होम -> ह्यूमर

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 14 मई, 2021 04:18 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

समाज जिस तनाव में है, यहां जो हो जाए वो कम है. मतलब होने का तो ऐसा है कि कहीं बीवी या बहू सिर्फ इसलिए मार दी जाती है क्यों कि दाल में नमक या तो निर्धारित मात्रा से कहीं अधिक होता है या होता ही नहीं है. कहीं पुरुष सुबह के नाश्ते में परोसा गया पराठा फेंक के सिर्फ इसलिए पत्नी के साथ फिजिकल हो जाता है कि उसे लगता है घी भरे पराठे में मक्खन चपोड़ के पत्नी उसे हाई बीपी, कोलेस्ट्रॉल देने की प्लानिंग कर रही है. ज़िन्दगी क्राइम पेट्रोल नहीं है मेरे भाई. न ही हर वक़्त सावधान और सुरक्षित ही हुआ जा सकता है इसलिए एक ऐसे समय मे जब मरने की तमाम वजहें विद्दमान हों. मौत के एक से एक तरीके अलग अलग चैलेंजेस के नाम पर ट्रेंडिंग हों किसी की मौत दही भल्ले से हो जाए तो हैरत कैसी? जब इंसान नमक, हल्दी, दूध, पनीर, अचार, सलाद के चलते दुनिया छोड़ देता है तो कहीं अगर 'दही भल्ले' किसी घर में मातम बरपा कर दें तो बात तो होगी साथ ही सवाल भी उठेंगे. मामला राजस्थान के जयपुर का है. जयपुर में एक ही घर की दो औरतों के बीच 'दही भल्ले' की कटोरी को लेकर विवाद कुछ इस हद तक बढ़ा की नौबत मोहसिन नाम के शख्स की हत्या तक की आ गई. ईद से चंद घंटों पहले हुई इस वारदात को देखकर जयपुर पुलिस भी सकते में आ गई जिसने फारिया नाम की महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

Dahi Bhalle, Jaipur, Murder, Wife, Husband, Police, Stress, Eid, Festivalईद से चंद घंटे पहले दही भल्ले की कटोरी के चलते जो जयपुर में हुआ वो तमाम सवाल खड़े करता है

क्या था मामला

आगे कुछ बात करने से पहले एक नजर मामले पर डाल ली जाए. परिवार के अनुसार, फारिया नाम की महिला अपने पति और उसके तीन भाइयों के परिवार के साथ जयपुर की पंडा मंडी इलाके में एक बिल्डिंग में रहती थी. फारिया के संबंध अपने सबसे बड़े देवर मोहसिन और उसकी पत्नी के साथ अच्छे नहीं थे. बिल्डिंग से आने वाले किराए के बंटवारे को लेकर फारिया का अक्सर अपने देवरों विशेषकर मोहसिन से झगड़ा होता रहता था.

बात बीते दिनों की है फारिया अपने पतो शाहरुख के कहने पर देवर मोहसिन के घर 'दही भल्ले' की कटोरी लेकर गयी जिसे लेने से मोहसिन ने मना कर दिया. फारिया दही भल्ले की भरी कटोरी लेकर वापस अपने कमरे में आ गयी. मोहसिन के इस व्यवहार से फारिया पहले ही बहुत खिन्न थी लेकिन चूंकि कटोरी मोहसिन की ही थी तो फारिया के पति शाहरुख ने कहा कि वो जाए और बर्तन मोहसिन को वापस कर दे. फारिया ने दही भल्ले को वापस रखा और खाली बर्तन ले जाकर मोहसिन के कमरे में पटक दिए.

फारिया की ये हरकत मोहसिन की पत्नी को नागवार गुजरी और देवरानी जेठानी में झगड़ा शुरू हो गया और एक क्षण ऐसा आया जब नौबत देवरानी जेठानी के बीच मारपीट की आ गयी. दोनों को जानवरों की तरह लड़ता देख मोहसिन बीच बचाव के लिए सामने आया लेकिन तभी फारिया ने सामने पड़े चाकू से मोहसिन के पेट में एक के बाद एक कई वार कर दिए. मोहसिन की स्थिति गंभीर थी और चूंकि खून बहुत निकल चुका था इसलिए उसे एक प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे एस एमएस हॉस्पिटल रिफर किया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी.

मामले में जो बात सबसे ज्यादा हैरत में डालती है वो ये कि जिस वक्त मोहसिन को अस्पताल में भर्ती किया गया परिजनों द्वारा झूठ का सहारा लिया गया और ये कहा गया कि मोहसिन छत से फिसल गया था और उसके पेट में सरिया घुस गई. मोहसिन की मौत के बाद घटना से पर्दा तब हटा जब इसकी सूचना पुलिस को दी गई. पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की और सच बेनकाब हो गया.

हमारे आपके लिए हो सकता है ये एक बेहद मामूली सी घटना हो लेकिन सोचिये ज़रा ये सब एक परिवार में उस वक़्त हुआ जब शायद घर में ईद की तैयारियां जोरों पर रही होंगी. शायद परिजन इस बात पर भी विचार कर ही रहे हों कि ऐसा क्या किया जाए कि इस बार की ईद खास हो.

हो सकता है आप कहें कि परिवार की ईद 'एक कटोरी दही भल्ले' के कारण खास हो गई लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है. मामले में फारिया को जो तनाव था वो बिल्डिंग के किराए को लेकर था. मोहसिन के भाई ने तो बड़े प्यार से दही भल्ले से भरी कटोरी उसतक भिजवाई थी लेकिन शायद नियति को कुछ और ही मंजूर था और नौबत एक व्यक्ति की हत्या तक आ गई.

बाकी इस मामले को देखकर इतना तो समझ आ गया कि व्यक्ति को जाना किसी और कारण से होता है और वो किसी और कारण से दुनिया और अपनों को सदा के लिए अलविदा कह देता है. न मोहसिन की नियति एक कटोरी दही भल्ले के लिए घरेलू कलह में शहीद होना नहीं थी. बिल्कुल नहीं थी. कत्तई नहीं थी.

ये भी पढ़ें -

Rakhi Sawant के पास Covid को मात देने के लिए 2 अनमोल रत्न हैं, बस देश उनका साथ दे दे!

यूपी पंचायत चुनाव: जलेबी, समोसा और रसगुल्ला जब्त करना एक गहरी साजिश है

कोरोना की पसंदीदा जगह भारत क्यों है, ज्ञानी बाबाओं की जुबानी सुनिए…

#जयपुर, #हत्या, #पत्नी, Dahi Bhalle, Jaipur, Murder

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय