New

होम -> सिनेमा

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 30 जनवरी, 2022 06:29 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी आलिया भट्ट स्टारर 'गंगूबाई काठियावाड़ी' की रिलीज डेट एक बार फिर बदल गई है. यह फिल्म अगले महीने 18 फरवरी को रिलीज होने वाली थी. मगर मेकर्स ने इसे 18 फरवरी की बजाय 25 फरवरी को रीशेड्यूल किया है. यह फिल्म सिनेमाघरों में आने वाली है. इससे पहले गंगूबाई काठियावाड़ी को इसी साल 7 जनवरी को रिलीज किया जाना था. हालांकि भंसाली की रिलीज डेट पर ही एसएस राजमौली ने आरआरआर को भी अनाउंस कर दिया और गंगूबाई काठियावाड़ी को पीछे हटना पड़ा. यह दूसरी बात है कि जनवरी में सिनेमाघरों में रिलीज के लिए शेड्यूल कोई भी फिल्म नहीं आई. मेकर्स ने कोरोना महामारी की आशंका में खुद ही अपनी फिल्मों को पोस्टफोन कर दिया था. दिलचस्प है कि आरआरआर में भी आलिया भट्ट अहम किरदार निभा रही हैं.

वैसे फिल्म की रिलीज को एक हफ्ते और आगे ले जाने के पीछे कहीं ना कहीं कोरोना महामारी ही एक बड़ी वजह है. हालांकि सिनेमाघर अभी बंद नहीं हैं लेकिन कोई निर्माता फिल्म रिलीज के लिए आगे आता नहीं दिख रहा है. अब जबकि महामारी का स्तर दूसरी लहर की तरह भयावह नहीं दिखा है और हालात भी अब सुधरते नजर आ रहे हैं- तो फरवरी-मार्च में शेड्यूल फिल्मों की रिलीज के किए मेकर्स आगे आ रहे हैं. संभवत: गंगूबाई काठियावाड़ी की रिलीज डेट को आगे बढ़ाए जाने की एक वजह यह भी हो सकती है कि महामारी के बीच फरवरी के अंत तक सिनेमाघरों को लेकर निर्माताओं को और बेहतर माहौल की उम्मीद है.

alia_650_012922090136.jpgआलिया भट्ट गंगूबाई का किरदार निभा रही हैं.

भंसाली के जन्मदिन के एक दिन बाद आएगी फिल्म

24 फरवरी को संजय लीला भंसाली का 59वां जन्मदिन भी है. फिल्म इसके ठीक एक दिन बाद रिलीज हो रही है. भंसाली ने बतौर निर्देशक अब तक 10 फ़िल्में बनाई हैं. साल 2005 में अमिताभ बच्चन और रानी मुखर्जी स्टारर 'ब्लैक' के बाद उनके करियर में यह दूसरी फिल्म है जो निर्देशक के बर्थडे पर रिलीज हो रही है. यह इत्तेफाकन है या मेकर्स की कोई रणनीति- इस बारे में कुछ पुख्ता तो नहीं कहा जा सकता, लेकिन इस बात की गुंजाइश है कि बदले माहौल में जन्मदिन के बहाने मेकर्स ने प्रमोशनल बूस्ट की उम्मीद पाली हो. वैसे इस बात में कोई शक नहीं कि जन्मदिन के दौरान भंसाली चर्चा में रहेंगे और इस बहाने उनकी फिल्म के बारे में भी चर्चा होगी. गंगूबाई काठियावाड़ी एक पीरियड ड्रामा है. फिल्म का विषय मुंबई के रेड लाइट में काम करने वाली एक सेक्स वर्कर की सच्ची कहानी है जिनका एक वक्त में काफी दबदबा था. अपने विषय की वजह से भी फिल्म को लेकर लोगों की दिलचस्पी नजर आती है.

पीरियड ड्रामा से रंग जमाते रहे हैं भंसाली

बतौर निर्देशक भंसाली की आख़िरी फिल्म साल 2018 में आई पद्मावत थी. यह भी एक हिस्टोरिकल पीरियड ड्रामा थी जिसमें दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह नजर आए थे. फिल्म के कंटेंट को लेकर खूब विवाद हुआ था. इससे पहले साल 2015 में भी एक और हिस्टोरिकल ड्रामा बाजीराव मस्तानी ऐया थी. इस फिल्म में भी दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और प्रियंका चोपड़ा ने अहम भूमिकाएं निभिया थी. भंसाली को बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन निर्देशकों में शुमार किया जाता है. उन्होंने अब तक कई ब्लॉकबस्टर फ़िल्में दी हैं. शाहरुख खान, ऐश्वर्या राय और माधुरी दीक्षित की देवदास को भी इसमें शुमार कर लिया जाए तो भंसाली की फिल्मोग्राफी में अब तक तीन पीरियड ड्रामा ब्लॉकबस्टर साबित हो चुकी हैं.

स्वाभाविक है कि पीरियड ड्रामा को लेकर भंसाली के बॉक्स ऑफिस रिकॉर्ड को देखकर फिल्म ट्रेड सर्किल में गंगूबाई काठियावाड़ी को लेकर भी उत्साह नजर आ रहा है. जहां तक बात फिल्म की है यह एस हुसैन जैदी की किताब 'माफिया क्वींस ऑफ़ मुंबई' के एक अध्याय पर आधारित है. यह उस महिला की कहानी है जो मुंबई के अंडरवर्ल्ड में एक ताकतवर महिला बनकर उभरी थी. फिल्म में मुंबई के डॉन करीम लाला का भी अहम किरदार है. यह किरदार अजय देवगन निभा रहे हैं. चर्चों की मानें तो करीम लाला, गंगूबाई को अपनी बहन मानता था. फिल्म में विजय राज, इंदिरा तिवारी, सीमा पाहवा, वरुण कपूर और जिम सरभ महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं.

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय