charcha me| 

स्पोर्ट्स

 |  3-मिनट में पढ़ें  |   17-02-2017
धर्मेन्द्र कुमार
धर्मेन्द्र कुमार
  @dharmendra.k.singh.167
  • Total Shares

23 फरवरी से पुणे में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज का आगाज हो रहा है. टीम इंडिया दुनिया की नंबर 1 टेस्ट टीम ही नहीं है बल्कि 2016 से अब तक अपनी धरती पर कोई टेस्ट नहीं हारी है. इतना ही नहीं विराट की टीम अपनी सरजमीन पर पिछले 13 में से 11 टेस्ट जीत चुकी है.

सीजन की आखिरी सीरीज़ क्यों हारेगा भारत?

टीम इंडिया का हालिया प्रदर्शन बहुत दमदार रहा है. अपनी धरती पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी शानदार रिकॉर्ड रहा है. पिछली घरेलू सीरीज यानी 2013 में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 4 में से 4 टेस्ट में हार का स्वाद चखाया था.

team-india650_021717023820.jpg

तो अब ऐसा क्या हो गया जिससे टीम इंडिया की हार की सूरत बन रही है?

टीम इंडिया को होम एडवांडेज नहीं

इस सीरीज में 4 में से 3 टेस्ट नए वेन्यू पर हो रहे हैं. पुणे, रांची, धर्मशाला में पहली बार टेस्ट खेला जाएगा. ऐसे में विकेट का मिजाज क्या होगा किसी को भी नहीं पता. कंगारू भी इस बात को अच्छी तरह समझ रहे हैं और वो इसका फायदा उठाने के लिए कमर भी कस चुके हैं. ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने तो खुलकर ये बात कह दी है कि भारत के पास इस बार होम एडवांडेज नहीं है.

धर्मशाला की कंडिशन्स मेहमान को रास आएगी

धर्मशाला का तापमान मार्च के महीने में भी ठंडा रहता है. इसका फायदा ऑस्ट्रेलियाई के पेसर्स उठा सकते हैं. मौजूदा वक्त मिचेल स्टार्क, जोश हेजलवुड का नाम दुनिया के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में शुमार है. मिचेल मार्श भी भारतीय बल्लेबाजों का टेस्ट कर सकते हैं.

ऑस्ट्रेलिया को हारने का डर नहीं

एशिया में लगातार 9 टेस्ट हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने कमर कस ली है. कप्तान स्टीव स्मिथ का कहना है हर हार से उनकी टीम ने सबक लिया है और इस बार वो भारत में हैरान करने वाली जीत का इरादा लेकर आए हैं.

steve-smith650_021717023913.jpgऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ

टीम इंडिया का सबसे बड़ा टेस्ट

इसमें कोई शक नहीं कि टीम इंडिया हाल के दिनों में द. अफ्रीका, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड सरीखे टीमों को अपनी धरती पर धूल चटा चुकी है. मगर सही मायने में भारत की टक्कर ऐसी टीम मे नहीं हुई है जो भारतीय कंडिशन्स में मानसिक तौर पर बहुत मजबूत रही हो. ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हवा का रुख बदलने में माहिर जाते हैं. इस बार वो भारतीय फिरकी गेंदबाजों ने निपटने के लिए पूरी तैयारी करके आए हैं. भारत आने से पहले दुबई में अभ्यास और फिर मुंबई में भी उनका पूरा ध्यान फिरकी गेंदबाजों के खिलाफ तैयारी में लगा है.

हालात तो टीम इंडिया के मुफीद हैं मगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ये सीरीज विराट कोहली के लिए इस सीजन की सबसे मुश्किल सीरीज साबित हो सकती है.

ये भी पढ़ें-

भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज और बद्जुबानी की जंग

रन मशीन ही नहीं रिकॉर्ड मशीन भी हैं विराट

लेखक

धर्मेन्द्र कुमार धर्मेन्द्र कुमार @dharmendra.k.singh.167

लेखक आजतक स्पोर्ट्स डेस्क में सीनियर प्रोड्यूसर हैं.

आपकी राय