charcha me| 

सोशल मीडिया

 |  4-मिनट में पढ़ें  |   11-08-2017
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

आपको यदि हिन्दी फिल्मों का शौक है तो अवश्य ही आप पहलाज निहलानी के नाम से वाकिफ होंगे. हां वही पहलाज निहलानी जिन्हें आज बन रही फिल्मों को देखकर लाज आ जाती थी और फिल्मों का इलाज करते हुए वो अपनी कैंची से अच्छी भली फिल्मों की सर्जरी कर उनको बीमार बहुत बीमार कर देते थे.

आज जो खबर आ रही है वो उन सिने प्रेमियों के लिए एक बड़ी राहत है जिन्हें सिनेमा के सीनों पर चली कैंची की धार बर्दाश्त नहीं थी. ऐसे लोग मानते थे कि जिस तरह आज फिल्मों पर सेंसर बोर्ड का रुख है वो न सिर्फ फिल्मों के लिए घातक है बल्कि इससे हम भारतीय सम्पूर्ण विश्व के सामने 'छोटी और सीमित सोच वाले व्यक्ति' के तौर पर देखे जा रहे हैं.

पहलाज निहलानी, सेंसर बोर्ड, सिनेमा  सेंसर बोर्ड से पहलाज के हटने की खबर से सभी खुश हैं

खबर है कि सेंसर बोर्ड के चेयरमैन रहे पहलाज निहलानी अपने पद से हटाए जा चुके हैं. उनकी जगह मशहूर गीतकार और ऐड गुरु प्रसून जोशी को सेंसर बोर्ड का नया चेयरमैन बनने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गयी है.गौरतलब है कि सम्पूर्ण फिल्म जगत में अपनी 'कट्टर संस्कारी छवि' की बदौलत काफी लम्बे समय से पहलाज न सिर्फ निर्माता निर्देशकों की बल्कि आम लोगों की भी आलोचना झेल रहे थे. पहलाज के तुगलकी रवैये को देखकर एक साधारण सिने प्रेमी ये मान चुका था कि शायद अब उसे उन अजीब ओ गरीब फैसलों को स्वीकार कर लेना चाहिए जिसे पहलाज द्वारा उन पर थोपा जा रहा था.

बहरहाल ये खबर न सिर्फ सक्रिय मीडिया में टॉप पर है बल्कि पहलाज निहलानी ट्विटर और फेसबुक पर भी टॉप ट्रेंड में हैं. सेंसर बोर्ड से पहलाज के हटाए जाने के बाद सम्पूर्ण सोशल मीडिया जगत में आम सिने प्रेमियों के बीच खुशी की लहर है और वो अपने अलग अंदाज में इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. तो अब देर किस बात की आइये रुख करें फेसबुक का और देखें कि आम लोगों की इस मुद्दे पर क्या राय है. पहलाज निहलानी, सेंसर बोर्ड, सिनेमा  लोगों ने इस मुद्दे पर पीएम मोदी तक को धन्यवाद कह दिया फेसबुक यूजर अभिनव पंचोली इस फैसले को भारत की असल स्वतंत्रता मानते हैं और इसके लिए इन्होंने अपने खास अंदाज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह का धन्यवाद दिया है.

पहलाज निहलानी, सेंसर बोर्ड, सिनेमा  लोगों का मत है कि अब सरकार गजेन्द्र चौहान को हटाए इस मुद्दे पर फेसबुक यूजर शिरीष यात्री का मत है कि अब वो बिना किसी कट और बिना किसी रोक टोक के कैसी भी फिल्म देख सकते हैं. अपने पोस्ट में आगे लिखते हुए शिरीष कहते हैं कि पहलाज के बाद अगला नंबर एफटीआई निदेशक गजेन्द्र चौहान का है.

पहलाज निहलानी, सेंसर बोर्ड, सिनेमा  अब लोग खुल के देख सकेंगे अपनी पसंद का सिनेमा पहलाज को सेंसर बोर्ड से हटाए जाने पर हेमंत बहुत खुश हैं. उनका मानना है कि कुल मिलाकर ये फैसला भारतीय सिनेमा के हित में है और अब आने वाले समय में हम सिनेमा के मुद्दे पर तो कम से कम बेतुके बयान न सुनेंगे.

पूरे सोशल मीडिया पर जिस तरह पहलाज को लेकर लोगों के रिएक्शन आ रहे हैं उससे एक बात तो साफ है कि लोगों को ये बिल्कुल भी पसंद नहीं था कि पहलाज इस तरह उन पर अपने 'संस्कार' जबरन लादें और उन्हें वो दिखाएं जो उनकी नजर में संस्कारी हो.

ये भी पढ़ें -

ये 'एडल्ट मूवी' पहलाज निहलानी के लिए करारा जवाब है

शारीरिक संबंधों' की बात से ज्‍यादा आपत्तिजनक है सेंसर बोर्ड का नजरिया

कबतक शुतुरमुर्ग बनेंगे निहलानी साहब, सच को सामने आने से रोक नहीं सकेंगे आप

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय