charcha me| 

समाज

 |  1-मिनट में पढ़ें  |   17-12-2017
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

निर्भया गैंगरेप और हत्याकांड को हुए अब पूरे 5 साल बीत चुके हैं. पांच साल पहले ऐसी ही एक सर्द रात में देश की राजधानी दिल्ली ने अपनी एक बेटी की अस्मिता लुटते देखी थी. निर्भया के रेप और हत्या के बाद तो राजधानी में जैसे विरोध प्रदर्शन का भूचाल आ गया था. लोग सड़कों पर थे, आनन-फानन में नए कानून बनाए गए थे, लेकिन क्या इससे कुछ हुआ?

दिल्ली यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर सुजाता को जब इसी सवाल ने कचोटा तो वो रात 11 बजे निकल पड़ीं घर के बाहर. ये देखने कि क्या वाकई इन 5 सालों में रेप कैपिटल ऑफ इंडिया में कुछ बदला है.

रात का मंजर एक अकेली चलती हुई लड़की को कैसा अहसास होता है और कैसी निगाहों से लोग उसे देखते हैं ये सोचने वाली बात है. खुद ही देख लीजिए सुजाता जी का ये वीडियो...

इस वीडियो को देखकर बस एक ही बात मन में आती है. वो ये कि वाकई दिल्ली निर्भया के जाने के 5 साल बाद भी वैसी की वैसी ही है. और दिल्ली ही क्यों पूरे देश से आती खबरें ये बता रही हैं कि पूरा देश ही वैसा का वैसा है. जहां देश की बेटियां और मांएं भी सुरक्षित नहीं हैं. तभी तो 1 साल की बच्ची से लेकर 99 साल की महिला तक 2017 में रेप की खबरें आईं.

ये भी पढ़ें-

तो ये होता है BAD TOUCH...

आखिर क्यों हम अपने बच्चों को नहीं बचा पा रहे?

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय