charcha me| 

समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |   10-01-2017
प्रवीण मिश्रा
प्रवीण मिश्रा
  @astropraveenmishra

राहुल गांधी-

जन्म तारीख- 18-06-1970

जन्म समय- 21:52 बजे

जन्म स्थान- दिल्ली

rahul650_011017072128.jpg
साल 2017 में मजबूत प्लानिंग दिला सकती है राहुल को सफलता

राहुल गांधी की कुंडली मकर लग्न और वृश्चिक राशि की है. वर्तमान समय में इनकी चंद्रमा की महादशा और बृहस्पति की अंदरदशा चल रही है. चंद्रमा 11वें घर में मंगल की राशि में बैठा हुआ है और बृहस्पति कर्म स्थान में शुक्र की राशि में बैठे हैं, कर्म स्थान पर शनि की दृष्टि पड़ रही है इसलिए हर कार्य का रिजल्ट बहुत देर से मिल सकता है. पंचम भाव का स्वामी शुक्र सातवें घर बैठा है और पंचम स्थान में बुध ग्रह है, सूर्य और मंगल छठे घर में बैठे हुए हैं मंगल अस्त है.

2017 में मंगल राजा की भूमिका में होगा और गुरु मंत्री का रोल अदा करेंगे, ऐसे में राहुल गांधी जी को मजबूत योजना बना कर आगे बढ़ना होगा तभी सफलता मिलेगी, जितनी अच्छी प्लानिंग होगी उतने ही अच्छे रिजर्ल्ट साल 2017 में मिल सकते हैं.

ये भी पढ़ें- विपक्ष क्यों केंद्र सरकार पर भारी नहीं पड़ पा रहा है !

प्रियंका गांधी वाड्रा

जन्म की तारीख- 12-01-1972

जन्म का समय- 1:59 बजे

जन्म स्थान- दिल्ली

priyanka_gandhi650_011017072238.jpg
 साल 2017 में पार्टी में प्राण फूंक सकती हैं प्रियंका 

वैदिक ज्योतिष के अनुसार प्रियंका गांधी वाड्रा की तुला लग्न की कुंडली है और वृश्चिक राशि है. वर्तमान समय में शुक्र की महादाश चल रही है और शुक्र की ही अंतरदशा चल रही है. शुक्र कुंडली में पंचम भाव में बैठा हुआ है और लाभ स्थान को देख रहा है. गुरु स्वराशि में तृतीय भाव में विराजमान हैं साथ में सूर्य और बुध बैठे हुए हैं.

लग्न का स्वामी शुक्र 2017 में विशेष प्रभावी रहेगा और प्रियंका गांधी वाड्रा को लाइम लाइट में रखेगा, ग्रहों के संकेत ये कहते हैं कि साल 2017 में प्रियंका गांधी को कांग्रेस पार्टी में नई जान फूंकने की जिम्मेदारी दी जा सकती है और आने वाले समय में उनकी लोकप्रियता और बढ़ सकती है.

ये भी पढ़ें- भारत-पाक की कुंडली में ‘69 का योग’ ! जानिए इसका मतलब...

नरेंद्र मोदी

जन्म तारीख- 17-09-1950

जन्म समय- 12.09 बजे

स्थान- महेसाना, गुजरात

modi650_011017072327.jpg
 2017 में देशहित में कई फैसले लेंगे नरेंद्र मोदी

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर देशभर की निगाहें हैं. लोगों को ढेर सारी उम्मीदें हैं. वैदिक ज्योतिष के अनुसार नरेंद्र मोदी जी की वर्तमान समय में चंद्रमा की महादशा चल रही है और बुध की अंतरदशा चल चल रही है. गोचर में शनि वृश्चिक राशि में हैं मोदी जी का वृश्चिक लग्न और वृश्चिक राशि भी है. शनि आम जनता का कारक ग्रह माना जाता है, कुंडली के अनुसार इस समय शनि का विशेष रूप से प्रभाव होने से मोदी जी आम जनता के हित में बड़े फैसले कर सकते हैं, जिसका लाभ देश को और आम जनता को लंबे समय तक मिलेगा.

चंद्रमा की महादशा में मानसिक चिंता का असर सेहत पर पड़ सकता है, इसलिए इस साल उन्हें सेहत का विशेष ख्याल रखना होगा. कुल मिल मिलकर ये कहा जा सकता है कि इस साल नरेंद्र मोदी को विश्व स्तर पर मान- सम्मान मिलेगा, उनकी लोकप्रियता और बढ़ेगी और वो जनता की उम्मीदों में खरे उतरेंगे.

ये भी पढ़ें- भारत-पाक तनाव पर जानिए ज्योतिष क्या कहता है...

भारत

देश का नाम- भारत

तारीख- 15-08-1947

समय-00:00

स्थान- दिल्ली

india650_011017072423.jpg
 पड़ोसी देशों से संबंधों में खटास बढ़ सकती है

भारत को आजाद हुए 70 साल पूरे हो चुके हैं, साल 2017 में विक्रम संवंत् 2074 शुरु हो रहा ह. इस साल राजा मंगल और गुरु मंत्री होंगे, भारत की कुंडली में मंगल 7वें घर और 12वें घर का मालिक है और दूसरे घर में बैठा हुआ है, बृहस्पति 8वें घर और 11वें घर के स्वामी हैं और छठे घर में बैठे हुए हैं. शनिदेव पराक्रम भाव यानि तीसरे घर में विराजमान हैं.

इन सभी ग्रहों की गोचर में स्थिति को ध्यान में रख कर ये कहा जा सकता है साल 2017 में देश के हित में कई नई योजनाएं बनेंगी, जो देश के विकास में मील का पत्थर साबित होंगी. देश की जनता सरकार के फैसलों से संतुष्ट रहेगी और सरकार के कार्यों की सराहना करेगी. स्पेस साइंस के क्षेत्र में साल 2017 में तेजी से प्रगति हो सकती है. भारत समृद्धि की  ओर आगे बढ़ेगा, वृश्चिक राशि में शनि होने से और कर्कराशि में 17 अगस्त 2017 में राहु के आने पर पड़ोसी देशों से संबंधों में खटास बढ़ सकती है.

अगस्त 2017 से अक्टूबर 2017 के बीच प्राकृतिक आपदा के संकेत हैं, भूकंप, तूफान से जनधन की हानि हो सकती है, कुल मिलाकर पूरे साल भर ग्रहों की स्थिति को समग्र रूप से देखा जाए तो साल 2017 में देश का मान-सम्मान दुनिया में और बढ़ेगा, भारत की स्थिति विश्वस्तर पर और मजबूत होगी.

लेखक

प्रवीण मिश्रा प्रवीण मिश्रा @astropraveenmishra

लेखक ज्योतिषी हैं

आपकी राय