होम -> सियासत

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 19 नवम्बर, 2019 06:22 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) मंगलवार को लंदन के लिए रवाना हो गए हैं. दरअसल, वह इस दौरान कई रोगों से ग्रस्त हैं और उपचार के लिए लंदन जा रहे हैं. जब इमरान खान (Imran Khan) को पता चला था कि वह लंदन जा रहे हैं तो उन्होंने मांग रखी थी कि जाने से पहले नवाज शरीफ को क्षतिपूर्ति बॉन्ड साइन करना होगा. इमरान खान को डर है कि कहीं ऐसा ना हो कि नवाज शरीफ एक बार देश से बाहर जाएं और फिर कभी वापस ना आएं. मामला कोर्ट तक जा पहुंचा और लाहौर हाईकोर्ट (Lahore High Court) ने नवाज शरीफ को राहत देते हुए लंदन जाने की इजाजत दे दी. आपको बता दें कि उनके साथ उनके छोटा भाई शहबाज शरीफ और निजी डॉक्टर अदनान खान भी गए हैं. अब उनके जाने की खबर के बाद से सोशल मीडिया (Social Media) पर उनके दोस्त, रिश्तेदार, चहेते लोग तो अच्छे स्वास्थ्य की दुआ कर रहे हैं (Twitter Reaction), वो भी उनके स्वस्थ होकर वापस आने की दुआ कर रहे हैं, जो उन्हें पसंद हीं करते.

Nawaz Sharif नवाज शरीफ उपचार के लिए लंदन रवाना हो चुके हैं, लेकिन लोग डरे हुए हैं कि वह वापस आएंगे या नहीं.

आखिर कितने बीमार हैं नवाज शरीफ

नवाज शरीफ की प्रतिरक्षा प्रणाली में दिक्कत के साथ-साथ अन्य कई दिक्कतें हो रही हैं. उनके खून में प्लेटलेट्स की संख्या गिरकर 16000 तक पहुंच गई है, जबकि एक स्वस्थ इंसान में ये संख्या कम से कम 1,50,000 लाख होती है. इसके अलावा वह दिल की बीमारी के लिए दवा ले रहे हैं. साथ ही उन्हें डायबिटीज भी है. उनकी किडनी में भी दिक्कत है. पाकिस्तान के पास पर्याप्त सुविधाएं ना होने की वजह से ये सलाह दी गई है कि उनका इलाज विदेश में कराया जाए.

नवाज शरीफ का पाकिस्तान से बाहर जाने का मतलब है कि उन पर पाकिस्तानी सरकार का शिकंजा नहीं रहेगा. वैसे तो नवाज शरीफ ने जाने से पहले एक अंडरटेकिंग तक लिखी है कि वह 4 सप्ताह में या फिर जितनी जल्दी ठीक हो जाते हैं वापस जाएंगे. अब लोग उनके सही होने की दुआ कर रहे हैं, जिसके दो अलग-अलग पहलू हैं. एक तो वो, जो नवाज शरीफ के चाहने वाले हैं. वह चाहते हैं कि नवाज शरीफ जल्दी से ठीक हो जाएं. दूसरे वो, जो नवाज शरीफ के खिलाफ हैं या उनके आलोचक हैं. उन्हें डर है कि नवाज शरीफ कहीं भाग ना जाएं. ऐसे में वह भी नवाज शरीफ के सही होकर घर वापस आने की दुआ को कर रहे हैं, लेकिन इस दुआ में तंज है. आइए देखते हैं ट्विटर रिएक्शन.

पत्रकार हामिद मीर लिखते हैं- 'पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ लाहौर हाईकोर्ट की इजाजत से उपचार के लिए विदेश रवाना हो चुके हैं. मैं दुआ करता हूं कि वह जल्दी से सही हो जाएं और उम्मीद करता हूं कि वह जल्द ही पाकिस्तान वापस लौटेंगे.' हामिद मीर ने अपने ट्वीट में तंज करते हुए इशारा साफ किया है कि शरीफ भाग सकते हैं.

Nawaz Sharif हामिद मीर का ट्वीट सेहत के बारे में कम, नवाज शरीफ केे भागने से अधिक जुड़ा है.

एक ट्विटर यूजर ने लिखा है- हम दुआ करेंगे कि नवाज शरीफ जल्द से जल्द स्वस्थ हों और देश वापस आएं और केस का सामना करें, क्योंकि जनता को न्याय चाहिए. ये यूजर भी दरअसल, नवाज शरीफ को स्वस्थ होता नहीं देखना चाहता है, बल्कि उन्हें जेल में देखना चाहता है.

Nawaz Sharif इस यूजर ने तो साफ कर दिया कि वह स्वस्थ नवाज शरीफ को जेल में देखना चाहता है.

वहीं दूसरी ओर, उनकी ही पार्टी के ख्वाजा एम आसिफ ने ट्वीट किया है- 'अल्लाह आपको रहमत बख्शे और ठीक करे और आप जल्द ही घर वापस आएं. आमीन.' ख्वाजा एम आसिफ के ट्वीट में भी नवाज शरीफ के ठीक होने की दुआ की जा रही है, लेकिन वह वाकई चाहते हैं कि नवाज शरीफ ठीक हों. उनमें डर इस बात का नहीं है कि नवाज शरीफ कहीं भाग ना जाएं.

Nawaz Sharif उनकी ही पार्टी के ख्वाजा एम आसिफ ने भी उनके सही होने की दुआ मांगी है.

एक यूजर जीशान मलिक ने ट्वीट किया है- 'मियां नवाज शरीफ जेल में थे, तो वह जेल में ही आएंगे. मियां साहब इलाज के लिए जा रहे हैं. मियां नवाज शरीफ भागने वाले नहीं हैं.'

Nawaz Sharif लोगों के कंफ्यूजन को दूर करने की कोशिश की है जीशान मलिक ने.

यानी चाहते तो सभी यही हैं कि नवाज शरीफ जल्द से जल्द ठीक हो कर घर वापस आ जाएं, लेकिन बस सबके मतलब अलग-अलग हैं. कोई उनकी सलामती की दुआ कर रहा है, तो कोई बस ये चाहता है कि वह देश वापस जरूर आ जाएं, भाग ना जाएं. आपको बता दें कि मौजूदा समय में नवाज शरीफ जेल की सजा भुगत रहे हैं. उन पर सऊदी अरब में उनके परिवार के नाम पर स्टील मिल्स होने के आरोप हैं, जो भ्रष्टाचार को दिखाते हैं. लेकिन सवाल यही उठता है कि क्या वह वापस पाकिस्तान लौटेंगे? कागजी अंडरटेकिंग के हिसाब से तो वह 4 हफ्तों या जब डॉक्टर आने की इजाजत दे दें तो वह वापस आ जाएंगे, लेकिन वह आते हैं या नहीं, ये देखना दिलचस्प होगा.

ये भी पढ़ें-

भाजपा ने शिवसेना से 'हिंदुत्व' छीना ही, बाल ठाकरे को भी नहीं छोड़ा!

कालापानी का टकराव: चीन के इशारे पर भारत के खिलाफ नेपाल!

झारखण्ड चुनाव में टिकट बंटवारे के साथ भ्रष्टाचार और अपराध-मुक्ति अभियान को BJP की तिलांजलि

Nawaz Sharif, Pakistan, Imran Khan

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय