमिताभ का मेक अप देखकर इस बात का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है कि इस फ़िल्म में भी उनका रोल उतना ही चैलेंजिंग है जैसा हम उन्हें 'पा' में देख चुके हैं.

फ़िल्म गुलाबो सिताबो की कहानी एक मकानमालिक और किराएदार के रिश्ते पर आधारित है तो माना ये भी जा रहा है कि इस फ़िल्म में दर्शकों को रोमांच, कॉमेडी, ड्रामा यानी हर वो एलिमेंट दिखेगा जिसे देखने के लिए वो टिकट के पैसे खर्च कर अब तक थियेटर जाते थे. फ़िल्म में बात अगर आयुष्मान खुराना के रोल की हो तो कहा यही जा रहा है कि फ़िल्म गुलाबो सिताबो में एक बिल्कुल अलग तरह की एक्टिंग की है जिसे दर्शकों ने उनकी शायद ही किसी अन्य फ़िल्म में देखा हो.

फिल्म को लेकर बताया यहां तक जा रहा है कि फिल्म में आयुष्मान के काम से निर्देशक शुजीत भी काफी प्रभावित हुए हैं और ऐसा कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं जहां आयुष्मान की तारीफ की संभावनाएं बन रही है.

फिल्म को दर्शकों का कितना प्यार मिलता है. फिल्म का डिजिटल संस्करण दर्शकों को पसंद आता है या नहीं ? दर्शक फिल्म देखकर कितना प्रभावित होते हैं तमाम सवालों के जवाब वक़्त देगा लेकिन जो फिल्म का पोस्टर है और इस पोस्टर में जिस अंदाज में अमिताभ और आयुष्मान दिखाई दे रहे हैं यकीनन मजा तो खूब आने वाला है.

बाकी बात फिल्म के पोस्टर रिलीज से शुरू हुई है तो हमारे लिए भी ये बताना जरूरी हो जाता है कि जो लुक इस पोस्टर में अमिताभ ने अपनाया है उसके बाद कहा यही जा सकता है कि अमिताभ को यूं ही बेस्ट एक्टर नहीं कहते। अमिताभ अपनी फिल्म में जान फूंकने के लिए हर वो जतन करते हैं जो एक कहानी को हिट बनाती है.

ये भी पढ़ें -

Illegal Review: झल्लाए पीयूष मिश्रा,अनुभवहीन नेहा शर्मा और कमज़ोर कहानी का कॉम्बो

Thappad क्या हमारी ज़िन्दगी का एक बेहद आम सा हिस्सा बन गया है?

Mastram Review: लड़कपन से जवानी की दहलीज पर ले जाता है मस्तराम

Gulabo Sitabo, Amazon Prime, Amitabh Bachchan

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय