होम -> सियासत

बड़ा आर्टिकल  |  
Updated: 21 मई, 2019 02:22 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

Lok sabha election 2019 exit poll : लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल को कुल 95 संसदीय सीटों पर वोटिंग हुई थी. दूसरे चरण के मतदान में कर्नाटक में देवगौड़ा परिवार से तीन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना था. कर्नाटक से ही चर्चित बीजेपी उम्मीदवार तेजस्वी सूर्या का भी इम्तिहान उसी दिन हुआ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अक्सर हमलावर रहे दक्षिण भारतीय फिल्मों के स्टार प्रकाश राज के राजनीतिक भविष्य पर भी जनता की अदालत में फैसला हुआ.

2014 में कैसा रहा था चुनावी गणित?

18 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में कुल 96 सीटों पर मतदान हुआ था. इन सीटों में से 2014 में कुल 36 सीटें एआईएडीएमके ने जीती थीं और भाजपा को 27 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि कांग्रेस महज 12 सीटें ही जीत सकी थी. इनके अलावा बीजेडी ने 4, एसएचएस ने 4, सीपीएम ने 2, जेडीएस ने 2 आरजेडी ने 2 और अन्य ने 7 सीटों पर कब्जा किया था. इस बार नतीजे क्या रहेंगे ये तो 23 मई को साफ हो ही जाएगा, लेकिन एग्जिट पोल के नतीजे भी अनुमान लगाने में काफी मददगार साबित हो सकते हैं.

दूसरे चरण के चुनाव में खास क्या?

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में कुल 427 करोड़पति उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे. इस चरण में चुनाव के दौरान हेमा मालिनी सबसे अधिक चर्चा में रहीं, जो एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार जीत भी रही हैं. इसी चरण के दौरान पश्चिम बंगाल में हिंसा हुई. भीड़ ने एक बूथ पर तैनात पुलिसवालों पर पत्थर फेंके. भीड़ से निपटने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज तक करनी पड़ी. आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े. 

एग्जिट पोल, लोकसभा चुनाव 2019, भाजपा, कांग्रेसदूसरे चरण में चुनाव के दौरान हेमा मालिनी सबसे अधिक चर्चा में रहीं. इसी चरण के दौरान पश्चिम बंगाल में हिंसा हुई.

12 सीटें जिनके exit poll result का सबसे ज्‍यादा इंतजार था-

1. मथुरा (Mathura Exit Poll Results) : एग्जिट पोल्स की मानें तो इस बार भी ये सीट भाजपा के पाले में जाती दिख रही है. मथुरा (Uttar Pradesh Exit Poll Results 2019) से हेमा मालिनी बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ीं, जिन्हें एग्जिट पोल्स ने विजयी घोषित कर दिया है. मथुरा की लड़ाई जाट बनाम जाट होने के चलते हेमा मालिनी के पति और गुजरे जमाने के स्टार धर्मेंद्र भी मोर्च पर डटे रहे. दरअसल, सपा-बसपा गठबंधन की ओर से आरएलडी उम्मीदवार नरेंद्र सिंह अजीत सिंह के नाम पर जाट वोटों की फिराक में थे.

2. फतेहपुर सिकरी (Fatehpur sikri Exit Poll Results) : यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर ने अपनी पसंदीदा सीट फतेहपुर सिकरी से चुनाव दूसरे चरण में ही लड़ा, लेकिन उत्तर प्रदेश की फतेहपुर सीकरी सीट एग्जिट पोल्स के मुताबिक भाजपा के खाते में जाती दिख रही है. पहले कांग्रेस ने उन्हें मुरादाबाद से उम्मीदवार घोषित किया था, लेकिन राज बब्बर ने इनकार कर दिया. बाद में मुरादाबाद से कांग्रेस ने शायर इमरान प्रतापगढ़ी को चुनाव मैदान में उतारा गया. बीजेपी ने इस सीट पर मौजूदा सांसद चौधरी बाबूलाल का टिकट काट कर राजकुमार चाहर को मैदान में उतारा है.

3. अमरोहा (Amroha Exit Poll Results) : यूपी की अमरोहा सीट पर भाजपा और बसपा के बीच तगड़ी टक्कर है, जिसमें बसपा अधिक मजबूत लग रही है. हो सकता है कि इस सीट पर बसपा का उम्मीदवार बाजी मार ले. अमरोहा से कांग्रेस की ओर से सीनियर नेता राशिद अल्वी को चुनाव लड़ना था, लेकिन उन्होंने स्वास्थ्य कारणों से कदम पीछे खींच लिये. फिर कांग्रेस ने सचिन चौधरी को उम्मीदवार बनाया. बीजेपी की ओर से यहां कुंवर सिंह तंवर चुनावी मैदान में हैं जिनका मुकाबला बीएसपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे दानिश अली खान से है. दानिश अली कर्नाटक में सत्ताधारी जेडीएस के नेता हैं लेकिन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की सहमति से बीएसपी में शामिल हुए हैं और चुनाव लड़ रहे हैं.

4. अलीगढ़ (Aligarh Exit Poll Results) : यूपी के अलीगढ़ से भाजपा ने मौजूदा सांसद सतीश गौतम को टिकट दिया है. अगर एग्जिट पोल्स की मानें तो एक बार फिर से उनती जीत पक्की है. एग्जिट पोल्स ने यही इशारा किया है, यहां से भाजपा ही जीतेगी. सतीश गौतम अलीगढ़ यूनिवर्सिटी में जिन्ना के फोटो को लेकर खासे विवादों में रहे. कांग्रेस ने यहां 2004 में सांसद रहे बिजेंद्र सिंह को टिकट दिया, जबकि गठबंधन की ओर से बीएसपी ने अजीत बालियान को उतारा गया. मैदान में कोई भी मुस्लिम उम्मीदवार न होने के कारण मुकाबला त्रिकोणीय हो गया.

5. कटिहार (Katihar Exit Poll Results) : अगर बात की जाए बिहार के कटिहार की तो एग्जिट पोल्स के अनुसार यहां पर भी भाजपा का ही परचम लहराएगा. कटिहार (Katihar Exit Poll Results 2019) से मौजूदा सांसद तारिक अनवर ही फिर से मैदान में हैं लेकिन इस बार उनकी पार्टी बदल चुकी है. 2014 में तारिक अनवर एनसीपी के टिकट पर चुनाव जीते थे, लेकिन इस बार वो कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. घर वापसी के बाद तारिक अनवर बिहार कांग्रेस को मजबूत करने और पार्टी छोड़ कर जा चुके पुराने नेताओं की वापसी के लिए जोरदार कोशिश कर रहे थे.

6. बेंगलुरु साउथ (Bengaluru South Exit Poll Results) : पेशे से वकील युवा नेता तेजस्वी सूर्या को बीजेपी का टिकट मिलना सुर्खियों में काफी दिन तक बना रहा. बीजेपी नेता अनंत कुमार की बेंगलुरु साउथ (Karnataka Exit Poll Results 2019) सीट से उनकी पत्नी टिकट की दावेदार थीं, लेकिन बीजेपी ने तेजस्वी सूर्या को उतार कर सबको चौंका दिया. अब एग्जिट पोल के नतीजे दिखा रहा हैं कि भाजपा ने बिल्कुल सही फैसला किया. एग्जिट पोल्स की मानें तो यहां से भाजपा ही जीतेगी. आपको बता दें तेजस्वी सूर्या ने कोर्ट में अर्जी देकर 49 मीडिया समूहों के खिलाफ केस दाखिल किया था. तेजस्वी सूर्या का कहना था कि ये उनके खिलाफ अपमानजनक खबरें देतें हैं जिस पर कोर्ट ने अस्थायी रोक लगा दी थी.

7. बेंगलुरू सेंट्रल (Bengaluru Central Exit Poll Results) : दक्षिण भारतीय फिल्मों के जाने पहचाने चेहरे प्रकाश राज ने भी आम चुनाव में किस्मत आजमाई. चुनाव को धंधा बताकर विवादों में रहे प्रकाश राज निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतरे. भाजपा की ओर से यहां से दो बार सांसद रहे पीसी मोहन को ही टिकट मिला. अब एग्जिट पोल के नतीजे दिखा रहे हैं कि इस बार भी पीसी मोहन ही सांसद बनेंगे, जबकि प्रकाश राज को लोगों ने सिरे से नकार दिया है. कांग्रेस ने युवा नेता रिजवान अरशद को टिकट दिया. प्रकाश राज को वोटकटवा के तौर पर ही देखा जा रहा था, जिनकी बदौलत बीजेपी के पीसी मोहन को हैट्रिक का मौका मिलने की उम्मीद जताई जा रही थी.

8. हासन (Hassan Exit Poll Results), तुमकुर (Tumkur Exit Poll Results) और मंड्या (Mandya Exit Poll Results) : कर्नाटक के देवगौड़ा परिवार के लिए चुनाव का दूसरा चरण बेहद अहम था. इसमें देवगौड़ा परिवार के तीन सदस्यों की किस्मत का फैसला होने वाला था और सभी का मुकाबला बीजेपी उम्मीदवारों से था. पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने तुमकुर सीट से चुनाव लड़ा और हासन की अपनी विरासत अपने पोते प्रज्ज्वल रेवन्ना को सौंप दी. एग्जिट पोल्स के अनुसार हासन से तो कांग्रेस के साथ गठबंधन वाली जेडीएस जीत रही है, लेकिन तुमकुर सीट पर देवगौड़ा हारते हुए दिख रहे हैं और यहां भाजपा जीत रही है. मंड्या से देवगौड़ा के दूसरे पोते और मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल कुमारस्वामी चुनाव मैदान में उतरे हैं. निखिल कुमारस्वामी के खिलाफ कांग्रेस के दिवंगत नेता एमएच अम्बरीश की पत्नी और अभिनेत्री सुमनलता निर्दलीय चुनाव लड़ीं, जिन्हें बीजेपी का भी समर्थन मिला. एग्जिट पोल्स के अनुसार सुमनलता जीतती हुई दिख रही हैं.

9. अकोला (Akola Exit Poll Results) : अकोला (Maharashtra Exit Poll Results 2019) सीट पर भी मुकाबला दिलचस्प है. यहां बाबा साहेब अंबेडकर के पौत्र प्रकाश अंबेडकर और कांग्रेस के सीनियर नेता सुशील कुमार शिंदे के बीच मुकाबला है. शिंदे राजनीति से संन्यास लेना चाहते थे, लेकिन कांग्रेस नेतृत्व के कहने पर चुनाव मैदान में डटे हुए हैं. कांग्रेस का उन्हें जबरन चुनाव लड़वाना बेकार ही साबित होता दिख रहा है. एग्जिट पोल के नतीजे दिखा रहे हैं कि ये सीट भाजपा के खाते में जाएगी.

10. श्रीनगर (Srinagar Exit Poll Results) : जम्मू कश्मीर (Jammu & Kashmir Exit Poll Results 2019) के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला 2017 में हुए उपचुनाव जीते थे. दिलचस्प बात ये रही कि तब केवल 7.12 फीसदी ही वोटिंग हुई थी. 2014 श्रीनगर से पीडीपी के तारिक हमीद कर्रा जीते थे लेकिन उनके इस्तीफे के बाद ये सीट खाली हो गयी थी. एक बार फिर फारूक अब्दुला नेशनल कांफ्रेंस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. अब एग्जिट पोल के नतीजे दिखा रहे हैं कि यहां से जम्मू-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस ही जीतेगी. यानी एक बार फिर फारूक अब्दुला के हाथ जीत लगेगी.

ये भी पढ़ें-

राहुल गांधी के PM बनने पर कांग्रेस ने फैसला दुरूस्त तो लिया है - मगर देर से!

दमदम से दिल्‍ली पहुंचे बंगाल के विवादित IPS अफसर राजीव कुमार 'दलदल' की ओर!

पीएम पद की रेस दौड़ रहे मोदी-विरोधियों का शक्ति प्रदर्शन

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय