charcha me| 

सोशल मीडिया

 |  3-मिनट में पढ़ें  |   10-10-2017
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

सोशल मीडिया अब एक ऐसा साधन बन चुका है जिसके फायदे और नुकसान दोनों ही किसी भी इंसान को प्रभावित कर सकते हैं. अगर सोशल मीडिया का अच्छे से इस्तेमाल किया या बेहतर लोग मिले तो रंक से राजा बन सकते हैं. इसका उदाहरण सोशल मीडिया स्टार्स हैं. अगर यहीं सोशल मीडिया पर पाला किसी ऐसे इंसान से पड़ गया जो निगेटिव हो तो वो आसानी से किसी को भी डिप्रेशन दे सकता है.

डिप्रेशन छोड़िए जनाब सोशल मीडिया का इतना गहरा असर पड़ता है कि वो इंसान को तोड़ भी सकता है. ऐसा ही एक किस्सा सामने आया है. सोशल मीडिया पर कलकत्ता के एक लड़के ने कुछ ऐसा किया कि किसी का भी दिल दहल जाए.

सोशल मीडिया स्टॉकिंग और हैरेसमेंट सिर्फ बड़े-बड़े शब्द ही नहीं बल्कि असलियत भी हैं. कलकत्ता के एक लड़के अग्नीश्वर चक्रबर्ती ने फेसबुक पर एक लड़की को स्टॉक किया. उसके बाद उसे एक कमेंट और फोटो भेजी. बस उसके बाद क्या था उसे रेप की धमकी दी. धमकी भी ऐसी कि बस किसी को भी देखकर गुस्सा आ जाए.

नोट: इस पोस्ट में अभद्र भाषा का इस्तेमाल हुआ है. यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है, लेकिन सोशल मीडिया के इस घिनौने चेहरे को देख लेना भी जरूरी है.

social Media, kolkataये आज की भयावह तस्वीर

जिस भाई के बारे में यहां बात हो रही है वो सिर्फ 14 साल का है और लड़की भी 20 साल की है. ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई कर रही है और काम कर रही है. एक नाबालिग के लिए इस तरह का बयान देना और किसी लड़की के साथ इस तरह की बात करना क्या किसी को भी सही लग सकता है?

इस लड़के के बारे में जब पता लगाया गया तो मालुम हुआ कि ये वाकई ऐसा है और इसी तरह की बातें करता है. ऐसे कई लोग होते हैं और कई लोगों के साथ ऐसा होता है.

दिनभर ऑनलाइन रहने वालों को सबसे ज्यादा खतरा ऑनलाइन हैरेसमेंट का भी होता है. मैं इसलिए ये दावे से कह सकती हूं क्योंकि मेरे साथ भी कुछ-कुछ ऐसा ही हुआ है. कई बार हुआ है. गालियां देना, अश्लील मैसेज या फोटो भेजना ये तो आम बात है. फेसबुक के अदर्स मैसेज बॉक्स में जितने मैसेज रहते हैं उतने में से लगभग 60% ऐसे लोग होते हैं जो किसी न किसी तरह से हैरेस करने की कोशिश करते हैं.

सिर्फ रोड पर चलते हुए या घर से बाहर निकलते हुए ही आजकल लड़कियां परेशान नहीं. घर के अंदर, फोन, लैपटॉप आदि से भी उतनी ही परेशानी होती है. खुद ही देखिए.... फेसबुक मैसेज पर ही लड़की का रेप मन ही मन हो गया. अब शायद कई लोग ऐसे भी होंगे जो उस लड़की को ये हिदायत देंगे कि तुम्हें फेसबुक पर फोटोज डालने की क्या जरूरत थी? क्या जरूरत थी सज धज कर फोटो खिंचवाने की. क्या जरूरत थी अपने भाई के साथ फोटो डालने की.

ये तो बड़ा ही आसान है न कि लड़की को दोष दे दो... आखिर वो लड़के के लिए आसानी से उपलब्ध जो थी. खैर, जिन लोगों को इस किस्से की अहमियत नहीं समझ आ रही है उनके लिए मैं सिर्फ इतना कहना चाहूंगी कि अपनी सोच को थोड़ा बढ़ाएं. जिन लोगों को इस किस्से की अहमियत समझ आ रही है उनके लिए बस इतना ही कहना चाहूंगी कि इस तरह का कोई भी केस अगर आपके आस-पास होता है तो थोड़ा सचेत रहें. आखिर, ऑनलाइन हर कोई असुरक्षित है.

ये भी पढ़ें-

वायरल होती ये तस्वीर, कहीं भुक्तभोगियों के गम की आग में घी न डाल दे

आंखों पर टैटू बनवाने वाले इस भारतीय को जानते हैं आप?

65,000 रुपए की चारपाई हुई वाइरल! बड़े बड़ों के निकाल रही है पसीने

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय