ह्यूमर

 |  2-मिनट में पढ़ें  |   31-08-2015

वनमैन आर्मी मतलब अकेले दुश्मन को नेस्तानाबूद करने वाला... बोले तो बजरंगबली. अब आप इस पर तर्क-वर्क मत देने लगें कि ऐसा तो सिर्फ किताबों या दंतकथाओं में होता है... यह आस्था की बात है. आंख मूंद कर विश्वास कीजिए. विश्वास कीजिए कि तब भी एक बजरंगबली थे और आज फिर से एक बजरंगबली पैदा हुए हैं - एकदम सचमुच के वनमैन आर्मी. नाम है - योगी आदित्यनाथ.

करेंगे 'देशद्रोहियों' का नाश
जी हां, योगी आदित्यनाथ के तौर पर बजरंगबली एक बार फिर से भारतभूमि की पावन धरा पर अवतरित हुए हैं. बस एक अंतर है. त्रेता युग में बजरंगबली ने असुरों का नाश किया था. जबकि कलयुग के बजरंगबली उर्फ योगी आदित्यनाथ 'देशद्रोहियों' के खात्मे के लिए अवतरित हुए हैं. और हां, चूंकि जमाना आगे बढ़ गया है तो कलयुगी बजरंगबली थोड़े से ज्यादा 'ताकतवर' भी हो गए हैं.

सिर्फ तीन घंटों में सफाया
फिर लगाने लगे दिमाग??? पहले ही बोले हैं न, तर्क-वर्क नहीं चलेगा. कलयुगी बजरंगबली त्रेतायुगी बजरंगबली से ज्यादा ताकतवर हैं तो हैं - बस. खुद उन्होंने ही यह ऐलान कर कहा है - 'सिर्फ तीन घंटों में ही बिना किसी आर्मी या पुलिस बल के देशद्रोहियों से निपट सकता हूं.' एकदम स्पष्ट तौर पर कह दिया है... आंख मूंद कर विश्वास कीजिए. कहीं ऐसा न हो कि उनके गुस्से की आंच आप तक पहुंच जाए!!!

वनमैन आर्मी का इस्लामी अवतार
चूंकि अपना देश धर्म निरपेक्ष है, इसलिए यहां अन्य धर्मों को भी बराबरी का दर्जा दिया जाता है. याद कीजिए इसी देश में तीन साल पहले इस्लामी वनमैन आर्मी का जन्म हुआ था. वह तो कुछ ज्यादा ही 'बलशाली' था. उसने 15 मिनट, सिर्फ 15 मिनट में पूरे 100 करोड़ हिंदू लोगों के खात्मे का दावा कर डाला था. याद आया उस इस्लामी अवतार का नाम? अकबरुद्दीन ओवैसी और कौन!

आर्मी में नहीं जाते ये वनमैन आर्मी... :(
इन पर दो देशों की नजरें हैं - भारत और पाकिस्तान. भारत सरकार हमेशा प्रार्थना करती रहती है कि ऐसे रणबांकुरे आर्मी ज्वाइन कर लें, देश को 'कैप्टन अमेरिका' मिल जाएगा. उधर पाकिस्तान हर घड़ी दुआ मांगता है कि भारत सरकार की प्रार्थना नहीं सुनी जाए, नहीं तो...

लेखक

चंदन कुमार चंदन कुमार @chandank.journalist

लेखक iChowk.in में पत्रकार हैं.

आपकी राय