New

होम -> सिनेमा

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 14 मार्च, 2022 09:21 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

फिल्म और टीवी ऑडियंस रिव्यू के लिए मशहूर वेबसाइट होस्टिंग IMDb ने तीन दिन पहले रिलीज हुई हुई हिंदी फिल्म द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) के लिए रेटिंग कैलकुलेशन का तरीका बदल दिया है. बदलाव की वजह से द कश्मीर फाइल्स को IMDb पर 10 में से 10 रेटिंग की जगह अब 10 में 8.3 रेटिंग मिलती दिख रही है. बदलाव को लेकर IMDb ने कहा कि उन्हें फिल्म के लिए 'अनयूजुअल वोटिंग एक्टिविटी' दिखी. हालांकि बदलाव को लेकर ट्विटर पर कई यूजर्स ने नाराजगी जताई है. यहां तक कि द कश्मीर फाइल्स के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए इसे 'अनैतिक' करार दिया है.

खबर लिखे जाने तक IMDb पर द कश्मीर फाइल्स को 10 में से 8.3 रेटिंग दिख रही है. करीब 2 लाख 32 हजार से ज्यादा यूजर्स ने रेट किया है. हाल के कुछ सालों में सिनेमाघरों में रिलीज किसी फिल्म के लिए इतनी जबरदस्त रेटिंग देखने को नहीं मिली थी. किसी भारतीय फिल्म के लिए तो बिल्कुल भी नहीं. पिछले साल अमेजन प्राइम वीडियो पर प्रीमियर हुई जय भीम ने जरूर यहां रिलीज के बाद जोरदार रेटिंग हासिल की थी. जय भीम ने तो रेटिंग के मामले में हॉलीवुड की द शौशैंक रिडेम्प्शन को पछाड़कर सबसे बड़ी फिल्म बन गई थी. जय भीम से पहले शेरशाह, मिमी और सरदार उधम को भी बेहतरीन रेटिंग दिखी थी.

वैसे IMDb का जिस तरह ट्रेंड दिखा है उसमें किसी फिल्म का 10 में से 10 रेटिंग पाना अपने आप में ही हैरान करने वाली बात मानी जा सकती है. वह भी एक ऐसी फिल्म के लिए जिस पर प्रोपगेंडा और धार्मिक बंटवारे का आरोप लग रहा है. लेकिन जहां तक IMDb पर इंगेजिंग की बात है चाहे जो वजह हो, विवेक अग्निहोत्री की फिल्म यूजर्स को इंगेज कर रही है. यहां 2 लाख 32 हजार से ज्यादा लोगों की प्रतिक्रिया में उसका असर दिख सकता है. वैसे फिल्म के लिए मेथड चेंज करने के बाद भी 94 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने फिल्म को 10 में से 10 पॉइंट पर रेट किया है. मात्र 4 प्रतिशत लोगों ने फिल्म की रेटिंग एक पॉइंट में की है.

जय भीम अब आगे निकली, पर सबसे ज्यादा लोग द कश्मीर फाइल्स पर आए

रेटिंग बदलाव की वजह से अब जय भीम आगे दिख रही है. सुरिया की फिल्म को 10 में से 9.4 रेट पॉइंट मिला है और करीब एक लाख 80 हजार लोगों ने रेट किया है. दिलचस्प है कि द कश्मीर फाइल्स पर 2 लाख 32 हजार से ज्यादा लोग इंगेज हुए बावजूद फिल्म पीछे है.

द कश्मीर फाइल्स को चर्चाओं का फायदा मिल रहा है. कपिल शर्मा विवाद, अदालत में कुछ याचिकाओं और दर्शकों की प्रतिक्रियाओं ने फिल्म को जबरदस्त फायदा दिया है. अब तक कई राजनीतिक हस्तियों ने भी फिल्म के सपोर्ट में माहौल बनाया है. यह फिल्म भाजपा शासित कई राज्यों में टैक्स फ्री कर दी गई है. फिल्म का बॉक्स ऑफिस भी जबरदस्त नजर आ रहा है. कम स्क्रीन पर रिलीज होने के बावजूद घरेलू मार्केट में पहले तीन दिन में फिल्म ने 27 करोड़ से ज्यादा की कमाई कर ली है. आगे भी फिल्म के और कमाई जबरदस्त कमाई करने के अनुमाना लगाए जा रहे हैं.

the-kashmir-files-65_031422085944.jpgद कश्मीर फाइल्स

क्या है द कश्मीर फाइल्स की कहानी?

फिल्म की कहानी घाटी में पनपे आतंकवाद और उसके असर की है. दिल्ली में विस्थापित एक बुजुर्ग कश्मीरी पंडित, उसके चार दोस्तों और उसके पोते के जरिए घाटी में आतंकवाद से लेकर नरसंहार, घटिया राजनीति, को दिखाया गया है. यह दिखाया गया है कि कैसे 90 के दशक में कश्मीर से गैर मुस्लिमों को भागना पड़ा. ना तो उन्हें बचाने कश्मीर की सरकार आई और ना ही दिल्ली की सरकार. मीडिया खामोश रहा और बौद्धिक जमात सालों-साल कश्मीर के सवाल पर खामोश रहें. घाटी के तमाम लोगों को कश्मीर छोड़ने के बाद अपने ही देश में शरणार्थी बनकर रहना पड़ा.

एक्टर्स की तारीफ़, विवेक को सराहना

द कश्मीर फाइल्स बनाने के लिए विवेक अग्निहोत्री को तारीफ़ मिल रही है. लोगों का कहना है कि विवेक ने पहली बार दुनिया के सामने कश्मीर की कहानी के उस हिस्से को सामने लाने की हिम्मत दिखाई जिसपर हर कोई पर्दा डालने की कोशिश करता है.  दूसरी तरह फिल्म में काम करने वाले कलाकारों के हिस्से भी खूब तारीफ़ देखने को मिल रही है. खासकर अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती, दर्शन कुमार और पल्लवी जोशी. अनुपम खेर ने बुजुर्ग कश्मीरी पंडित का किरदार निभाया है. मिथुन चक्रवर्ती उनके IAS दोस्त की भूमिका में हैं. जबकि दर्शन कुमार ने अनुपम के पोते का किरदार निभाया है.

पल्लवी जोशी भी तारीफ़ बटोर रही हैं. उनका किरदार वाममार्गी प्रोफ़ेसर का है जो संभवत: जेएनयू के किसी वास्तविक व्यक्तित्व से प्रेरित बताया जा रहा है. सोशल मीडिया पर तो कुछ लोग तो एक प्रोफ़ेसर का वीडियो साझा कर यह भी बता रहे कि आखिर वो किससे प्रेरित है.

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय