charcha me| 

सियासत

 |  5-मिनट में पढ़ें  |   19-12-2017
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

गुजरात चुनाव में कांग्रेस से तगड़ी टक्कर मिलने के बावजूद मोदी सरकार अपनी सरकार बनाने में सफल हो चुकी है. पीएम मोदी के चेहरे पर लड़े गए इस चुनाव में भाजपा जीत तो गई है, लेकिन अभी तक यह साफ नहीं है कि आखिर गुजरात का मुख्यमंत्री किसे बनाया जाएगा. जिस तरह यूपी चुनाव में भाजपा की जीत के बाद लोगों में मुख्यमंत्री का नाम जानने की उत्सुकता दिखाई दी थी, ठीक वही माहौल अब गुजरात का भी है. गुजरात के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों के कयास लगाए जाने भी शुरू कर दिए गए हैं. आइए आपको बताते हैं गुजरात में किन लोगों पर दांव लगा सकते हैं पीएम मोदी.

1- स्मृति ईरानी

कयास लगाए जा रहे हैं कि गुजरात के मौजूदा मुख्यमंत्री विजय रूपानी की जगह किसी और को नया मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है. इन कयासों में पहला नाम आ रहा है स्मृति ईरानी का. स्मृति ईरानी को मुख्यमंत्री पद का सबसे तगड़ा दावेदार इसलिए भी माना जा रहा है, क्योंकि उनमें अच्छी लीडरशिप क्वालिटी है और वह गुजरातियों से काफी घुली-मिली भी हैं. इतना ही नहीं, पीएम मोदी की खास मंत्रियों में भी स्मृति ईरानी की गिनती होती है. मौजूदा समय में ईरानी टेक्सटाइल और सूचना एवं प्रसारण मंत्री हैं.

गुजरात चुनाव, नरेंद्र मोदी, भाजपा, मुख्यमंत्रीपीएम मोदी की खास मंत्रियों में भी स्मृति ईरानी की गिनती होती है. वह गुजरातियों से काफी घुली-मिली भी हैं.

2- मनसुख एल मांडविया

गुजरात के मुख्यमंत्री पद के दूसरे दावेदार हैं केंद्रीय मंत्री मनसुख एल मांडविया. सौराष्ट्र के पाटीदार मनसुख मांडविया की गिनती उन नेताओं में होती है, जो किसानों के बेहद करीब रहते हैं. आपको बता दें कि गुजरात चुनाव में इस बार भाजपा को ग्रामीण इलाकों से काफी कम वोट मिले हैं. यही कारण है कि इस बार गुजरात में कांग्रेस एक मजबूत विपक्ष बनकर उभरी है. मनसुख मांडविया पर दांव लगाकर मोदी सरकार गांव के लोगों को खुश करने की रणनीति बना सकती है. मौजूदा समय में वह सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और शिपिंग के केंद्रीय राज्य मंत्री हैं.

गुजरात चुनाव, नरेंद्र मोदी, भाजपा, मुख्यमंत्रीमनसुख मांडविया पर दांव लगाकर मोदी सरकार गांव के लोगों को खुश करने की रणनीति बना सकती है.

3- वाजुभाई वाला

मुख्यमंत्री पद के तीसरे दावेदार हैं वाजुभाई वाला. वह पूर्व भाजपा सदस्य हैं और गुजरात विधानसभा के स्पीकर भी रह चुके हैं. उन्होंने फाइनेंस, लेबर और रोजगार के क्षेत्र में काफी काम किया है, जिससे मोदी सरकार को बेरोजगार युवाओं और ग्रामीण इलाकों से जुड़ने में मदद मिल सकती है. मौजूदा समय में वाजुभाई कर्नाटक के गवर्नर हैं, जिन्हें इस पद पर 2014 में नियुक्त किया गया था. वित्त मंत्री के रूप में उन्होंने गुजरात विधानसभा में 18 बार बजट पेश किया है, जो एक रिकॉर्ड है.

गुजरात चुनाव, नरेंद्र मोदी, भाजपा, मुख्यमंत्रीवित्त मंत्री के रूप में वाजुभाई वाला ने गुजरात विधानसभा में 18 बार बजट पेश किया है, जो एक रिकॉर्ड है.

4- नितिन पटेल

गुजरात के मौजूदा उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल भी मुख्यमंत्री विजय रूपानी की जगह ले सकते हैं. उन्होंने मेहसाणा विधानसभा सीट पर जीत दर्ज की है. इस सीट पर नितिन पटेल ने कांग्रेस प्रत्याशी पटेल जिवाभाई अंबालाल को करीब 350 वोटों से हरा दिया है. मेहसाणा में करीब 28 फीसदी पाटीदार हैं और मोदी सरकार को पाटीदार समुदाय से खासा विरोध झेलना पड़ रहा है. ऐसे में पटेल समुदाय को अपनी तरफ करने के लिए भी नितिन पटेल को मुख्यमंत्री पद दिया जा सकता है.

गुजरात चुनाव, नरेंद्र मोदी, भाजपा, मुख्यमंत्रीनितिन पटेल ने मेहसाणा विधानसभा सीट पर जीत दर्ज की है. उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी पटेल जिवाभाई अंबालाल को करीब 350 वोटों से हराया है.

5- विजय रूपानी

मुख्यमंत्री विजय रूपानी के हाथ में अभी गुजरात की सत्ता है और हो सकता है कि सरकार उन्हीं पर भरोसा करते हुए उन्हें ही अगले कार्यकाल के लिए भी मुख्यमंत्री बना दे. विजय रूपानी ने गुजरात विधानसभा चुनाव में राजकोट पश्चिम सीट पर जीत हासिल की है. जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उस दौरान विजय रूपानी मुख्यमंत्री कार्यालय में ही थे. आनंदीबेन के बाद भी नितिन पटेल को मुख्यमंत्री बनाए जाने के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन विजय रूपानी को मुख्यमंत्री बनाकर मोदी सरकार ने सभी को चौंका दिया.

गुजरात चुनाव, नरेंद्र मोदी, भाजपा, मुख्यमंत्रीजब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उस दौरान विजय रूपानी मुख्यमंत्री कार्यालय में ही थे.

यूं तो इन 5 लोगों में से किसी के मुख्यमंत्री बनने के कयास लगाए जा रहे हैं. लेकिन इसमें हैरानी की बात नहीं होगी कि मोदी सरकार कोई छठा नाम ही सामने ले आए. कुछ ऐसा ही हुआ था यूपी चुनाव के बाद भी. कयास लगाए जा रहे थे कि केशव प्रसाद मौर्य मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है और अचानक मोदी सरकार ने योगी आदित्यनाथ के हाथ में यूपी की सत्ता सौंप दी. हो सकता है गुजरात के मुख्यमंत्री पद के लिए भी ऐसा कोई नाम सरकार की तरफ से सामने आ जाए, जिसकी अभी कोई चर्चा नहीं हो रही है.

ये भी पढ़ें-

कह रहे हैं गुजरात के नतीजे, 19 से शुरू कर दो "19" की तैयारी

'नीच' नतीजा: जानिए, मंदिर-मंदिर घूमकर कांग्रेस ने क्‍या पाया और क्‍या खोया

पाटीदार प्रभाव वाली सीटों से बीजेपी के लिए बुरी खबर है !

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय